यूएन महासभा: 75वाँ सत्र
यूएन महासभा के 75वें सत्र से सम्बन्धित सामग्री...

2020 में संयुक्त राष्ट्र की स्थापना को 75 वर्ष पूरे हो चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा का वार्षिक सितम्बर में होता है और वर्ष 2020 का ये 75वाँ सत्र कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में पहली बार वर्चुअल हो रहा है. इस ऐतिहासिक सत्र में वैश्विक महामारी, जलवायु संकट और बढ़ती असमानता के परिप्रेक्ष्य  में, दुनिया भर के नेता, वर्तमान चुनौतियों से निपटने के लिये वर्चुअल चर्चा में भाग लेंगे. यूएन महासभा के 75वें सत्र से जुड़ी कुछ सामग्री यहाँ संकलित है...

महासभा में अमेरिकी राष्ट्रपति, डॉनल्ड ट्रम्प का वीडियो सन्देश

कोविड-19 महामारी के कारण अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प का यूएन महासभा के 75वें सत्र की जनरल डिबेट को वीडियो सन्देश.

75वाँ सत्र: सऊदी शाह ने कोविड-19 महामारी पर जवाबी कार्रवाई में योगदान को रेखांकित किया

सऊदी अरब ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के विनाशकारी प्रभावों से जूझ रहे देशों की मदद और वैश्विक स्तर पर जवाबी कार्रवाई को मज़बूती देने के अपने प्रयास जारी रखे हैं. शाह सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल-सऊद ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के लिये रिकॉर्ड किये गए वीडियो सन्देश में बुधवार को यह बात कही है. 

75वाँ सत्र: पुतिन ने कहा, 'इतिहास से मिले सबक को नज़रअन्दाज़' करना अदूरदर्शिता

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को यूएन महासभा के 75वें सत्र में वार्षिक जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से गम्भीर मुद्दों पर सहयोग मज़बूत करने का आहवान किया. साथ ही, उन्होंने संयुक्त राष्ट्र की उपलब्धियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि संगठन ने चार्टर का पालन करते हुए, युद्ध के बाद शान्ति सुनिश्चित करने में अहम भूमिका निभाई है. 

75वाँ सत्र: फ्राँस का बहुपक्षीय प्रणाली को पुनर्जीवित करने पर ज़ोर

फ्राँस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्राँ ने संयुक्त राष्ट्र की 75वीं महासभा की वार्षिक उच्च स्तरीय बहस के दौरान मंगलवार को ज़ोर देकर कहा कि कोरोनोवायरस महामारी से निपटने के लिये राष्ट्रों के बीच सहयोग बेहद ज़रूरी है. उन्होंने कहा कि महामारी को संयुक्त राष्ट्र को जगाने के लिये एक "बिजली के झटके" की तरह के अवसर के रूप में देखा जाना चाहिये. 

PHOTOS FROM UNGA 75