सूडान और इसराइल में सम्बन्ध सामान्य होने से 'नए अवसरों' के सृजन की आशा

24 अक्टूबर 2020

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सूडान द्वारा इसराइल के साथ सम्बन्ध सामान्य करने की घोषणा को अपने संज्ञान में लेते हुए उम्मीद जताई है कि पारस्परिक सहयोग से अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व समृद्धि को आगे बढ़ाने में मदद मिलेगी. शनिवार को यूएन प्रमुख की ओर से यह बयान अमेरिका की मध्यस्थता से दोनों देशों में हुई सहमति की घोषणा के बाद जारी किया गया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को सूडान व इसराइल के प्रधानमन्त्रियों के साथ त्रिपक्षीय बातचीत के बाद इस समझौते की औपचारिक घोषणा की थी. 

घोषणा के मुताबिक आने वाले दिनों में सूडान और इसराइल के प्रतिनिधिमण्डलों की बैठक होगी जिसमें समझौते को अन्तिम रूप दिया जाएगा. 

रिपोर्टों के मुताबिक अमेरिका इस समझौते के तहत सूडान का नाम आतंकवाद के प्रायोजक देशों की सूची से हटा देगा, जिससे देश को सहायता प्रदान किये जाने और वहाँ आर्थिक निवेश का मार्ग स्पष्ट हो जाएगा.

लम्बे समय तक सूडान की बागडोर सम्भालने वाले पूर्व राष्ट्रपति उमर अल-बशीर को 2019 में सत्ता से हटा दिया गया था जिसके बाद देश लोकतान्त्रिकरण की प्रक्रिया से गुज़र रहा है. 

सूडान से पहले संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन ने भी कुछ सप्ताह पहले अमेरिकी मध्यस्थता के ज़रिये इसराइल के साथ सम्बन्ध सामान्य किये जाने की घोषणा की थी.

पिछले दो दशकों से भी ज़्यादा समय में यह पहली बार है जब मध्य पूर्व के देशों द्वारा इसराइल को पूर्ण मान्यता दी गई है. सूडान ने इसराइल के ख़िलाफ़ वर्ष 1948 और 1967 में हुए युद्धों में हिस्सा लिया था.

समाचारों के मुताबिक सूडान 1998 में अल क़ायदा द्वारा केनया और तंज़ानिया में हुए आतंकी हमलों के पीड़ितों को लाखों डॉलर का मुआवज़ा देने के लिये सहमत हो गया है. उस समय आतंकी नैटवर्क का मुख्यालय सूडान में स्थित था.   

महासचिव गुटेरेश ने अपने वक्तव्य में उम्मीद ज़ाहिर की है कि इस समझौते से सहयोग को आगे बढ़ाने, आर्थिक व व्यापारिक रिश्तों को मज़बूती प्रदान करने और हॉर्न ऑफ़ अफ़्रीका और मध्य पूर्व क्षेत्रों में शान्ति व आर्थिक समृद्धि को आगे बढ़ाने के लिये नए अवसरों को बल मिलेगा. 

यूएन प्रमुख ने आश्वासन दिया है कि संयुक्त राष्ट्र सूडान गणराज्य द्वारा देश और वृहत क्षेत्र में सामाजिक-आर्थिक पुनर्बहाली, स्थिरता और समृद्धि के लिये किये जा रहे प्रयासों को समर्थन प्रदान करने के लिये पूर्ण रूप से संकल्पबद्ध है. 

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष समन्वयक निकोलय म्लादेनॉफ़ ने भी ट्विटर पर अपने सन्देश में उम्मीद जताई कि आपसी सहमति और रिश्तों के सामान्य होने से सहयोग को बढ़ावा मिलेगा. 

साथ ही इससे हॉर्न ऑफ़ अफ़्रीका और पूरे मध्य पूर्व क्षेत्र के लिये नए अवसर सृजित करने में मदद मिलने का भरोसा जताया गया है.     

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड