वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

सीरिया: युद्ध का एक और साल, अब भी लाखों लोग विस्थापित, निर्धनता में डरे-सहमे

यूनीसेफ़, सीरिया में, अस्थाई शिविरों तक ट्रकों के ज़रिये पानी पहुँचाने में मदद करता रहा है. ऐसे ही एक ट्रक से पानी लाते हुए एक महिला.
© UNICEF/Delil Souleiman
यूनीसेफ़, सीरिया में, अस्थाई शिविरों तक ट्रकों के ज़रिये पानी पहुँचाने में मदद करता रहा है. ऐसे ही एक ट्रक से पानी लाते हुए एक महिला.

सीरिया: युद्ध का एक और साल, अब भी लाखों लोग विस्थापित, निर्धनता में डरे-सहमे

मानवीय सहायता

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के संयोजक मार्क लोकॉक ने बुधवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में, युद्ध का एक और साल ख़त्म हो रहा है, ऐसे में, देश में, परिवारों को अब भी लगभग एक दशक से चले आ रहे संघर्ष से कोई छुटकारा मिलता नज़र नहीं आ रहा है.

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के संयोजक मार्क लोकॉक ने वीडियो कान्फ्रेन्सिन्ग के ज़रिये कहा कि लाखों लोग विस्थापित हैं, निर्धन हैं, डरे-सहमे और बेहद तकलीफ़ में हैं जिन्हें भारी निजी नुक़सान देखना पड़ा है.

Tweet URL

इससे भी ज़्यादा, नीचे की तरफ़ जाती अर्थव्यवस्था, कोविड-19, बढ़ती खाद्य असुरक्षा और कुपोषण, जैसे कारणों से ज़रूरतमन्द लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है.

मार्क लोकॉक ने उन दानदाताओं का शुक्रिया अदा किया जो सर्दियों में परिवारों की मदद करने में योगदान कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि लगभग 30 लाख ज़रूरतमन्द परिवारों तक सहायता सामग्री पहुँचाने की व्यवस्था की जा रही है.

हालाँकि मार्क लोकॉक ने अफ़सोस जताते हुए ये भी कहा कि मौजूदा उपलब्ध रक़म के ज़रिये केवल लगभग 23 लाख लोगों तक ही सहायता सामग्री पहुँचाई जा सकती है.

उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा, “और ज़्यादा संसाधनों की ज़रूरत है.”

कोरोनावायरस का सदमा

आपदा राहत मामलों के प्रमुख मार्क लोकॉक के अनुसार, सीरिया में, कोविड-19 के संक्रमण की जाँच करने की समुचित व्यवस्था नहीं होने के कारण, वहाँ इसके फैलाव का सही आकलन कर पाना सम्भव नहीं है.

फिर भी अनेक प्रशासनिक प्रान्तों में अस्तपाल अपनी पूरी क्षमताओं के अनुसार भरे हैं, और स्कूलों में संक्रमण के मामलों में, नवम्बर के दौरान तीन गुना से भी ज़्यादा बढ़ोत्तरी हुई है.

उन्होंने कहा, “ हम महामारी के तात्कालिक स्वास्थ्य प्रभावों से भी आगे, उसके दूसरे चरण के प्रभावों को लेकर बहुत चिन्तित हैं, जिनमें शिक्षा तक पहुँच भी प्रभावित होगी.”

मार्क लोकॉक ने एक अन्तरराष्ट्रीय ग़ैर-सरकारी संगठन सेव द चिल्ड्रेन द्वारा किये गए एक विश्लेषण की तरफ़ ध्यान दिलाया जिसमें कहा गया है कि कोविड-19 और बढ़ती ग़रीबी के कारण देश के लगभग दो तिहाई बच्चे स्कूली शिक्षा से बाहर हैं.

आर्थिक पतन

मानवीय सहायता कार्यों के प्रमुख मार्क लोकॉक ने आर्थिक संकट का ब्यौरा देते हुए बताया कि सस्ती ब्रेड और डीज़ल की आपूर्ति कम हो गई है, जबकि सितम्बर के बाद से इन दोनों चीज़ों के दामों में लगभग दोगुना उछाल आया है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने 2013 में, जबसे सीरिया में खाद्य पदार्थों की क़ीमतों की निगरानी शुरू की है, तब से इस समय, “एक सामान्य भोजन टोकरी की क़ीमत, किसी भी समय से ज़्यादा है.”

सीरिया के हिंसा प्रभावित डेयर हाफ़ेर में लोग अपनी दैनिक ज़रूरतों के लिये यूएन खाद्य एजेंसी पर निर्भर हैं.
WFP/Khudr Alissa
सीरिया के हिंसा प्रभावित डेयर हाफ़ेर में लोग अपनी दैनिक ज़रूरतों के लिये यूएन खाद्य एजेंसी पर निर्भर हैं.

उन्होंने बताया कि देश भर में विस्थापित लोगों की लगभग 80 प्रतिशत परिवारों का कहना है कि उनकी आमदनी में, उनकी ज़रूरतें पूरी नहीं हो पाती हैं.
राजनैतिक समाधान की ज़रूरत

इस बीच विशेष दूत गियर ओ पैडरसेन ने ध्यान दिलाते हुए कहा कि सीरिया में लगभग 10 वर्ष के युद्ध के बाद, राजनैतिक प्रक्रिया ने सीरियाई लोगों को कुछ नहीं दिया है, जो देश के भीतर, और बाहर, दोनों ही स्थानों पर, गहन मुसीबतों और तकलीफ़ों का सामना कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, “केवल एक राजनैतिक प्रक्रिया ही, लोगों की इन तकलीफ़ों और मुसीबतों को समाप्त कर सकती है, संघर्ष व अस्थिरता को रोक सकती है, और सीरिया व क्षेत्र में, सीरियाई लोगों को और ज़्यादा गम्भीर ख़तरों से बचा सकती है.”