कोविड-19: निस्वार्थ सेवा और दयालुता की प्रेरक कहानियाँ : ‘भारत के महावीर’

कोविड-19 के दौरान निस्वार्थ सेवा और दयालुता की अभूतपूर्व कहाँनियाँ कहती अनूठी टीवी सीरीज़: ‘भारत के महावीर’
UN India
कोविड-19 के दौरान निस्वार्थ सेवा और दयालुता की अभूतपूर्व कहाँनियाँ कहती अनूठी टीवी सीरीज़: ‘भारत के महावीर’

कोविड-19: निस्वार्थ सेवा और दयालुता की प्रेरक कहानियाँ : ‘भारत के महावीर’

मानवीय सहायता

भारत में संयुक्त राष्ट्र, भारत सरकार का नीति आयोग और डिस्कवरी इंडिया चैनल ने मिलकर 'भारत के महावीर’ नामक एक टेलीवीज़न सीरिज़ शुरू की है, जिसके तहत भारत के उन नायकों की कहानियाँ प्रसारित की जाएँगी, जिन्होंने कोविड-19 के ख़िलाफ़ जंग में निस्वार्थ भावना से सहयोग दिया है.  

कोविड-19 महामारी  के दौरान ज़रूरतमन्द लोगों की मदद करने में अग्रणी, भारत के बेशुमार निःस्वार्थ नायकों को मान्यता देने के मक़सद से, भारत में संयुक्त राष्ट्र व भारत सरकार के नीति आयोग ने, डिस्कवरी चैनल की साझेदारी में, '#भारत के महावीर' नामक अभियान शुरू किया है. 

यह अभियान उन लोगों को सम्मानित करने के लिये है, जिन्होंने इस महामारी के दौरान असाधारण दयालुता दिखाई है - बिना किसी स्वार्थ या अपेक्षा के, कमज़ोर लोगों की मदद के लिये हाथ बढ़ाया है. 

टेलीविज़न श्रृँखला

इस अभियान के तहत ऐसे 12 चैम्पियनों द्वारा सेवा की कहानियाँ डिस्कवरी चैनल पर तीन-भागों की श्रृँखला में प्रसारित की जाएँगी, जिन्होंने अपने अनुकरणीय कार्यों से लोगों में आशा का संचार किया है और ताक़त व एकजुटता के साथ मदद के लिये आगे आ रहे हैं.

श्रृँखला की सह-मेज़बानी, संयुक्त राष्ट्र महासचिव की एसडीजी एडवोकेट, दीया मिर्ज़ा और अभिनेता सोनू सूद कर रहे हैं. अभिनेता सोनू सूद को हाल ही में कोविड-19 संकट में अपने मानवतावादी कार्यों के लिये पंजाब सरकार ने ‘विशेष मानवीय कार्रवाई पुरस्कार’से सम्मानित किया है.

Tweet URL

भारत में संयुक्त राष्ट्र की रेज़िडेंट कोऑर्डिनेटर, रेनाटा डेज़ालिएन ने इस पहल के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा, "जहाँ कोविड-19 हमारे जीवन को अस्त-व्यस्त करने में लगा है, वहीं ये नायाब नायक हम सभी के लिये प्रेरणा और आश्वासन के स्रोत हैं. वे हमें याद दिलाते हैं कि केवल दया और करुणा के साथ, मिलकर काम करने से ही हम सफल हो सकते हैं – यही संयुक्त राष्ट्र का सन्देश भी है, विशेष रूप से हमारी स्थापना की 75वीं वर्षगाँठ पर."

"भारत के महावीर’ टीवी श्रृंखला के माध्यम से, हम उन व्यक्तियों को सम्मानित करना चाहते हैं, जो सभी बाधाओं के बावजूद, ज़रूरतमन्दों की मदद करने के लिये आगे आए. वे मानवता में हमारा विश्वास और बेहतर भविष्य में हमारी आस फिर से जगाते हैं. वे हमें यहाँ, भारत में ही नहीं, बल्कि विश्व स्तर पर गौरवान्वित करते हैं.”

मानवता की प्रेरक कहानियाँ 

‘भारत के महावीर’ टैलीविज़न सीरिज़ में एकजुटता की वो शानदार कहानियाँ हैं - जिनमें, भोजन सामग्री के वितरण से लेकर, चिकित्सा सुविधा प्रदान करने, अपनी जीवनभर की बचत दान करने या फिर आवारा जानवरों को खाना खिलाने तक – भारत के सभी उम्र के लोगों ने संकट काल में एकजुटता की मज़बूत भावना दिखाई और आज भी दिखा रहे हैं.

भारत सरकार में नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कान्त ने कहा, “इस वैश्विक संकट के दौरान, देश भर में ऐसे लोगों की अनगिनत कहानियाँ सामने आईं, जिन्होंने अपने कर्तव्य से आगे बढ़कर काम किया. यहाँ तक कि कम विकसित ज़िलों में, विकास सम्बन्धी चुनौतियों के बावजूद, लोगों ने असाधारण मानवता दिखाई है. इन्हीं लोगों की कहानियाँ सुनने और सुनाने के लिये, हमने भारत में डिस्कवरी और संयुक्त राष्ट्र के साथ मिलकर ये पहल शुरू की है.”

वहीं डिस्कवरी कम्युनिकेशन्स इण्डिया में दक्षिण एशिया की प्रबन्ध निदेशक, मेघा टाटा ने कहा, "भारत के महावीर केवल एक टैलीविज़न कार्यक्रम भर नहीं है - यह भारत के इतने सारे अनसुने नायकों के प्रति कृतज्ञता का प्रतिबिम्ब है जो आशा और प्रेरणा की चमकती हुई किरण बन गए हैं. हमें इस प्रतिष्ठित परियोजना में नीति आयोग और यूएन इण्डिया का साथ देने पर गर्व है.”

श्रृँखला के चेहरे

‘भारत के महावीर’ कार्यक्रम की सह-मेज़बान और संयुक्त राष्ट्र महासचिव की एसडीजी एडवोकेट दीया मिर्ज़ा ने कहा, “पिछले कुछ महीनों में, भारत ने दुनिया को दिखाया है कि जब लोग एक साथ आते हैं, तो वे किसी भी समस्या का हल निकाल सकते हैं. हमने, महामारी के दौरान, स्वहित के बजाय एकजुटता का विस्तार होते देखा है. लोग अपने कार्यों के ज़रिये प्यार, करुणा और सकारात्मकता फैलाने के लिये एकजुट हो रहे हैं, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि सबसे कमज़ोर लोग पीछे न छूट जाएँ. मुझे ख़ुद को भारतीय कहने में और इस बेहतरीन पहल का हिस्सा बनने में गर्व का अनुभव हो रहा है.”

दीया मिर्ज़ा के साथ इस अभियान का चेहरा बनने वाले अभिनेता सोनू सूद कहते हैं, “हाल का समय मानवता के लिये दर्दनाक रहा है. इस दौरान, साथी नागरिकों के लिये सहानुभूति की भावना रखने वाले कुछ लोगों ने अपना सब कुछ दान कर दिया. ईश्वर ने हमेशा मुझ पर कृपा बनाई है और अन्य लोगों की मदद करने के साधन दिये हैं, इसलिये मैंने छोटे तरीक़े से मदद करने की कोशिश की. लेकिन जो कहानियाँ मैंने पढ़ीं, वो सीमित साधनों वाले व्यक्तियों की हैं, जिन्होंने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से पहाड़ तक हिला दिये. इन नायकों के बारे में ‘भारत के महावीर’ श्रृंखला के माध्यम से पूरा विश्व जान पाएगा.”

‘भारत के महावीर’  कार्यक्रम में दिखाई जाने वाली 12 कहानियाँ देश में एकजुटता और एकता की भावना का प्रतिनिधित्व करती हैं. इसका पहला भाग, डिस्कवरी और डिस्कवरी एचडी चैनल पर नवम्बर  में शुरू होगा. दर्शक डिस्कवरी प्लस ऐप पर भी ये कार्यक्रम देख सकते हैं.