बेहतर भविष्य के लिये युवाओं के जोश का सदुपयोग अहम, 2020 के युवा चैम्पियन

18 सितम्बर 2020

संयुक्त राष्ट्र ने टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के प्रयासों में उल्लेखनीय भूमिका निभाने वाले 17 पैरोकारों को वर्ष 2020 के युवा चैम्पियन के रूप में मान्यता दी है.

शुक्रवार को जारी इस मान्यता में जगह पाने वाले ये युवा चैम्पियन विश्व के सामने दरपेश कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण चुनौतियों का सामना करने के रचनात्मक समाधान तलाश कर रहे हैं, साथ ही सभी के लिये एक बेहतर भविष्य बनाने की ख़ातिर युवा पीढ़ी को प्रेरित कर रहे हैं.

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के लिये ये पैरोकार दुनिया के हर क्षेत्र की विविधतापूर्ण युवा आवाज़ों का प्रतिनिधित्व करते हैं, और सामूहिक रूप से करोड़ों युवाओं को टिकाऊ विकास लक्ष्यों के समर्थन मे सक्रिय करने का श्रेय भी उन्हें जाता है.

युवा मामलों पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश की विशेष दूत जयथमा विक्रमानायके का कहना है कि दुनिया के सामने इस अभूतपूर्व दौर में, 2020 के युवा चैम्पियन इस मुहिम का एक चमकता उदाहरण हैं कि युवजन किस तरह से सभी के लिये एक टिकाऊ और समावेशी भविष्य बनाने का रास्ता दिखा रहे हैं.

उन्होंने कहा, “कोविड-19 महामारी से बुरी तरह से प्रभावित होने के बावजूद, दुनिया भर के युवजन बेहतर पुनर्बहाली के रचनात्मक समाधान तलाश करने और टिकाऊ विकास लक्ष्य हासिल करने की दिशा में असीमित सहनशीलता, मज़बूती, संसाधन उपयोगिता और नेतृत्व दिखा रहे हैं.”

महासचिव की युवा मामलों की दूत के कार्यालय के अनुसार ये 17 युवा चैम्पियन एक समूह के रूप में टिकाऊ विकास लक्ष्यों को वास्तविक रूप देने के प्रयासों में मदद करने के लिये युवाओं को जोड़ेंगे.

इसके लिये उन्हें संयुक्त राष्ट्र के ज़रिये उपलब्ध रणनीतिक अवसर इस्तेमाल करने का मौक़ा मिलेगा, साथ ही वो ख़ुद अपनी ख़ुद की पहलों, मंचों और नैटवर्कों का भी इस्तेमाल करेंगे.

युवा चैम्पियन हर दो वर्ष में घोषित किये जाते हैं.

2020 के युवा चैम्पियन

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के ये युवा पैरोकार दुनिया के विभिन्न क्षेत्रों से चुने गए हैं जिनकी उम्र 18 से 29 वर्ष तक है.

इन देशों से एक-एक युवा चैम्पियन चुने गए हैं – ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, ब्राज़ील, बुल्गारिया, चीन, कोलम्बिया, मिस्र, भारत, आयरलैण्ड, लाइबेरिया, नाइजीरिया, पाकिस्तान, पेरू, सेनेगल, तुर्की, युगाण्डा और संयुक्त राज्य अमेरिका.

2020 के टिकाऊ विकास लक्ष्यों के युवा चैम्पियनों और उनके कार्य के बारे में ज़्यादा जानकारी यहाँ उपलब्ध है. 

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड

समाचार ट्रैकर: इस मुद्दे पर पिछली कहानियां

शांति निर्माण में 'बराबर के साझेदार' हैं युवा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष दूत जयाथमा विक्रमानायके ने सुरक्षा परिषद को अपने संबोधन में कहा है कि उनका अनुभव बताता है कि युवा शांति की परवाह करते हैं. उन्होंने जॉर्डन में शरणार्थी शिविरों से लेकर ग़ाज़ा में यूएन राहत एवं कार्य एजेंसी के स्कूलों तक, कोसोवो में म्यूनिसपैलिटी से लेकर डेनमार्क में युवा परिषदों तक जारी प्रयासों को नज़दीक से देखने के बाद ये बात कही.

जलवायु परिवर्तन पर युवा पीढ़ी कमर कस चुकी है

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन की चुनौती का सामना करने में पुरानी पीढ़ियाँ तो नाकाम हो गई मगर युवा पीढ़ी इस चुनौती का सामना करने और इससे होने वाली तबाही की रफ़्तार धीमी करने के लिए कमर कस रही है.