कोविड-19: कार्यस्थलों पर वापसी के लिए सुरक्षा व ऐहतियाती उपाय ज़रूरी

18 मई 2020

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन ने कहा है कि निकट भविष्य में कोविड-19 से निपटने की ही स्थिति में बहुत से लोग कामकाज पर वापिस लौटेंगे, इसके लिए कार्यस्थलों पर ठोस सुरक्षा उपाय करना बहुत ज़रूरी है. साथ ही ऐहतियाती उपायों के बारे में समुचित जानकारी मुहैया कराना भी बहुत अहम बताया गया है. देखिए वीडियो फ़ीचर...

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड

समाचार ट्रैकर: इस मुद्दे पर पिछली कहानियां

कोविड-19: विश्व में कामकाजी घंटों और रोज़गार में भारी नुक़सान की आशंका

विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 की चपेट में आने के कारण विश्व अर्थव्यवस्था पर भारी असर पड़ रहा है. अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) के एक अनुमान के मुताबिक वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में दुनिया भर में कुल कामकाजी घंटों में 6.7 फ़ीसदी का नुक़सान होगा – यह आँकड़ा 19 करोड़ 50 लाख पूर्णकालिक कर्मचारियों के कामकाज के बराबर है. 

कामकाज के भविष्य के केंद्र में हो 'सभी के लिए सामाजिक न्याय'

अंतरराष्ट्रीय श्रम सम्मेलन में आए प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए श्रम संगठन (ILO) के महानिदेशक गाए रायडर ने कामकाज के एक ऐसे भविष्य के निर्माण की अपील की है जिसमें सभी के लिए सामाजिक न्याय संभव हो. जिनिवा में सोमवार को शुरू हुए 108वें श्रम सम्मेलन को 'श्रम आंदोलन की विश्व संसद' भी कहा जाता है और इसे यूएन एजेंसी के शताब्दी वर्ष के दौरान आयोजित किया जा रहा है.