कोविड-19: वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिये, यूनीसेफ़ की मुस्तैदी तेज़

23 नवंबर 2020

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष-(UNICEF) कोविड-19 महामारी की वैक्सीन उपलब्ध होने पर इसे 92 देशों में जल्द से जल्द मुहैया कराने की योजनाओं पर दुनिया भर में अनेक साझीदारों, प्रमुख एयरलाइनों, समुद्री परिवहन कम्पनियों और अन्य ढाँचागत संगठनों के साथ मिलकर काम कर रही है, जिनकी संख्या 350 से भी ज़्यादा है. एजेंसी सोमवार को ये ख़बर जारी की है.

यूनीसेफ़ के आपूर्ति विभाग की निदेशक एतलेवा इवा कदील्ली ने सोमवार को इतने विशाल पैमाने पर इतने बड़े काम को पूरा करने के लिये साझेदारियों को पूरा करने की महत्ता को रेखांकित किया है.

उन्होंने कहा, “कोविड-19 की वैक्सीन तैयार करने के लिये जैसे-जैसे काम आगे बढ़ रहा है, यूनीसेफ़ ने एयरलाइनों, समुद्री परिवहन कम्पनियों व अन्य ढाँचागत सेवाएँ मुहैया कराने वालों के साथ अपने प्रयास तेज़ कर दिये हैं ताकि वैक्सीन उपलब्ध ने पर उसे जल्द से जल्द और सुरक्षित तरीक़े से मुहैया कराया जा सके.”

यूनिसेफ़ की वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है, “ये बहुमूल्य सहयोग व तालमेल समुचित परिवहन क्षमता विकसित करने में लम्बी अवधि तक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

चूँकि, हम कोविड-19 महामारी की वैक्सीन, सीरिन्ज और दुनिया भर में अग्रिम मोर्चों पर तैनात स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा के लिये निजी बचाव उपकरण मुहैया कराने की तैयारी कर रहे हैं, इसलिये हमें यथासम्भव ज़्यादा से ज़्यादा मानव क्षमता की ज़रूरत है.”

विशाल और तीव्र अभियान

ये अभियान शुरू करने के लिये, यूनीसेफ़, पैन अमेरिकन स्वास्थ्य संगठन (PAHO) और अन्तरराष्ट्रीय वायु परिवहन संगटन (IATA) ने गत सप्ताह प्रमुख वैश्विक एयरलाइन कम्पनियों को क्षमता बढ़ाने के उपायों पर अवगत कराया है.

साथ ही अगले वर्ष लगभग कोविड-19 की वैक्सीन की लगभग दो अरब ख़ुराकें के परिवहन के तरीक़ों पर चर्चा भी की है. ये ख़ुराकें एक अरब सीरिन्जों के अतिरिक्त होंगी जो समुद्री रास्ते से मुहैया कराई जाएँगी.

यूएन एजेंसी ने कहा  कि आगामी सप्ताहों में मौजूदा परिवहन क्षमताओं का आकलन भी किया जाएगा ताकि ख़ामियों और भविष्य की ज़रूरतों का आकलन किया जा सके.

यूनीसेफ़ ने कहा, “कोविड-19 वैक्सीनों की ख़रीदारी, उनका परिवहन और वितरण अभी तक का सबसे बड़ा और तीव्र अभियान होने की सम्भावना व्यक्त की गई है.”

यूनीसेफ़, वैक्सीन उन निर्माताओं से ख़रीदने और उन्हें ज़रूरतमन्द देशों तक पहुँचाने के प्रयासों की अगुवाई कर रहा है जिनके समझौते COVAX सुविधा के साथ वैक्सीन मुहैया कराने के लिये हुए हैं.

यूनीसेफ़, PAHO की मदद से, वैक्सीन की ख़रीद और उसे 92 निम्न व मध्यम आय वाले देशों को यथाशीघ्र व सुरक्षित तरीक़े से पहुँचाने के प्रयासों में समन्वय कर रहा है.

बेमिसाल विशेषज्ञता

यूनीसेफ़ ने, महामारी के कारण दुनिया भर में लगी पाबन्दियों के बावजूद, ढाँचागत उद्योग व कम्पनियों और परिवहन आपूर्ति करने वाली कम्पनियों व संगठनों के साथ लम्बी अवधि के वाणिज्यिक व व्यापारिक सम्बन्ध स्थापित किये हुए हैं. 

यूनीसेफ़ ने, जनवरी 2020 के बाद से, महामारी का मुक़ाबला करने में देशों की मदद करने के प्रयासों में, कोविड-19 सम्बन्धी लगभग 19 करोड़ डॉलर की रक़म के बराबर सामग्री उपलब्ध कराई है जिसमें मास्क, गाउन, ऑक्सीजन भण्डारण उपकरण और परीक्षण किटें शामिल हैं. 

यूनीसेफ़ दुनिया भर में सबसे विशाल वैक्सीन ख़रीदार होने के नाते, सामान्य टीकाकरण अभियानों के लिये, हर वर्ष 2 अरब से ज़्यादा ख़ुराकें ख़रीदता है. इनमें अचानक सामने आई बीमारियों का मुक़ाबला करने के प्रयास भी शामिल हैं और ये ख़रीदारी 100 देशों की तरफ़ से की जाती है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड