यूएन प्रमुख ने ग़ाज़ा-इसराइल सीमा पर हिंसा की कड़ी निंदा की

5 मई 2019

ग़ाज़ा और इसराइल की सीमा पर जारी तनाव और घटनाक्रम पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश करीबी नज़र रखे हुए हैं और उन्होंने सभी पक्षों से अधिकतम संयम बरते जाने की अपील की है. क़ब्ज़े वाले फ़लस्तीनी इलाक़ों से दक्षिणी इसराइल में सैकड़ों रॉकेट दागे गए हैं जिसके जवाब इसराइल ने हवाई हमले किए और टैकों से गोलाबारी की है. यूएन महासचिव ने हिंसा की कड़े शब्दों में निंदा की है. 

समाचार रिपोर्टों के मुताबिक़ हिंसा के चलते कई महिलाएं, बच्चों और पुरुषों की मौत हुई है. 

रमज़ान के पवित्र महीने से ठीक पहले टकराव बढ़ने और हिंसा में लोगों की जान जाने की महासचिव गुटेरेश ने दुख प्रकट किया है. रविवार को जारी बयान में उन्होंने ग़ाज़ा से रॉकेट हमले किए जाने और इसराइल में रिहायशी इलाक़ों और आम नागरिकों को निशाना बनाए जाने की कड़ी निंदा की है. 

यूएन प्रमुख ने सभी पक्षों से अधिकतम संयम बरते जाने, टकराव कम करने और पिछले कुछ महीनों में बनी सहमति पर लौटने का आग्रह किया है. उल्लेखनीय है कि मिस्र की मध्यस्थता में और संयुक्त राष्ट्र के समर्थन से हाल ही में एक नाज़ुक संघर्ष विराम पर सहमति बनी थी. 

इससे पहले शनिवार को मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया के लिए विशेष संयुक्त राष्ट्र समन्वयक निकोलाय म्लादेनोफ़ ने ग़ाज़ा में फिर से ख़तरनाक ढंग से हिंसा भड़कने और लोगों की जान जाने पर चिंता जताई.

विशेष समन्वयक म्लादेनोफ़ ने कहा, “मेरी संवेदनाएं और प्रार्थना मारे गए लोगों के परिजनों और मित्रों के साथ हैं और मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.”

ग़ाज़ा में रोज़मर्रा की वस्तुओं और ज़रूरी सेवाओं की भारी किल्लत है जिसकी मुख्य वजह पिछले एक दशक से सड़क, वायु और जल मार्ग की इसराइल द्वारा की गई नाक़ेबंदी है. इसके विरोध में फ़लस्तीनी जनता प्रदर्शन करती रही है. हिंसा के चलते पिछले एक साल में 200 फ़लस्तीनियों की मौत हो चुकी है और 1,300 से ज़्यादा घायल हुए हैं. 

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड