कोविड-19: संक्रमण और मौतों के मामलों में तेज़ी, बुनियादी उपायों पर ज़ोर

लंदन के सोहो इलाक़े का दृश्य.
IMF/Jeff Moore
लंदन के सोहो इलाक़े का दृश्य.

कोविड-19: संक्रमण और मौतों के मामलों में तेज़ी, बुनियादी उपायों पर ज़ोर

स्वास्थ्य

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने योरोप और उत्तर अमेरिका में कोविड-19 महामारी के मामलों में बढ़ोत्तरी के बीच सरकारों और लोगों से आग्रह किया है कि सावधानी बरतना जारी रखना होगा. यह सतर्कता अस्पतालों में भर्ती मरीज़ों और महामारी से निपटने की कार्रवाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे लोगों की बेहतरी के लिये आवश्यक है. 

दुनिया भर में कोविड-19 के संक्रमण के तीन करोड़ 99 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है और 11 लाख 11 हज़ार लोगों की मौत हुई है. 

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने सोमवार को पत्रकारों को बताया, “मैं जानता हूँ कि लोग थक गए हैं लेकिन वायरस ने हमें दिखाया है कि जब भी हम बेपरवाह होते हैं, यह बड़ी तेज़ी से फिर फैलता है और अस्पतालों व स्वास्थ्य प्रणालियों के लिये ख़तरा पैदा करता है.”

यूएन एजेंसी ने पिछले सप्ताह आगाह किया था कि उत्तरी गोलार्द्ध में सर्दी के मौसम के आगमन के साथ ही विश्वव्यापी महामारी अब एक चिन्ताजनक चरण में प्रवेश कर रही है.

मार्च 2020 में कोरोनावायरस की पहली लहर में पुष्ट मामलों की तुलना में उस समय योरोप में संक्रमणों की मौजूदा संख्या तीन गुणा थी. 

महानिदेशक घेबरेयेसस ने कहा कि अनेक नेताओं ने अपने जनसमूहों को लक्षित प्रयासों की आवश्यकता से अवगत कराया है जोकि कोरोनावायरस के फैलाव को रोकने और स्वास्थ्यकर्मियों व स्वास्थ्य प्रणालियों की रक्षा करने के लिये अहम हैं.

उन्होंने कहा कि जैसे जैसे मामलों की संख्या बढ़ेगी, अस्पतालों में बिस्तरों व गहन देखभाल सम्बन्धी ज़रूरतों में भी इज़ाफ़ा होगा.

कोविड-19 मरीजों की देखभाल के दौरान निजी सुरक्षा बरतने के लिये डॉक्टरों व नर्सों में अब पहले से बेहतर समझ है लेकिन हालात बिगड़ने पर जोखिम बढ़ने की आशंका है.  

“इसलिये यह अहम है कि सभी सरकारें बुनियादी बातों पर ध्यान केन्द्रित करें जिससे संक्रमणों की कड़ी को तोड़ने और जीवन व आजीविकाओं को बचाने में मदद मिलती हो.”

यूएन एजेंसी के प्रमुख ने ज़ोर देकर कहा है कि शारीरिक दूरी बरतने, मास्क पहनने, भीड़भाड़ भरे स्थानों से दूर रहने और अन्य ऐहतियाती उपायों का पालन करने में सभी लोगों की भूमिका है.