यमन में दुर्गम इलाक़ों में खाद्य सामग्री पहुँचाने में कामयाबी

31 मई 2019

यमन में लगातार गहराते जा रहे मानवीय संकट के हालात में संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम विद्रोहियों के क़ब्ज़े वाले उत्तरी इलाक़े निह्म तक पहुँचने में कामयाबी हासिल की है. यमन में 2015 में हूती विद्रोहियों और सऊदी अरब द्वारा समर्थित सरकारी गठबंधन के बीच गृह युद्ध शुरू होने के बाद से ऐसा पहली बार संभव हो सका है.

चार वर्षों से जारी गृहयुद्ध और हिंसा के दौरान बहुत सारे इलाक़ों में मानवीय सहायता प्रयासों की पहुँच नहीं हो सकी है जिससे बहुत सी आम आबादी को भुखमरी, हैज़ा और गोलाबारी का सामना करना पड़ रहा है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम का कहना है कि इस वजह से बहुत से इलाक़ों में स्थिति बहुत गंभीर हो गई है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम के प्रवक्ता हर्वे वरहूसेल ने जिनेवा में गुरूवार को पत्रकारों को बताया कि ताज़ा प्रयासों के तहत एजेंसी सना गवर्नरेट के नीहम ज़िले में क़रीब 896 परिवारों के पाँच हज़ार लोगों को खाने-पीने के सामान के साथ-साथ अन्य ज़रूरी चीज़ें पहुँचाने में कामयाब हुई है.

उन्होंने बताया कि ये पहला मौक़ा है कि विश्व खाद्य कार्यक्रम और उसके साझीदार संगठन इस्लामिक रिलीफ़ ने सैनिकों की भारी मौजूदगी वाले नीहम में रहने वाले लोगों तक सहायता सामग्री पहुँचाने में कामयाबी हासिल की है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम के अनुसार एक बार में वितरित की गई खाद्य सामग्री दो महीने तक के लिए समुचित होने की उम्मीद है.

दुरायमी शहर तक भी सहायता पहुँची

प्रवक्ता ने बताया कि एजेंसी ने हुदायदाह गवर्नरेट के दुरायमी शहर में भी दुर्गम इलाक़ों में सहायता सामग्री पहुँचाने में कामयाबी हासिल की है.

इस इलाक़े में काफ़ी लंबे समय से लड़ाई हो रही है. ये इलाक़ा युद्धरत पक्षों के बीच लड़ाई का मैदान बना हुआ है लेकिन अब दोनों ही पक्षों ने दुर्गम इलाक़ों में ज़रूरतमंदों तक सहायता सामग्री पहुँचाने में मदद की है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम के प्रवक्ता ने पत्रकारों को बताया कि आमतौर पर सभी परिवारों को दो महीने के लिए काफ़ी होने वाली खाद्य सामग्री उपलब्ध कराई है.

इसमें पानी, साफ़-सफ़ाई का सामान वग़ैरा भी शामिल है जो यूनीसेफ़ और संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष ने उपलब्ध कराए हैं. इन संगठनों ने अन्य खाद्य सहायता में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.

प्रवक्ता ने बताया कि दिसंबर 2018 के बाद से अनेक इलाक़ों में सहायता सामग्री पहुँचाने में कामयाबी मिली है, लेकिन अभी बहुत कुछ किया जाना है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम हर महीने 70 से 80 लाख लोगों तक खाद्य सामग्री पहुँचाने में लगा हुआ था.

जनवरी-फ़रवरी के बाद से हर महीने क़रीब एक करोड़ लोगों तक सहायता पहुँचाने में कामयाबी मिल रही है.

प्रवक्ता ने जल्दी ही हर महीने एक करोड़ 20 लाख लोगों तक सहायता सामग्री पहुँचाने में कामयाबी मिलने की उम्मीद जताई है.

विश्व खाद्य कार्यक्रम अपने साझीदार संगठन इस्लामिक रिलीफ़ के साथ दुर्गम इलाक़ों तक सहायता सामग्री पहुँचाने की कोशिश में लगा हुआ है.

इसके लिए संगठन अन्य एजेंसियों के साथ भी मिलकर काम कर रहा है.  

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड