यूएन वार्षिक सर्वश्रेष्ठ महिला पुलिस अधिकारी सम्मान - सेनेगल अधिकारी को

1 नवंबर 2019

महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा को रोकने के प्रयासों के लिए 2019 की संयुक्त राष्ट्र सर्वश्रेष्ठ महिला पुलिस अधिकारी का पुरस्कार मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ को मिलने पर शीर्ष पुलिस सलाहकार लुइ कार्रिल्हो का कहना था – वो हम सभी के लिए एक प्रेरणा हैं. इस पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा शुक्रवार, 1 नवंबर को की गई जिसमें मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ विजेता रहीं.

मूलतः सेनेगल राष्ट्रीय पुलिस से संबंध रखने वाली मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ एक ऐसी टास्क फ़ोर्स का नेतृत्व करती हैं जो काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में यौन शोषण और यौन दुर्व्यवहार को रोकने के लिए प्रयासरत है.

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ यूएन महिला पुलिस नैटवर्क का प्रबंधन भी करती हैं जो कामकाजी सहायता, ट्रेनिंग, प्रोफ़ेशनल विकास, आपसी सहयोग व सहायता के लिए महिला पुलिस अधिकारियों को आपस में जोड़ता है.

इस पुरस्कार के लिए संयुक्त राष्ट्र के आठ मिशनों में से 30 महिला पुलिस अधिकारियों को नामांकित किया गया था. चयन समिति ने बहुत सीधे, असरदार और सकारात्मक प्रभाव व परिणाम देने वाली असाधारण सेवा के लिए मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ को चुना गया.  

संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष पुलिस सलाहकार लुई कार्रिल्हो का कहना था, “काँगों लोकतांत्रिक गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र के स्थिरता मिशन में यौन हिंसा के पीड़ितों की यूएन पुलिस महिला नैटवर्क के ज़रिए मदद करके वो बहुत सराहनीय काम कर रही हैं.”

“मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ ने कोंगो राष्ट्रीय पुलिस में भी सामुदायिक नज़रिए वाली पुलिसिंग के लिए अनेक योजनाएँ व कार्यक्रम शुरू किए हैं. असल में मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ इस पुरस्कार और संयुक्त राष्ट्र के मूल्यों की जीती-जागती मूर्ति हैं.”

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ ने इस मौक़े पर कहा कि वो ये पुरस्कार हासिल करने पर बहुत सम्मानित महसूस कर रही हैं, “ये मेले लिए बहुमूल्य है”.

“यौन शोषण और यौन दुराचार को रोकना मेरे लिए, मेरी टीम और मेरे मिशन के लिए प्राथमिकता है.”

“मेरा विश्वास है कि हमारी मेहनत रंग ला रही है.”

उन्होंने बताया कि काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र के स्थिरता मिशन की पुलिस के ख़िलाफ़ इस वर्ष यौन हिंसा का एक भी आरोब दर्ज नहीं हुआ है, “ढिलाई बरतने का तो सवाल ही नहीं है.”

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ का कहना था, “लेकिन हम हमेशा इससे भी अच्छा कर सकते हैं. यौन हिंसा के मामलों को पूरी तरह बंद करने के लिए जो कुछ भी करने की दरकार है, हमें वो करना जारी रखना होगा, साथ ही यौन हिंसा के पीड़ितों को सहायता और समर्थन भी मुहैया करना जारी रखना होगा, जिसकी उन्हें बहुत ज़रूरत होती है.”

संयुक्त राष्ट्र का वार्षिक सर्वश्रेष्ठ महिला पुलिस अधिकारी पुरस्कार 2011 में शुरू किया गया था जिसमें संयुक्त राष्ट्र के शांतिरक्षा अभियानों में महिला पुलिस अधिकारियों के योगदान को सम्मानित किया जाता है. इसका मक़सद महिलाओं के सशक्तिकरण को बढ़ावा देना भी है.

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ का संयुक्त राष्ट्र के अभियानों के साथ लंबा अनुभव रहा है. वो दारफ़ूर में संयुक्त राष्ट्र व अफ्रीकी यूनियन के संयुक्त मिशन (UNAMID)  में भी तैनात रही हैं. माली में संयुक्त राष्ट्र के स्थिरता मिशन (MINUSMA) में भी उन्होंने काम किया है जहाँ उन्होंने दुराचरण और वित्तीय सहायता संबंधी मुद्दों को सुलझाया.

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ ने सेनेगल की राष्ट्रीय पुलिस में 33 वर्षों तक काम किया है.

संयुक्त राष्ट्र के शांतिरक्षा अभियानों में सेनेगल का सबसे बड़ा पुलिस योगदान है जिसके लगभग दस हज़ार पुलिस अधिकारी अंतरराष्ट्रूय शांति और सुरक्षा मिशनों में सेवाएँ दे रहे हैं.

सबसे ज़्यादा महिला पुलिस अधिकारियों का योगदान करने वाले शीर्ष पाँच देशों में भी सेनेगल शामिल है.

फिलहाल लगभग 1400 महिला पुलिस अधिकारी संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में सक्रिय हैं, वर्ष 2028 तक महिला पुलिस अधिकारियों की संख्या को लगभग 30 प्रतिशत तक लाना है.

मेजर सेयनाबोऊ डीयूफ़ को ये पुरस्कार 5 नवंबर को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में प्रदान किया जाएगा. इसी सप्ताह संयुक्त राष्ट्र का 14वाँ वार्षिक पुलिस सप्ताह भी मनाया जा रहा है. इस मौक़े पर अनेक देशों में चलाए जा रहे संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में सक्रिय पुलिस विशेषज्ञ शिरकत करते हैं. इस सम्मेलन में पुलिसिंग के दौरान कार्य प्रदर्शन, आचरण, अनुशासन और मानवाधिकारों का सम्मान करते हुए शांति सुनिश्चित करने संबंधि मुद्दों पर विस्तृत चर्चा करते हैं.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड