टिकाऊ विकास एजेंडे को गति देंगे छह नए पैरोकार

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के नए हिमायती.
UN SDGs
टिकाऊ विकास लक्ष्यों के नए हिमायती.

टिकाऊ विकास एजेंडे को गति देंगे छह नए पैरोकार

एसडीजी

टिकाऊ विकास से जुड़े 2030 एजेंडा के महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को हासिल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र और साझेदार संगठन दुनिया भर में व्यापक पैमाने पर प्रयास कर रहे हैं. इसी कड़ी में छह नई हस्तियों को टिकाऊ विकास लक्ष्यों के पैरोकारों के तौर पर चुना गया है जिनमें भारतीय अभिनेत्री दिया मिर्ज़ा भी शामिल हैं.

टिकाऊ विकास के कुल 17 लक्ष्य हैं जिनका उद्देश्य भुखमरी, ग़रीबी को समाप्त करना और सभी के लिए गुणवत्तापरक शिक्षा और स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना है. साध ही जलवायु परिवर्तन, प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण. अच्छे और उपयुक्त कार्य और महिला समानता जैसे विषयों पर भी ध्यान केंद्रित किया गया है.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा कि, “जलवायु परिवर्तन, पर्यावरणीय दबाव, ग़रीबी और असमानता ने जिन प्रश्नों को हमारे सामने रखा है, हमारे पास उनका जवाब देने के साधन मौजूद हैं. और वे 2015 में हुए बड़े समझौतों में निहित हैं – टिकाऊ विकास के लिए 2030 एजेंडा और जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौता.”

“लेकिन अगर साधनों का इस्तेमाल ही नहीं किया जाए तो फिर उनके होने का कोई मतलब नहीं है. इसलिए, आज, कल, और हर दिन, मेरी स्पष्ट और आसान अपील है. हमें कार्रवाई, महत्वाकांक्षा और राजनीतिक इच्छाशक्ति की आवश्यकता है.”

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के लिए ये एडवोकेट्स या पैरोकार विविध पृष्ठभूमियों और क्षेत्र से आते हैं. ये हस्तियां सरकार, मनोरंजन, शिक्षा, खेल, व्यवसाय और सामाजिक संगठनों से जुडी हैं.

नए हिमायतियों के ज़रिए 17 लक्ष्यों को पाने की दिशा में प्रगति को तेज़ किए जाने का प्रयास होगा. इन छह नए पैरोकारों के नाम की घोषणा हुई है:

  • महामहिम मुहम्मदु सानुसी द्वितीय, कानो के अमीर (नाइजीरिया)
  • हिन्डाउ ओमारू इब्राहिम, मूल निवासियों के अधिकार और पर्यावरण कार्यकर्ता (चाड)
  • दिया मिर्ज़ा, अभिनेत्री और फ़िल्म निर्माता, संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की सद्भावना दूत (भारत)
  • एडवर्ड न्डोपू, संस्थापक, ग्लोबल स्ट्रैटेजीज़ ऑन इन्क्लुसिव एजुकेशन (दक्षिण अफ़्रीका)
  • नादिया मुराद, नोबेल पुरस्कार विजेता, चेयर एंड प्रेसिडेंट, नादियाज़ इनिशिएटिव, मादक पदार्थ एवं अपराध पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNODC) की सद्भावना दूत (इराक़)
  • मार्ता बिएरा दा सिल्वा (फ़ुटबॉलर, ओरलैन्डो प्राइड), संयुक्त राष्ट्र महिला संस्था की सद्भावना दूत (ब्राज़ील)

सभी को मिलाकर यह 17 हस्तियों का एक प्रभावशाली समूह है जिनका दायित्व जागरूकता फैलाना, महत्वाकांक्षी कार्रवाई के लिए प्रेरित करना, और टिकाऊ विकास लक्ष्यों पर तेज़ कार्रवाई के लिए वकालत करना है.

एसडीजी एडवोकेट्स ग्रुप की उपप्रमुख और नॉर्वे की प्रधानमंत्री एमा सोल्बर्ग ने कहा “इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए एक साथ आकर, हम आशा को वास्तविकता में बदल में सकते हैं – और किसी को भी पीछे न छूटने देंगे.”

एसडीजी एडवोकेट्स ग्रुप के उपप्रमुख और घाना के राष्ट्रपति नाना अड्डो डांक्वा अकूफ़ो-अड्डो ने भरोसा जताया कि इन लक्ष्यो को पाने की दिशा में प्रगति संभव है.  

“दुनिया के लिए यह बड़ी आशा भरा समय है. अगर हम होशियारी से एक साथ काम करें और इस रास्ते पर चलें तो हम लाखों लोगों को ग़रीबी से निकाल सकते हैं और 2030 एजेंडे में निर्धारित आख़िरी तारीख़ तक कई लोगों तक बुनियादी सामाजिक सेवाओं को बड़े पैमाने पर पहुंचा सकते हैं.”

महासचिव गुटेरेश ने एसडीजी एडवोकेट्स ग्रुप के कुछ पुराने सदस्यों को बतौर एसडीजी एडवोकेट एलुम्नाई नियुक्त किया है.