जयपुर साहित्य महोत्सव में जलवायु संकट मुद्दा

बाएं से दाएं: यूएन रेज़ीडेंट कोऑर्डिनेटर रेनाटा डेज़ालिएन; ऑनलाइन जर्नल परी की प्रबंध संपादक नमिता वायकर; लेखिका व फ़िल्मकार शुभांगी स्वरूप; अभिनेत्री व एसडीजी एडवोकेट दीया मिर्ज़ा.
UN India/Yangerla Jamir
बाएं से दाएं: यूएन रेज़ीडेंट कोऑर्डिनेटर रेनाटा डेज़ालिएन; ऑनलाइन जर्नल परी की प्रबंध संपादक नमिता वायकर; लेखिका व फ़िल्मकार शुभांगी स्वरूप; अभिनेत्री व एसडीजी एडवोकेट दीया मिर्ज़ा.

जयपुर साहित्य महोत्सव में जलवायु संकट मुद्दा

संस्कृति और शिक्षा

भारत में राजस्थान की अनूठी सांस्कृतिक विरासत की पृष्ठभूमि में जयपुर साहित्य महोत्सव का 13वाँ संस्करण 23 से 27 जनवरी के बीच आयोजित हुआ. इस साहित्य महोत्सव में – अनेक साहित्यकारों, पत्रकारों, नोबेल पुरस्कार विजेताओं सहित अनेक अंतरराष्ट्री हस्तियों ने शिरकत की.

साहित्य महोत्सव के अंतिम दिन सोमवार को विचारों, बहस और संवाद के इस लोकतांत्रिक मंच पर संयुक्त राष्ट्र के भारत कार्यालय ने जलवायु आपातकाल पर एक जीवंत सत्र आयोजित किया.

अंशु शर्मा की वीडियो रिपोर्ट...