नाइजीरिया में अग़वा किये गए स्कूली लड़कों की तुरन्त रिहाई की पुकार

14 दिसम्बर 2020

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने नाइजीरिया के पश्चिमोत्तर हिस्से में स्थित एक स्कूल पर हमला करके, अग़वा किये गए सैकड़ों लड़कों की तुरन्त और बिना शर्त रिहाई की पुकार लगाई है. इन लड़कों का अपहरण किये जाने का सन्देह, सन्दिग्ध डाकुओं पर है.

कैटसीना प्रान्त में स्थित सरकारी विज्ञान माध्यमिक स्कूल में, केवल लड़के ही पढ़ाई करते हैं. इस स्कूल पर शुक्रवार शाम को सशस्त्र हमलावरों द्वारा धावा बोले जाने के बाद से 300 से भी ज़्यादा लड़के अब भी लापता बताए गए हैं, उनमें से बहुत से लड़कों का अपहरण किये जाने का अन्देशा है.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता द्वारा जारी एक वक्तव्य में, स्कूल पर हुए इस हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की गई है और लड़कों को, सुरक्षित तरीक़े से, उनके परिवारों तक पहुँचा दिये जाने का आहवान किया गया है.

वक्तव्य में कहा गया है, “यूएन प्रमुख ने दोहराते हुए कहा है कि स्कूलों और अन्य शैक्षणिक सुविधाओं पर हमले मानवाधिकारों का गम्भीर उल्लंघन है. उन्होंने नाइजीरिया सरकार से, इस हमले के लिये ज़िम्मेदार तत्वों को न्याय के कटघरे में लाने का आग्रह किया है.”

एंतोनियो गुटेरेश ने आतंकवाद, हिंसक अतिवाद और संगठित अपराध के ख़िलाफ़ लड़ाई में, नाइजीरिया की सरकार और वहाँ के लोगों के प्रति समर्थन व एकजुटता फिर दोहराई है.

दर्दनाक घटनाक्रम

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने भी इस हमले की भर्त्सना करते हुए, लड़कों की तुरन्त रिहाई की माँग की है.

पश्चिमी और मध्य अफ्रीका के लिये यूनीसेफ़ की क्षेत्रीय निदेशक मैरी पियर पॉइरियर ने कहा है कि ये हिंसा याद दिलाती है कि नाइजीरिया के उत्तरी क्षेत्र में, बच्चों का अपहरण और बाल अधिकारों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन लगातार हो रहा है.

उन्होंने कहा, “बच्चों को अपने घरों, स्कूलों और खेलकूद स्थलों पर, हर समय ख़ुद को सुरक्षित महसूस करना चाहिये. दुख की इस घड़ी में, हम, इस अपहरण किये हुए बच्चों के परिवारों और दिल दहला देने वाली घटना से प्रभावित समुदायों के साथ खड़े हैं.”

फ़रवरी 2018 में, बोको हराम के चरमपन्थियों ने नाइजीरिया के पूर्वोत्तर हिस्से में स्थित एक स्कूल से, लगभग 100 लड़कियों का अपहरण कर लिया था. छह साल पहले, 2014 में, इसी चरमपंथी गुट ने शिबोक के एक स्कूल से 276 लड़कियों को अग़वा कर लिया था, उनमें से बहुत सी लड़कियाँ अब भी लापता हैं.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड