उत्तर कोरिया: परमाणु परीक्षण पर स्वैच्छिक पाबंदी हटाए जाने पर ‘गहरी चिंता’

1 जनवरी 2020

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने उत्तर कोरिया की ओर से आए उस बयान पर गहरी चिंता व्यक्त की है जिसमें परमाणु और मिसाईल परीक्षण पर लगी स्वैच्छिक रोक को हटाने का संकेत दिया गया है. साथ ही उन्होंने परमाणु मुद्दे पर बातचीत के लिए अपना समर्थन फिर दोहराया है.

यूएन प्रमुख के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि, “महासचिव ने उम्मीद जताई है कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रासंगिक प्रस्तावों के अनुरूप परीक्षणों को फिर शुरू नहीं किया जाएगा.”

उन्होंने ज़ोर देकर कहा है कि परमाणु अप्रसार वैश्विक परमाणु सुरक्षा का एक बुनियादी स्तंभ है और इसकी हर हाल में रक्षा करनी होगी. 

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार उत्तर कोरिया ने अमेरिका के साथ वार्ता के दौरान परमाणु और लंबी दूरी की मिसाईल के परीक्षण पर लगाई गई स्वैच्छिक रोक से पीछे हटने की बात कही है. 

उत्तर कोरिया के नेता किम जोन्ग-उन ने कहा है कि वह स्वैच्छिक रूप से लगाई गई पाबंदी से अब बंधे हुए नहीं हैं. उन्होंने कहा है कि दुनिया को जल्द ही उत्तर कोरिया के एक नए रणनीतिक शस्त्र के बारे में भी पता चल जाएगा. 

महासचिव गुटेरेश ने इस मुद्दे पर संवाद को फिर से आरंभ करने के प्रति अपने समर्थन को दोहराया है. इस वार्ता के ज़रिए कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु हथियारों के ख़तरे को पूर्ण रूप से समाप्त करने का प्रयास किया जाएगा.

“कूटनीतिक संपर्क और बातचीत के ज़रिए ही टिकाऊ शांति के रास्ते पर बढ़ा जा सकता है.”

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड