हज़ारों सीरियाई लोग असुरक्षा के बीच इराक़ पहुँचने को मजबूर

18 अक्टूबर 2019

संयुक्त राष्ट्र ने शुक्रवार को बताया है कि तुर्की की सेनाओं और सीरिया समर्थित कुर्दिश मिलिटरी के बीच युद्धक गतिविधियाँ रोकने का समझौता होने के बावजूद - सीरिया के उत्तरी हिस्से में तुर्की की सीमा से सटे इलाक़ों में बमबारी और युद्धक झड़पें जारी हैं जिनकी वजह से हज़ारों लोग शांति व सुरक्षा की तलाश में वहाँ से जा रहे हैं.

इस सहमति को कुछ देशों ने युद्धविराम समझौता क़रार देते हुए इसका स्वागत किया तो कुछ ने पाँच दिन के लिए युद्धक गतिविधियों को रोकने पर सहमति कहा है.

ध्यान रहे कि लगभग नौ दिन पहले तुर्की ने देश के दक्षिणी इलाक़ों में सक्रिय कुर्द लड़ाकों के ख़िलाफ़ सैन्य कार्रवाई शुरू की थी. ये इलाक़ा फ़ारस नदी के पूर्व में पड़ता है.

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय सहायता कार्यों में तालमेल करने वाली एजेंसी OCHA के एक पदाधिकारी जैन्स लाएर्के ने बताया कि युद्धविराम की घोषणा के बावजूद रास अल आइन इलाक़े में सुबह को रुक-रुककर बमबारी और झड़पें होने की ख़बरें मिल रही थीं. हालाँकि अन्य इलाक़ों में स्थिति कुछ शांत और बेहतर बताई गई है.

संयुक्त राष्ट्र की विभिन्न एजेंसियों ने जिनीवा में पत्रकारों को ताज़ा स्थिति के बारे में अवगत कराते हुए कहा कि प्रभावित इलाक़ों में बुनियादी सेवाएँ मुहैया कराने की कोशिश की जा रही है, जहाँ-जहाँ भी संयुक्त राष्ट्र और उसकी साझीदार एजेंसियाँ पहुँचने में कामयाब हो रही हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने प्रभावित इलाक़ों में लोगों की ज़रूरतें देखते हुए मानवीय सहायता कार्य और ज़्यादा तेज़ करने की अपील जारी की है.

संगठन के प्रवक्ता तारिक जसारेविक ने बताया कि इस सप्ताह के आरंभ में लगभग 40 टन चिकित्सा सामग्री राजधानी दमिश्क से क़ामिशली के लिए रवानी की गई थी.

लेकिन रास अल आइन और ताल अबयाद इलाक़ों में असुरक्षित हालात की वजह से अस्तपाल बंद पड़े हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन की चिकित्सा आपूर्ति में एक लाख से ज़्यादा इलाज करने वाली और 620 ट्रौमा किट्स शामिल थीं.

ये सामग्री अल हसाकेह, ग्रामीण रक़्क़ा और ग्रामीण दायर एज़ ज़ोर में उपलब्ध कराई जाएंगी.

इस बीच विश्व खाद्य कार्यक्रम ने भी शुक्रवार को घोषणा की है कि अक्टूबर महीने में प्रभावित इलाक़ों में लगभग 5 लाख 80 हज़ार लोगों तक खाद्य सामग्री पहुँचाने की कोशिश की जा रही है. 

विश्व खाद्य कार्यक्रम के प्रवक्ता हार्वे वरहूसेल ने बताया कि एजेंसी ने 9 अक्टूबर के बाद से ही लगभग एक लाख 70 हज़ार लोगों को खाद्य सहायता मुहैया कराई है.

सीरिया के पूर्वोत्तर इलाक़े में लगभग एक लाख 65 हज़ार लोग अपने घरों से दूर हैं और वो अल हसाकेह व रक़्क़ा इलाक़ों में पनाह लेने की कोशिश कर रहे हैं.

उन इलाक़ों में बहुत से लोग शिविरों में रहने के बजाय स्थानीय परिवारों व जान-पहचान वाले लोगों के साथ ठहरना पसंद करते हैं.

 

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड