यूएन महासभा: 75वाँ सत्र
यूएन महासभा के 75वें सत्र से सम्बन्धित सामग्री...

2020 में संयुक्त राष्ट्र की स्थापना को 75 वर्ष पूरे हो चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा का वार्षिक सितम्बर में होता है और वर्ष 2020 का ये 75वाँ सत्र कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में पहली बार वर्चुअल हो रहा है. इस ऐतिहासिक सत्र में वैश्विक महामारी, जलवायु संकट और बढ़ती असमानता के परिप्रेक्ष्य  में, दुनिया भर के नेता, वर्तमान चुनौतियों से निपटने के लिये वर्चुअल चर्चा में भाग लेंगे. यूएन महासभा के 75वें सत्र से जुड़ी कुछ सामग्री यहाँ संकलित है...

कोविड-19: किफ़ायती वैक्सीन ‘सर्वजन को उपलब्ध करानी होगी’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोविड-19 से निपटा जाना अब भी वैश्विक चुनौतियों के एजेण्डे में सर्वोपरि है जिसके तहत एक असरदार व किफ़ायती वैक्सीन का विकसित होना और सभी के लिये उपलब्ध होना इस लड़ाई का अहम हिस्सा है. यूएन प्रमुख ने महासभा के 75वें सत्र में होने वाले उच्चस्तरीय सप्ताह से पहले एक प्रैस वार्ता को सम्बोधित करते हुए बताया कि कोविड-19 महामारी अब भी नियन्त्रण से बाहर है और दुनिया एक बेहद गम्भीर चरण का सामना कर रही है. 

यूएन महासभा: ‘बहुपक्षवाद की आवश्यकता’ को रेखांकित करता 75वाँ सत्र शुरू

संयुक्त राष्ट्र महासभा का 75वाँ सत्र सोमवार, 15 सितम्बर को शुरू हो गया है जिसमें विश्व के सामने मौजूद कोविड महामारी की अभूतपूर्व चुनौती के मद्देनज़र, एक क्षण का मौन रखा गया. इस अवसर पर महासभा के नए अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर ने कहा कि कोरोनोवायरस ने हमें ये समझने पर मजबूर कर दिया है कि "हमारी सामूहिक चुनौतियों का सामना करने के लिये" बहुपक्षवाद कितना आवश्यक है.

PHOTOS FROM UNGA 75