महीनों बाद महासभा हॉल में फिर जुटे सदस्य देश – बहुपक्षीय कार्रवाई पर ज़ोर

3 सितम्बर 2020

कोविड-19 महामारी के कारण मार्च 2020 के बाद लगभग छह महीने में पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा हॉल में गुरुवार को सदस्य देशों के प्रतिनिधियों की बैठक हुई जिसमें शारीरिक दूरी बरते जाने के दिशा-निर्देशों का पूरा ध्यान रखा गया. यूएन महासभा अध्यक्ष तिजानी मोहम्मद-बाँडे ने सदस्य देशों से बहुपक्षीय कार्रवाई को स्फूर्ति प्रदान करने का आग्रह किया है ताकि कोरोनावायरस संकट से निपटते हुए सर्वजन की ज़रूरतों को पूरा किया जा सके. 

तिजानी मोहम्मद बाँडे ने महासभा को विचार-विमर्श के लिये संयुक्त राष्ट्र का मुख्य मंच बताते हुए कहा कि बेहतर पुनर्बहाली के लिये महासभा ने मज़बूत साझेदारियों के सहारे कामकाज जारी रखा है.  

गुरुवार की बैठक में सदस्य देशों के प्रतिनिधिमण्डल में अपेक्षाकृत कम सदस्य शामिल हुए.

महासभा अध्यक्ष तिजानी मोहम्मद-बाँडे ने कहा, “वैसे तो इस हॉल में हम मार्च के बाद से एकत्र नहीं हुए हैं, न्यूयॉर्क स्थित प्रतिनिधिमण्डलों ने कोविड-19 महामारी से जूझते हुए संयुक्त राष्ट्र चार्ट के मूल्यों व सिद्धान्तों के अनुरूप अपने अथक प्रयास जारी रखे हैं.” 

उन्होंने निर्णय 74/544 को पारित करने और उसकी अवधि बढ़ाने के लिये महासभा की दूरदर्शिता की सराहना की है जिसके ज़रिये महासभा के ऐतिहासिक 75वें सत्र के लिये 70 निर्णयों व प्रस्तावों को पारित करने और मुख्य समिति प्रमुखों का चुनाव करना सम्भव हुआ है.

“इससे महत्वपूर्ण मुद्दों पर कामकाज जारी रखना सुनिश्चित हुआ है.”

ग़ौरतलब है कि कोरोनावायरस संकट के दौरान आर्थिक एवँ सामाजिक परिषद (ECOSOC) और महासभा के नए अध्यक्षों और सुरक्षा परिषद के नए सदस्यों के लिये मतदान भी शारीरिक दूरी बरते जाने के उपायों के साथ सम्पन्न हुए थे. 

संयुक्त राष्ट्र महासभा प्रमुख ने यूएन स्थापना की 75वीं वर्षगाँठ के मौक़े पर होने वाले कार्यक्रमों की घोषणा पर अन्तरसरकारी वार्ताओं की प्रशंसा की है. 

उन्होंने उन सदस्य देशों का आभार जताया जिन्होंने वैश्विक महामारी के ख़िलाफ़ जवाबी कार्रवाई के तहत दो प्रस्तावों के पारित होने में नेतृत्व का परिचय दिया.

इन प्रस्तावों में एकजुटता का आहवान किया गया है और दवाओं व मेडिकल उपकरणों की वैश्विक सुलभता की अपील की गई है. 

UN Photo/Eskinder Debebe
संयुक्त राष्ट्र महासभा प्रमुख तिजानी मोहम्मद-बाँडे.

साथ ही यूएन अधिकारी ने प्रशासनिक और बजट मामलों की देखरेख करने वाली पाँचवी समिति का आभार जताया है. समिति के प्रयासों के फलस्वरूप सत्र के लिये 21 सिफ़ारिशों का मसौदा तैयार करने और वर्ष 2020-2021 के लिये साढ़े छह अरब डॉलर के शान्तिरक्षा बजट को अन्तिम रूप देना सम्भव हुआ. 

“आपके कार्य ने यह सुनिश्चित किया है कि संयुक्त राष्ट्र ज़मीनी स्तर पर कामकाज जारी रखे और उन लोगों की ज़रूरतें पूरी की जा सकें जिनकी हम सेवा करते हैं.”

यूएन महासभा प्रमुख ने कोविड-19 महामारी से निपटने के वैश्विक प्रयासों की अगुवाई के लिये अपने सम्बोधन में विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रशंसा की है.  

उन्होंने कहा कि लोगों की ज़रूरतों का ध्यान रखने के लिये सम्पूर्ण यूएन प्रणाली ने एकजुट प्रयास किये, विशेषत: उन मानवीय राहतकर्मियों और शान्तिरक्षकों ने जो विश्व के अनेक देशों में जटिल माहौल में निर्बल समुदायों की रक्षा के लिये डटे हैं. 

तिजानी मोहम्मद-बाँडे ने टिकाऊ विकास के 2030 एजेण्डा के तहत कार्रवाई के दशक में इन प्रयासों की अहमियत को रेखांकित किया है.

उन्होंने स्पष्ट किया कि कार्रवाई का दशक अब कोविड-19 महामारी से उबरने के दशक के रूप में तब्दील हो सकता है. 

महासभा अध्यक्ष ने सभी देशों से बहुपक्षीय कार्रवाई को स्फूर्ति देने का आहवान किया है ताकि विकास के लिये वित्तीय संसाधन प्रदान करने के संकल्प पूरे किये जा सकें.

उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया में सभी देश एक साथ, एकजुट हैं और सभी की भलाई के लिये प्रयास निरन्तर जारी रखने होंगे. 

UN Photo/Eskinder Debebe
कोविड-19 महामारी से बचाव के उपायों के तहत मार्च 2020 के बाद पहली बार सितम्बर के प्रथम सप्ताह में महासभा की बैठक भौतिक रूप से हुई जिसमें सामाजिक दूरी जैसे ऐहतियाती उपायों पर अमल किया गया.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड