विमान दुर्घटना में मारे गए यूएन कर्मचारियों के 'सेवा भाव' को कायम रखने की अपील

11 मार्च 2019

इथियोपिया में एक विमान दुर्घटना में  150 से ज़्यादा लोगों के मारे जाने के बाद दुनिया भर से शोक संदेश मिल रहे हैं और उन्हें श्रृद्धांजलियां दी जा रही हैं. मृतकों के सम्मान में संयुक्त राष्ट्र कार्यालयों में यूएन ध्वजों को आधा झुका दिया गया है. विमान हादसे में कम से कम 21 संयुक्त राष्ट्र कर्मचारियों की मौत हुई है.

सोमवार को न्यूयॉर्क में 'कमीशन ऑन द स्टेट्स ऑफ़ वीमेन' या महिलाओं की स्थिति पर आयोग के उद्घाटन सत्र में प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा कि "दुनिया में बहुत लोगों के लिए यह एक दुखद दिन है, विशेषकर संयुक्त राष्ट्र के लिए."

मृतकों के परिजनों को अपने शोक संदेश में उन्होंने कहा कि "एक वैश्विक त्रासदी हमारे बेहद नज़दीक हुई है और संयुक्त राष्ट्र इस शोक में एकजुट है."

"हमारे महिला और पुरुष साथी, नए और अनुभवी सहयोगी, दुनिया के हर कोने से आते थे और अलग-अलग क्षेत्रों में ज्ञान के धनी थे. उन सबमें एक बात समान थी और वो यह कि उनमें  लोगों की सेवा करने का भाव था और वे दुनिया को बेहतर बनाना चाहते थे."

"आइए हम उसी सेवा भाव को जीवित रखकर अपने साथियों की स्मृति का सम्मान करें." इसके बाद सभी सदस्यों ने मृतकों की याद में एक मिनट का मौन रखा. 

संयुक्त राष्ट्र महासभा की अध्यक्ष मारिया फ़र्नान्डा एस्पिनोसा ने ट्विटर पर अपने संदेश में कहा कि इस हादसे में मारे गए लोगों के प्रियजनों के दुख की इस घड़ी में वह उनके साथ हैं. 

'दुखद और स्तब्धकारी'

इथियोपियन एयरलाइन का यह विमान आदिस अबाबा से नैरोबी जा रहा था. नैरोबी में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय की कार्यवाहक महानिदेशक मैमूना मोहम्मद शरीफ़ ने बताया कि इस घटना से उन्हें बेहद दुख और सदमा पहुंचा है.

UN Nairobi/Tirus Wainaina
नैरोबी में यूएन स्टाफ़ ने मृतकों की याद में एक मिनट का मौन रखा.

"संयुक्त राष्ट्र् और सदस्य देशों को गहरी क्षति हुई है. हम और जानकारी प्राप्त करने के लिए प्रशासन के साथ काम कर रहे हैं. इतनी ज़्यादा संख्या में लोगों के मारे जाने का शोक मना रहे लोगों के दुख में हम शामिल है." नैरोबी में मृतकों के सम्मान में एक मिनट का मौन रखा गया. 

जिनिवा में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय में भी मृतकों को श्रृद्धांजलि दी गई जहां महानिदेशक माइकल मोलेर ने कहा कि इस ख़बर से वह स्तब्ध हैं. 

इथियोपियन एयरलाइन की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार हादसे में 35 से ज़्यादा देशों के नागरिक मारे गए हैं. केन्या के 32 नागरिक, कनाडा के 18 और इधियोपिया के 9 नागरिक इस हादसे का शिकार हुए. 

केन्या में संयुक्त राष्ट्र बचाव एवं सुरक्षा विभाग ने बताया कि हादसे में कम से कम 21 संयुक्त राष्ट्र कर्मचारियों की मौत हुई है. विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के सात, यूएन शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) के दो, अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) के दो, और खाद्य एवं कृषि संगठन (UNFAO), अंतरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन (IOM), विश्व बैंक (World Bank), सोमालिया में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन (UNSOM) के एक-एक कर्मचारी इस हादसे में मारे गए हैं.  

रविवार को स्थानीय समयानुसार सुबह 8.44 बजे उड़ान भरने के कुछ ही मिनट बाद विमान का संपर्क टूट गया और वो दुर्घटना का शिकार हो गया.  इथियोपियन एयरलाइन ने अपने बयान में जानकारी दी कि विमान दुर्घटना में चालक दल के 8 सदस्यों के अलावा 149 यात्रियों की मौत हो गई.

इथियोपिया में सोमवार को राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया गया. जांचकर्ताओं ने कहा है कि विमान का ब्लैक बॉक्स मिल गया है. यह दूसरी बार है जब नए बोइंग-737 मैक्स-8 मॉडल का विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है. कुछ ही महीने पहले इंडोनेशिया में लायन एयर का विमान हादसे का शिकार हुआ था.

मीडिया में ख़बरों के अनुसार चीन ने घोषणा की है कि 90 मैक्स-8 विमानों के उड़ान भरने पर रोक लगा दी गई है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड