ईरान-अमेरिकी सैन्य तनाव घटाने के प्रयासों में महासचिव सक्रिय

8 जनवरी 2020

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि ईरान द्वारा इराक़ में अमेरिकी सेना के ठिकानों को बैलिस्टिक मिसाइल हमले में निशाना बनाए जाने के बाद युद्ध को टालने और तनाव घटाने के प्रयासों में सक्रियता से शामिल होंगे. उन्होंने शांति की अपील दोहराते हुए कहा है कि सभी पक्षों को संयम बरतने के साथ आपसी संवाद पुनर्स्थापित करना चाहिए .

महासचिव एंतोनियो गुटेरेश के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने एंतोनियो गुटेरेश की ओर से एक बयान जारी कर शांति की अपील को पुरज़ोर ढंग से दोहराया. यूएन प्रमुख ने इससे पहले सोमवार को अपने बयान में सभी पक्षों से अधिकतम संयम बरतने की अपील की थी.

शुक्रवार को बग़दाद एयरपोर्ट के नज़दीक अमेरिका ने ड्रोन हमले में ईरान के वरिष्ठ सैन्य जनरल क़ासिम सुलेमानी को मार दिया था जिसके बाद ईरान ने कहा कि उसने बदला लेने की कार्रवाई के तहत इराक़ में अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर बैलिस्टिक मिसाइल दागे हैं. इस घटनाक्रम से खाड़ी क्षेत्र में तनाव चरम पर पहुंच गया.  

ईरान ने कहा है कि इराक़ में अमेरिकी और गठबंधन सेना के सैन्य शिविरों को मंगलवार रात बैलिस्टिक मिसाइल हमलों में निशाना बनाया गया.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अपने बयान में तनाव कम करने पर लक्षित चार सूत्री एजेंडे को फिर सामने रखा है:

  • तनाव बढ़ने से रोकिए
  • अधिकतम संयम बरतिए
  • संवाद फिर स्थापित कीजिए
  • अंतरराष्ट्रीय सहयोग पुनर्जीवित कीजिए

उन्होंने कहा है कि यह अपील आज भी उतनी ही प्रासंगिक है जितनी सोमवार को थी.

यूएन प्रमुख के वक्तव्य में स्पष्ट किया गया है कि महासचिव सभी पक्षकारों के साथ सक्रिय रूप से संपर्क में हैं.

हमले

ईरानी जनरल को दफ़नाए जाने के कुछ ही घंटों के भीतर ईरानी बैलिस्टिक मिसाइलों से बग़दाद के पश्चिमी इलाक़े में अल असद शिविर और इराक़ के कुर्द बहुल प्रांत के अरबिल में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाया गया.

इराक़ में संयुक्त राष्ट्र मिशन की प्रमुख ने खाड़ी क्षेत्र में ताज़ा तनाव पर कहा, “यह हमारा साझा फ़र्ज़ है कि हम खाड़ी क्षेत्र में युद्ध टालने का हरसंभव प्रयास करें जिसका ख़तरा दुनिया मोल नहीं ले सकती. हमें नहीं भूलना चाहिए कि युद्ध से मानवता के लिए भयावह नतीजे होते हैं. हमेशा की तरह आम लोगों को ही इसकी सबसे बड़ी क़ीमत चुकानी पड़ती है.”

इराक़ में यूएन सहायता मिशन (UNAMI) ने अरबिल और अनबार गवर्नरेट में मिसाइल हमलों का उल्लेख करते हुए कहा कि इस हमले से संघर्ष में तेज़ी आएगी और इराक़ी संप्रभुता का हनन होगा.

यूएन मिशन ने अपने ट्वीट संदेश में कहा, “बेवजह की हिंसा के सोचे-समझे परिणाम होते हैं. हम सभी पक्षों से तत्काल संयम बरतने और संवाद को फिर स्थापित करने की अपील करते हैं. बाहरी दुश्मनी की क़ीमत इराक़ को नहीं चुकानी चाहिए.”

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड