'बारूदी सुरंगों को खेल के मैदानों' में बदलने की मुहिम

4 अप्रैल 2019

2030 के टिकाऊ विकास एजेंडे को पूरा करने के रास्ते से हर हाल में बारूदी सुरंगों, विस्फोटकों और कामचलाऊ विस्फोटक उपकरणों (आईईडी) की सफ़ाई की जानी चाहिए. 'अंतरराष्ट्रीय बारूदी सुरंग जागरूकता दिवस' पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि हर व्यक्ति को सुरक्षित रहने का अधिकार है और कदम आगे बढ़ाते समय जान का जोखिम नहीं होना चाहिए.

हिंसक संघर्षों और युद्धों के दौरान बिछाई गई बारूदी सुरंगों और विस्फोटकों से लड़ाई ख़त्म होने के सालों बाद भी आम नागरिकों, शांतिरक्षकों और मानवीय राहत कर्मचारियों को जान का जोखिम बना रहता है.

यूएन महासचिव ने कहा कि 20 साल से ज़्यादा समय से ‘यूनाइटेड नेशन्स माइन एक्शन सर्विस (UNMAS)’ या 'संयुक्त राष्ट्र की बारूदी सुरंग कार्रवाई सेवा' इन ख़तरों से प्रभावित लोगों की ज़रूरतों को ध्यान में रखकर काम कर रही है. 2019 के अंतरराष्ट्रीय दिवस की विषय वस्तु “सुरक्षित मैदान, सुरक्षित घर” है.

“इस साल, संयुक्त राष्ट्र ने एक नई रणनीति और मुहिम शुरू की है -- ‘सुरक्षित मैदान’ – ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोई व्यक्ति, कोई देश, और कोई युद्धग्रस्त क्षेत्र पीछे न छूटे. इस वैश्विक मुहिम के ज़रिए हमारा उद्देश्य है कि बारूदी सुरंगों को खेल के मैदानों में तब्दील कर दिया जाए और सशस्त्र संघर्षों के पीड़ितों के लिए ज़रूरी संसाधन जुटाए जाएं.”

बारूदी सुरंगों से निपटने के लिए रास्तों और मैदानों से विस्फोटकों को हटाया जाता है जिसके बाद ही वहां नए घर बनाना या क्षतिग्रस्त घरों का पुनर्निर्माण करना संभव हो पाता है. साथ ही बारूदी सुरंगों से निपटने के तरीक़ों के प्रति जागरूकता फैलाकर लोगों की सुरक्षा को भी सुनिश्चित किया जाता है.

यूएन प्रमुख ने बारूदी सुरंगों से निपटने के लिए सभी सदस्य देशों से राजनीतिक और वित्तीय समर्थन मुहैया कराने की अपील की. संयुक्त राष्ट्र का आग्रह रहा है कि जिन देशों में युद्धकाल के दौरान बिछाई गई बारूदी सुरंगों या विस्फोटकों से लोगों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को गंभीर ख़तरा हैं उनकी वहां से तत्काल सफ़ाई होनी चाहिए. इस कार्य में संयुक्त राष्ट्र और संबंधित संगठन ज़रूरी मदद मुहैया कराने के लिए तैयार हैं.

बारूदी सुरंग से निपटने की कार्रवाई में जुटे सभी कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए महासचिव गुटेरेश ने कहा, “मैं उन सभी पुरुषों और महिलाओं का आभार प्रकट करता हूं जो इस अहम काम को आगे बढ़ाने में असाधारण साहस का परिचय देते हैं, कदम दर कदम. “

8 दिसंबर 2005 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने हर साल 4 अप्रैल को ‘बारुदी सुरंग के प्रति जागरूकता एवं बारुदी सुरंग कार्रवाई में सहायता का अंतरराष्ट्रीय दिवस’ मनाने की घोषणा की थी.

यूएन कार्रवाई सेवा का काम मुख्य रूप से लोगों की जान बचाने, यूएन मिशनों की तैनाती और मानवीय सहायता प्रदान करने, घरेलू विस्थापितों और शरणार्थियों की स्वैच्छिक वापसी और अंतरराष्ट्रीय मानवीय और मानवाधिकार क़ानूनों की वकालत जैसे विषयों पर केंद्रित है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड