दारफ़ूर में शान्तिरक्षा मिशन बन्द होने की पुष्टि

30 दिसम्बर 2020

सूडान के दारफ़ूर क्षेत्र में, संयुक्त राष्ट्र और अफ्रीकी संघ का संयुक्त मिशन (UNAMID) गुरूवार, 31 दिसम्बर को आधिकारिक रूप से पूरा हो रहा है, जब सूडान की सरकार, इस इलाक़े में आम आबादी की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी संभालेगी.

संयुक्त मिशन ने बुधवार को जारी एक वक्तव्य में, गुरूवार को इस मिशन के समाप्त हो जाने की पुष्टि की है.

इससे पहले, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 22 दिसम्बर को, इस आशय का सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित किया था.

इन हालात में, सूडान की अन्तरिम सरकार ने दारफ़ूर में संघर्ष की स्थिति का हल निकालने की दिशा में हासिल की गई प्रगति को भी ध्यान में रखा गया है.

ध्यान रहे कि ये लगभग दो वर्ष पहले, सूडान में क्रान्ति हुई थी जिसके बाद, बहुत लम्बे समय से सत्तासीन तत्कालीन राष्ट्रपति उमर अल बशीर को, अप्रैल 2019 में सत्ता से हटा दिया गया था.

उस क्रान्ति के लगभग दो वर्ष बाद, अक्टूबर 2020 में, सूडान सरकार और दारफ़ूर इलाक़े में सक्रिय दो सशस्त्र समूहों के बीच महत्वपूर्ण शान्ति समझौता हुआ था. 

परिवर्तनकारी काल

दारफ़ूर मिशन की अन्तिम गश्त और अन्य आवश्यक कार्य, गुरूवार, 31 दिसम्बर को सम्पन्न हो जाएँगे, और 1 जनवरी 2021 से, इस मिशन के शान्तिरक्षक व पुलिस कर्मचारी, इस परिवर्तन चरण के दौरान, अपनी सुरक्षा सेवाएँ मुहैया कराने पर ध्यान देंगे, और ये समय सीमा छह महीने रखी गई है.

इस प्रक्रिया में, शान्तिरक्षकों, उनका वाहनों और अन्य उपकरणों को उनके मूल देशों को वापिस भेजना; अन्तरराष्ट्रीय व राष्ट्रीय कर्मचारियों को पृथक करना; और यूएन व अफ्रीकी संयुक्त मिशन की टीमों के स्थलों व कार्यालयों को बन्द करना शामिल होगा.

इस प्रक्रिया की समाप्ति पर, मिशन के वर्दीधारी और नागरिक कर्मचारियों की सूडान से पूर्ण वापसी, 30 जून 2021 तक हो जानी चाहिये.

केवल एक ऐसी टीम वहाँ मौजूद रहेगी जो मिशन के बन्द रहने की प्रशासनिक प्रक्रिया और अन्य मुद्दों को अन्तिम रूप देने के लिये वहाँ बनी रहेगी.

सूडान सरकार की भूमिका

सूडान सरकार, दारफ़ूर क्षेत्र में, नागरिक आबादी की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी शुरू करने के साथ-साथ, शान्ति प्रक्रिया को समर्थन देने व उसे कामयाब बनाने की प्राथमिक भूमिका भी संभालेगी.

इसमें, मानवीय सहायता सामग्री का वितरण व उपलब्धता सुनिश्चित करना, और समुदायों के बीच होने वाले संघर्षों में बीच-बचाव करने में मदद करना भी शामिल होगा.

अलबत्ता, संयुक्त राष्ट्र सूडान में अपनी देशज टीम और सूडान में एकीकृत परिवर्तन सहायता मिशन (UNITAMS) के ज़रिये अपना समर्थन व मार्ग दर्शन जारी रखेगा.

इन प्रयासों के ज़रिये, सैन्य व नागरिक सम्प्रभु परिषद की मदद की जाएगी, जो देश में, अगले चुनाव होने तक, सत्ता संभाल रही है. साथ ही, देश में प्रशासनिक सुधारों के साथ-साथ गहरे आर्थिक संकट को सुलझाने में भी मदद की जाएगी.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड