ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, नई यूएन शरणार्थी सदभावना दूत

ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, यूएन शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) की नई सदभावना दूत बनाई गई हैं. उन्होंने 2019 में यूगाण्डा का दौरा किया था.
© UNHCR/Caroline Irby
ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, यूएन शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) की नई सदभावना दूत बनाई गई हैं. उन्होंने 2019 में यूगाण्डा का दौरा किया था.

ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, नई यूएन शरणार्थी सदभावना दूत

प्रवासी और शरणार्थी

ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ को यूएन शरणार्थी एजेंसी – UNHCR की सदभावना दूत नियुक्त किया गया है. गूगू म्बाथा-रॉ ने कोविड-19 महामारी के दौरान शरणार्थियों को समर्थन की ज़रूरत रेखांकित की है.

उन्होंने कहा, “मैं, शरणार्थियों के समर्थन में काम करने और उनकी आवाज़ बुलन्द करने में मदद करने के अवसर के लिये बहुत शुक्रगुज़ार हूँ. उनके सामने तमाम तरह की मुश्किलों और कठिनाइयों के बीच, उनका साहस और मज़बूती देखकर, मैं चकित हूँ."

Tweet URL

"उनकी आपबीती ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुँचाने में, कुछ भूमिका निभाने का मौक़ा पाना, मेरे लिये बहुत सम्मान की बात है.”

गूगू म्बाथा-रॉ ने कहा, “कोविड-19 संकट ने, हमारी ज़िन्दगियों की भंगुरता के बारे में अवगत करा दिया है, साथ ही ये भी उजागर कर दिया है कि जिन लोगों को अपने घर छोड़ने पड़ते हैं, हम उनकी मदद करने के लिये भरसक प्रयत्न करें.”

“इस संकट ने हमें ये भी सिखाया है कि आपस में जुड़ी हुई इस दुनिया में, हम उतने ही ताक़तवर हैं जितने कि समाज में, सबसे कमज़ोर लोग. शरणार्थियों का समाजों में समावेशन, तमाम समुदायों की बेहतरी के लिये बहुत अहम है.”

शरणार्थियों के लिये पैरोकारी

गूगू म्बाथा-रॉ का नाम यूएन शरणार्थी एजेंसी के लिये कोई अजनबी नहीं है क्योंकि वो, वर्ष 2018 से ही, इस एजेंसी के समर्थन में काम करती रही हैं.

उन्होंने शरणार्थियों की मौजूदगी वाले स्थानों की यात्राएँ की हैं जिनमें रवाण्डा और यूगाण्डा में बुरूण्डी और काँगोलियन शरणार्थियों से मुलाक़ातें करना शामिल था.

उन्होंने इन यात्राओं में, उन महिलाओं से भी मुलाक़ात की जो संघर्ष सम्बन्धित यौन हिंसा की भुक्तभोगी रही हैं.

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी की नई सदभावना दूत ने, EveryOneCounts अभियान में भी शिरकत की है जिसमें किसी भी आधार पर किये जाने वाले भेदभाव को चुनौती दी गई.

साथ ही वैश्विक विस्थापन का समाधान तलाश करने के लिये, ज़्यादा मज़बूत साझेदारियाँ गठित किये जाने की हिमायत भी की गई.

संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी उच्चायुक्त फ़िलिपो ग्रैण्डी ने कहा है, “हम शरणार्थियों के लिये, गूगू म्बाता-रॉ के समर्थन और पैरोकारी की सराहना करते हैं और यूएन एजेंसी परिवार में उनका स्वागत करते हैं. हम शरणार्थियों के सामने दरपेश मुद्दों और उनकी ज़रूरतों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिये साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे.”

ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, वर्ष 2019 में यूगाण्डा की यात्रा के दौरान, एक शरणार्थी बस्ती में, एक महिला केन्द्र का दौरा करते हुए.
© UNHCR/Caroline Irby
ब्रिटिश अभिनेत्री गूगू म्बाथा-रॉ, वर्ष 2019 में यूगाण्डा की यात्रा के दौरान, एक शरणार्थी बस्ती में, एक महिला केन्द्र का दौरा करते हुए.

“मौजूदा दौर में, कोविड-19 महामारी के असाधारण प्रभावों के मद्देनज़र, शरणार्थियों की आवाज़ें सुना जाना और उन्हें बुलन्द करना ज़रूरी है. ध्यान रहे कि इन शरणार्थियों में, बहुत से तो ऐसे लोग भी हैं जो इस पृथ्वी पर सबसे कमज़ोर, वंचित और भुला दिये गए इनसान हैं.”

गूगू म्बाथा-रॉ को वर्ष 2013 कि मशहूर फ़िल्म Belle के लिये, विशेष रूप में जाना जाता है. इसके अलावा, वो अनेक अन्य परियोजनाओं में भी अभिनय कर चुकी हैं जिनमें The Morning Show भी शामिल हैं.

फ़िल्म और दास व्यापार

वर्ष 2014 में, गूगू म्बाथा-रॉ ने, इस फ़िल्म के बारे में चर्चा करने के लिये, न्यूयॉर्क स्थिति यूएन मुख्यालय का दौरा किया.

उस वर्ष, संगठन ने व्यापक अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर दास व्यापार के मुद्दे पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किये थे. 

कुछ और जानकारी के लिये नीचे प्रस्तुत वीडियो देखें...