कोलंबिया में वेनेज़ुएला के बच्चों को मिला नागरिकता अधिकार

6 अगस्त 2019

संयुक्त राष्ट्र प्रवासन एजेंसी (IOM) ने कोलंबिया के उस निर्णय का स्वागत किया है जिसमें वहां जन्म लेने वाले वेनेज़ुएला के 24 हज़ार से ज़्यादा बच्चों को कोलंबिया की नागरिकता का अधिकार दिए जाने की घोषणा की गई है. वेनेज़ुएला में राजनैतिक संकट की वजह से लाखों लोगों ने कोलंबिया में शरण ली हुई है और इस क़दम से उन माता-पिता को राहत मिलने की उम्मीद जताई गई है जिनके बच्चे कोलंबिया में पैदा हुए हैं.  

कोलंबिया में अंतरराष्ट्रीय प्रवासन एजेंसी की प्रमुख एना डुरेन सलवातिएरा ने कहा कि “यह प्रस्ताव नियमित और सुरक्षित प्रवासन की दिशा में एक योगदान है जिससे वेनेज़ुएला के बच्चों के बुनियादी अधिकारों को पहचान मिलनेऔर समाज में उनके एकीकरण में मदद मिलेगी.”

कोलंबियाई राष्ट्रपति इवान दुके ने इस प्रस्ताव की घोषणा की और यह 19 अगस्त 2015 के बाद कोलंबिया में जन्म लेने वाले बच्चों के लिए लागू हो जाएगा.

अभी तक मिली रिपोर्टों के अनुसार इस क़दम से उन बच्चों के लिए कोलंबियाई पासपोर्ट लेने का रास्ता स्पष्ट हो जाएगा और स्वास्थ्य और शिक्षा सुविधाओं तक उनकी पहुंच भी सुनिश्चित की जा सकेगी.

इससे कोलंबिया के भीतर प्रवासियों और शरणार्थियों के बच्चों के सामने मंडराते राष्ट्रविहीनता के संकट से निपटा जा सकेगा.

यूएन एजेंसी ने कहा है कि इस अस्थाई प्रशासनिक क़दम से सरकार ने अंतरराष्ट्रीय संधियों और मानवाधिकारों के प्रति अपने संकल्प को स्पष्ट कर दिया है.

इससे लड़कों और लड़कियों को राष्ट्रीयता के अधिकार की गारंटी मिलेगी चाहे उनका प्रवासी दर्जा कुछ भी हो.

बयान में कहा गया है कि “मुश्किल परिस्थितियों में रह रहे लोगों को राष्ट्रविहीन होने से रोकने में कोलंबिया सरकार योगदान देगी.”

इस प्रस्ताव को लागू करने में यूएन प्रवासन एजेंसी और अमेरिकी ब्यूरो ऑफ़ पॉपुलेशन, रैफ़्यूजीज़ एंड माइग्रेशन कोलंबिया के राष्ट्रीय पंजीकरण कार्यालय को तकनीकी मदद मुहैया कराएगा.

इसके ज़रिए ‘बचपन पहले’ नामक एक मुहिम को बढ़ावा दिया जाएगा जिसके ज़रिए यह बताने का प्रयास किया जाएगा कि इस पहल के लागू होने के बाद लोग किस तरह अपने बच्चों की ओर से मदद ले सकते हैं.

वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति वर्ष 2013 से सत्ता संभाल रहे हैं और देश में तनाव तब बढ़ा जब 10 जनवरी 2019 को उन्होंने अपने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली.

वेनेज़ुएला की नेशनल असेम्बली के प्रमुख ख़्वान ग्वाइदो ने मौजूदा राष्ट्रपति निकोलस मदुरो की वैधानिकता पर सवाल उठाया और नेशनल असेम्बली ने उन्हें ही अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया.

वेनेज़ुएला में राजनैतिक और आर्थिक उठा-पटक का एक बड़ा असर पड़ोसी देश कोलंबिया में भी हुआ है जहां भारी संख्या में प्रवासी और शरणार्थी पहुंच रहे हैं.

कोलंबिया में प्रवासन कार्यालय के अनुसार 30 जून 2019 तक वेनेज़्वेला के 14 लाख नागरिक रह रहे थे.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड