दुबई में यूएन फ़ोरम - महिला उद्यमियों, नवाचार और सर्वजन के लिये टिकाऊ विकास की पुकार के साथ सम्पन्न

‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (World Entrepreneurs Investment Forum/WEIF) 30 मार्च 2022 को सम्पन्न हो गया.
ITPO-UNIDO
‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (World Entrepreneurs Investment Forum/WEIF) 30 मार्च 2022 को सम्पन्न हो गया.

दुबई में यूएन फ़ोरम - महिला उद्यमियों, नवाचार और सर्वजन के लिये टिकाऊ विकास की पुकार के साथ सम्पन्न

आर्थिक विकास

‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (World Entrepreneurs Investment Forum/WEIF) बुधवार को दुबई में सम्पन्न हो गया है जिसमें प्रतिभागियों ने यूएई घोषणा पत्र अपनाया. इस घोषणा पत्र में 2030 तक टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति में मदद के लिये, पूरी अरब दुनिया में ज़्यादा सहयोग, एकीकरण व कनेक्टिविटी और महिला उद्यमियों पर ज़्यादा ध्यान केन्द्रित करने का आहवान किया गया.

फ़ोरम के समापन समारोह में ज़्यादा ध्यान युवाओं और नवाचार पर रहा, साथ ही उद्यमशीलता और “नवाचार के लिये अरब रैली” प्रतियोगिता के तीन विजेताओं की भी घोषणा की गई.

Tweet URL

उद्यमशीलता के ज़रिये टिकाऊ विकास

बुधवार, 30 मार्च को इस फ़ोरम के समापन दिवस के दौरान, प्रतिभागियों, साझीदारों और सह प्रायोजकों ने 2030 के टिकाऊ विकास एजेण्डा में वर्णित 17 टिकाऊ विकास लक्ष्यों (SDGs) की प्राप्ति के लिये दृढ़ प्रतिबद्धता व्यक्त की. 

प्रतिभागियों में संयुक्त राष्ट्र औद्योगिक विकास संगठन (UNIDO) – ITPO, अरब लीग, अरब चेम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स, बहरीन चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स एण्ड इण्डस्ट्री, संयुक्त अरब अमीरात (UAE) सरकार प्रमुख थे. 

यूएई घोषणा पत्र में आगे कहा गया: “हम समझते हैं कि उद्यमशीलता और नवाचार, रोज़गार सृजन, आर्थिक प्रगति में जान फूँकने और सामाजिक लाभ सम्भव बनाने में, एक शक्ति की तरह काम करते हैं;"

"हमारी ये सिफ़ारिश है कि टिकाऊ विकास प्राप्ति की दिशा में तमाम प्रयास ऐसी उद्यमशीलता और नवाचार के माध्यम से केन्द्रित किये जाएँ जिनसे एक मज़बूत, समावेशी, टिकाऊ और सहनसक्षम आर्थिक प्रगति हासिल की जा सके.”

फ़ोरम के कार्यकारी निदेशक डॉक्टर हाशिम हुसैन ने तीन दिन तक चले इस कार्यक्रम का समापन करते हुए कहा, “वैसे तो ये समापन सत्र है. मगर ‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (WEIF) कभी बन्द नहीं होता है.”

“हम अरब लीग की छतरी के नीचे, बुद्धि व मस्तिष्कों को आपस में जोड़ रहे हैं.”

उद्यमशीलता के लिये लैंगिक समानता ज़रूरी

इस फ़ोरम में प्रतिभागियों ने, नवाचार और उद्यमशीलता के माध्यम से टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में, तमाम आर्थिक स्तरों पर महिलाओं के सशक्तिकरण पर ध्यान केन्द्रित करने वाला एक विशेष सत्र भी आयोजित किया.

घोषणा पत्र में कहा गया है, “हम तमाम क्षेत्रों में, उद्यमशीलता और नवाचार के ज़रिये, महिलाओं की सक्रिय भागीदारी को प्रोत्साहित करते हैं.”

दुबई में सम्पन्न हुए ‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (World Entrepreneurs Investment Forum/WEIF) में प्रतिभागियों की सामूहिक तस्वीर (30 मार्च 2022)
ITPO-UNIDO
दुबई में सम्पन्न हुए ‘विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम’ (World Entrepreneurs Investment Forum/WEIF) में प्रतिभागियों की सामूहिक तस्वीर (30 मार्च 2022)

अरब लीग के महासचिव अहमद अबुल ग़ेयित ने समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि अरब देशों के युवा पुरुष और महिलाएँ, अरब क्षेत्र की रीढ़ हैं जिनकी संख्या 10 करोड़ से भी ज़्यादा है.

उन्होंने अरब युवाओं को कामयाब होने के लिये मददगार वातावरण मुहैया कराने की अहमियत पर भी ज़ोर दिया क्योंकि, “उनकी सफलता का मतलब है, देश और अरब समाज की कामयाबी.”

UNIDO की भूमिका

यूएई घोषणा पत्र में नए निवेश क्षेत्रों की पहचान और उनकी विस्तार करने का भी आहवान किया गया जिनमें – हरित और अक्षय ऊर्जा, नील अर्थव्यवस्था, नारंगी (रचनात्मक) अर्थव्यवस्था जिनमें ऐसे व्यापार और विरासत, विशेष कार्यक्रमों और पहलों पर ध्यान केन्द्रित हो, जो विकलांगता वाले लोगों का भी सशक्तिकरण करें.

टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के लिये, सहनशील उद्यमियों और नवाचारी उद्यमों के प्रोत्साहन में सहयोग बढ़ाने की ख़ातिर सरकारों, निजी क्षेत्र, समाज सेवियों, सिविल सोसायटी, वित्तीय संस्थानों, विचार मन्थन संस्थाओं, विश्व विद्यालयों, स्कूलों, चैम्बरों, ग़ैर-सरकारी संगठनों, मीडिया, और अन्तरराष्ट्रीय संगठनों के बीच तालमेल बढ़ाने का आहवान किया गया है.

समावेशी और टिकाऊ औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने में यूनीडो (UNIDO) की भूमिका और इस फ़ोरम के पूर्व संस्करणों की उपलब्धियों को भी सराहा गया.

युवा उद्यमियों और नवाचार को समर्थन

नवाचार के लिए अरब रैली प्रतियोगिता के तीन विजेता. बाएँ से दाएँ - यारा हैदर (लेबनान), हसन अलहराकी (सीरिया) अब्दुल फ़तह शेहादाह (फ़लस्तीन).
UN News/Abdelmonem Makki
नवाचार के लिए अरब रैली प्रतियोगिता के तीन विजेता. बाएँ से दाएँ - यारा हैदर (लेबनान), हसन अलहराकी (सीरिया) अब्दुल फ़तह शेहादाह (फ़लस्तीन).

फ़ोरम का समापन “नवाचार के लिये दूसरी अरब रैली” के तीन विजेताओं के नामों की घोषणा से भरे उत्साहजनक माहौल में हुआ. 

इस प्रतियोगिता में अरब क्षेत्र के विश्व विद्यालयों के छात्रों ने शिरकत की और पूरे अरब क्षेत्र की 20 टीमों ने इसमें हिस्सा लिया.

विश्व विद्यालयों के छात्रों और प्राध्यापकों ने अरब क्षेत्र के सामने दरपेश चुनौतियों के नवाचारी समाधान तलाश करने के लिये कड़ी मेहनत की जिनमें जल, कृषि, अक्षय ऊर्जा, पर्यावरण प्रदूषण और पर्यावरणीय अवशेष की रीसायकलिंग जैसे मुद्दे शामिल थे.

प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार एक सीरियाई कम्पनी BEVOL को मिला जिसने, स्वेच्छा से कार्य करने की संस्कृति को बढ़ावा देने वाला एक असाधारण और इण्टरैक्टिव सोशल मीडिया मंच बनाया. इसमें प्रेरणात्मक साधनों के प्रयोग से, सामाजिक ज़िम्मेदारी में इज़ाफ़ा करना भी शामिल है.

दूसरा पुरस्कार फ़लस्तीन की एक कम्पनी WALTER को मिला जो सार्वजनिक और निजी सुविधाओं में पानी की खपत को कम करने के लिये समाधान टैक्नॉलॉजी मुहैया कराती है.

तीसरा पुरस्कार CLOUD नामक एक लेबनानी कम्पनी को मिला जो महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान काम आने वाले स्वच्छता पैड बनाती है. ये पैड शरीर अनुकूल, मस्तिष्क अनुकूल, प्रकृति अनुकूल और 100 प्रतिशत स्वस्थ व आसानी से नष्ट हो जाने वाले होते हैं.

WEIF के बारे में 

2019 के नवाचार अरब रैली विजेता वादाह मालाएब (लेबनान).
UN News/Anshu Sharma
2019 के नवाचार अरब रैली विजेता वादाह मालाएब (लेबनान).

विश्व उद्यमी निवेश फ़ोरम (WEIF) का सचिवालय बहरीन में है और अनेक साझीदारों के साथ मिलकर काम करने वाले इस संगठन ख़ुद को, उद्यमशीलता, नवाचार और प्रभावशाली निवेशों पर ज्ञान व जानकारी के एक पविलियन के रूप में स्थापित किया है.

इस फ़ोरम के पूर्ववर्ती संस्करण 2015, 2017 और 2019 में हो चुके हैं जो यूएन व्यवस्था में, मुख्य समर्पित उद्यम निवेश फ़ोरम के रूप में पहचान पा चुके हैं.

इस फ़ोरम की मुख्य थीम – उद्यमशीलता, नवाचार और निवेश के ज़रिये टिकाऊ विकास लक्ष्यों (SDGs) की प्राप्ति है जोकि इसकी सफलता में एक अहम कारक रहा है.

वर्ष 2022 का फ़ोरम सोमवार 28 मार्च को शुरू होकर, बुधवार 30 मार्च तक चला जिसमें विशेष रूप में कोविड-19 के बाद की दुनिया में अरब क्षेत्र, अफ़्रीका और पूरी दुनिया में, उद्यमशीलता व आर्थिक सहनक्षमता प्राप्ति में सरकारों, बहुराष्ट्रीय संगठनों और निजी क्षेत्र के स्तर पर आवश्यकताओं पर ध्यान केन्द्रित किया गया.