भारत: प्रदर्शनकारी किसानों के लोकतान्त्रिक अधिकारों का सम्मान हो

8 दिसम्बर 2020

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता ने कहा है कि भारत में किसानों को शान्तिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने का आधिकार है और उनकी स्वतन्त्रताओं का सम्मान किया जाना चाहिये.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने सोमवार को कहा कि भारत में प्रदर्शनकारी किसानों और सरकार के बीच हो रही बातचीत के बारे में वो अवगत हैं. 

साथ ही उन्होंने उम्मीद भी जताई है कि इस बातचीत का दोनों पक्षों के लिये सन्तोषजनक परिणाम निकल सकेगा.

यूएन प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने सोमवार को, पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा, जैसाकि इस मुद्दे पर पहले भी कहा गया है, संयुक्त राष्ट्र का रुख़ यही है कि नागरिकों को शान्तिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने का अधिकार है, और उनकी स्वतन्त्रताओं का सम्मान किया जाना चाहिये.

“सभी पक्षों को संयम से काम लेने की ज़रूरत है.”

ग़ौरतलब है कि भारत सरकार द्वारा हाल ही में लागू किये गए तीन कृषि सम्बन्धी क़ानूनों के विरोध में, कुछ किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. 

ये विरोध प्रदर्शन राजधानी दिल्ली के नज़दीकी इलाक़ों में किये जा रहे हैं. 

किसानों ने अपनी माँगों के समर्थन में, सोमवार को देश बन्द का भी आहवान किया था.

सरकार ने प्रदर्शनकारी किसानों के साथ बातचीत की पेशकश की है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड