भारत: यूएन शान्तिरक्षकों के लिये कोरोनावायरस वैक्सीन का उपहार

27 मार्च 2021

भारत ने, संयुक्त राष्ट्र मिशनों में सेवारत शान्तिरक्षकों के लिये, कोरोनावायरस वैक्सीन की दो लाख ख़ुराकें उपहार स्वरूप भेंट की हैं. मुम्बई से ऑक्सफ़र्ड - ऐस्ट्राज़ेनेका टीकों की ये ख़ुराक़ें, शनिवार को, क़तर एयरवेज़ के विमान के ज़रिये, डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन भेजी गई हैं, जहाँ इनका सुरक्षित भण्डारण किया जाएगा और वहाँ से, विभिन्न शान्ति मिशनों में सेवाएँ प्रदान कर रहे शान्तिरक्षकों को भेजी जाएँगा.   

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने इस अवसर पर आभार प्रकट करते हुए कहा, “आज, भारत ने संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षकों के लिये कोविड-19 वैक्सीन की दो लाख ख़ुराकें प्रदान की है."

"संयुक्त राष्ट्र, एकजुटता और समर्थन के इस उदार भाव के लिये, भारत का हार्दिक धन्यवाद करता है. यह क़दम, विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र के लिये, वैश्विक शान्ति के लिये और बहुपक्षवाद के लिये भारत की मज़बूत प्रतिबद्धता को दर्शाता है.”

भारत के विदेश मन्त्री एस शिवशंकर ने, इससे पहले फ़रवरी में, संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षकों के लिये, वैक्सीन की दो लाख ख़ुराक़ें, उपहार स्वरूप भेजने की घोषणा की थी.

संयुक्त राष्ट्र में शान्ति अभियानों के अवर महासचिव, ज्याँ-पियेर लैक्रोआ ने कहा, “सभी शान्तिरक्षकों को प्रभावी तरीक़े से कोविड-19 वैक्सीन मुहैया करवाना, संयुक्त राष्ट्र के लिये एक महत्वपूर्ण प्राथमिकता है, ताकि हमारे सुरक्षाकर्मी महत्वपूर्ण कार्य जारी रख सकें और उन्हें कमज़ोर समुदायों की रक्षा करने और अपना शासनादेश पूरा करने में मदद मिल सके."

"भारत, शान्ति व्यवस्था का बहुत समय से स्थाई समर्थक रहा है, और मैं, भारत सरकार और लोगों को धन्यवाद देना चाहता हूँ, जिन्होंने हमारे शान्तिरक्षकों को लाभ पहुँचाने और सुरक्षित तरीक़े से अपने जीवन-रक्षक कार्य को जारी रखने के लिये, कोविड-19 टीकों का उदारतापूर्वक दान किया है.”

टीकों का वितरण  

कोविड टीकों की ये खेप, दोहा होते हुए कोपेनहेगन पहुँचेगी, जहाँ संयुक्त राष्ट्र के वैक्सीन कार्यक्रम के तहत इन्हें एक सुरक्षित सुविधा केन्द्र में रखा जाएगा.

फिर इन्हें, दोबारा पैकेज करके, अलग-अलग स्थानों में तैनात शान्तिरक्षकों के टीकाकरण के लिये भेजा जाएगा. 

संयुक्त राष्ट्र में संचालन सहायता विभाग के अवर महासचिव, अतुल खरे ने कहा, “हम भारत को संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षा के लिये दो लाख टीके दान करने के लिये धन्यवाद देते हैं जो इस सप्ताह हमें पहुँचाए जा रहे हैं."

शान्तिरक्षकों के लिये, भारत से कोविड टीकों की दो लाख ख़ुराकें डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन भेजी जा रही हैं.
Serum Institute of India
शान्तिरक्षकों के लिये, भारत से कोविड टीकों की दो लाख ख़ुराकें डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन भेजी जा रही हैं.

उन्होंंने कहा कि इससे हमें यह सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी कि संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षक स्वस्थ रहें और पहले से ही दबाव में काम कर रहीं, राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रणालियों पर निर्भर ना रहकर, दुनिया के सबसे कठिन हालात में अपना काम कर सकें.

"हम यह भी सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं कि शान्तिरक्षकों को तैनाती से पहले, उनकी राष्ट्रीय प्रणालियों के माध्यम से टीका लगाया जाए. इसी के साथ, हमारा विभाग, संयुक्त राष्ट्र के अन्य कर्मचारियों और उनके परिजनों के टीकाकरण में, राष्ट्रीय प्रयासों का समर्थन करने के लिये, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली की व्यापक व्यवस्था का नेतृत्व कर रहा है.”

वर्तमान में,  दुनिया भर में संयुक्त राष्ट्र के शान्तिरक्षक विभाग के नेतृत्व में, 12 शान्तिरक्षक अभियानों में 95 हज़ार से ज़्यादा शान्तिरक्षक तैनात हैं, जिनमें योगदान करने वाले देशों में भारत की एक अहम भूमिका रही है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड