प्रवासी प्रजातियों पर कॉप-13 सम्मेलन गाँधीनगर में

21 फ़रवरी 2020

दुनिया भर में जीव-जन्तुओं और पशु-पक्षियों की लाखों प्रवासी प्रजातियाँ हैं जो अपने अस्तित्व के लिए देशों की सीमाओं से भी परे तक का सफ़र करती हैं. इनमें से बहुत सी प्रजातियों के वजूद के लिए ही ख़तरा पैदा हो गया है. इन प्रजातियों का वजूद बचाने और इनका जीवन आसान बनाने के मुद्दों पर चर्चा के लिए भारतीय गुजरात के गाँधीनगर में हो रहा है अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन कॉप-13.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड