सीरिया: इदलिब में भड़की ताज़ा लड़ाई पर 'गहरी चिन्ता'

1 फ़रवरी 2020

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने सीरिया के पश्चिमोत्तर इलाक़े में युद्ध गतिविधियों में आई तेज़ी पर गहरी चिन्ता जताते हुए तमाम सैन्य गतिविधियां तुरंत रोके जाने की पुकार लगाई है.

महासचिव के प्रवक्ता द्वारा शनिवार को जारी एक वक्तव्य में कहा गया है कि यूएन प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश सीरिया के पश्चिमोत्तर इलाक़े में सैन्य गतिविधियों में आई तेज़ी पर “गंभीर चिंता” व्यक्त की है.

मीडिया ख़बरों में कहा गया है कि सीरिया की सरकारी सेनाओं ने इदलिब में विपक्षी ताक़तों के नियंत्रण वाले अंतिम मुख्य इलाक़े में हमले तेज़ कर दिए हैं.

जिसके बाद लाखों लोग सुरक्षा के लिए तुर्की की तरफ़ भाग रहे हैं.

यूएन महासचिव ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि आम लोगों, स्वास्थ्य सेवाओं जैसे बुनियादी पर हमले क़तई स्वीकार्य नहीं हैं. 

प्रवक्ता जारी वक्तव्य में कहा गया है, “तमाम सैन्य अभियानों में, इनमें आतंकवादी गुटों के ख़िलाफ़ और उनके द्वारा की जाने वाली सैन्य गतिविधियाँ भी शामिल हैं, सभी पक्षों को अंतरराष्ट्रीय मानवीय क़ानून में वर्णित ज़िम्मेदारियों और नियमों का पालन करना चाहिए."

"इनमें आम नागरिकों और नागरिक वस्तुओं की हिफ़ाज़त करना भी शामिल है.”

यूएन प्रमुख ने ज़ोर देकर कहा है कि सीरिया संकट का कोई सैन्य समाधान नहीं है. 

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यों के संयोजक मार्क लोकॉक ने बुधवार को सुरक्षा परिषद को जानकारी देते हुए कहा था कि इदलिब में लड़ाई इतनी भीषण हो गई है जो पिछले साल भर के दौरान भी नहीं देखी गई.

मार्क लोकॉक ने बताया था कि मानवीय सहायता संगठनों ने 14 लाख से भी ज़्यादा लोगों को भोजन सामग्री मुहैया कराई है.

साथ ही दो लाख से ज़्यादा लोगों का इलाज करने के लिए पर्याप्त चिकित्सा सामग्री भी उपलब्ध कराई गई है.  

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड