नवीनतम समाचार

ILO: कोविड-19 महामारी के प्रभावों से युवा कामगार सर्वाधिक प्रभावित

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने गुरूवार को कहा है कि इस वर्ष रोज़गार व आमदनी वाला कामकाज नहीं पा सकने वाले युवजन की संख्या सात करोड़ 30 लाख तक पहुँचने का अनुमान है, जोकि कोविड-19 से पहले के हालात से पूरे साठ लाख ज़्यादा संख्या है.

संघर्ष प्रभावित बच्चों की शिक्षा के लिये इन्तज़ार नहीं किया जा सकता

आपात स्थिति और लम्बे समय तक चलने वाले संकटों के दौरान, शिक्षा के लिये संयुक्त राष्ट्र कोष, ‘एजुकेशन कैन नॉट वेट (ECW)’ के ज़रिये, इथियोपिया से लेकर चाड और फ़लस्तीन तक, दुनिया भर में संघर्ष से प्रभावित लाखों लड़कों और लड़कियों के सपने पूरे करने में मदद की जा रही है.

विकासशील देशों में डिजिटल मुद्रा – cryptocurrency पर रोक लगाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के व्यापर और विकास संगठन – UNCTAD ने बुधवार को प्रकाशित तीन नीति पत्रों में, विकासशील देशों में डिजिटल मुद्रा – क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) पर रोक लगाने के लिये कार्रवाई किये जाने की पुकार लगाई है.

ईजियन सागर में नाव डूबने से अनेक लोग लापता

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी मामलों की एजेंसी – UNHCR ने कहा है कि ग्रीस के निकट ईजियन सागर में बुधवार को प्रवासियों और शरणार्थियों से भरी एक नाव लापता है जिसमें सवार अनेक लोग लापता हैं.

WHO: व्यक्तियों और समाज के लाभ के लिये मस्तिष्क स्वास्थ्य का पूर्ण अवलोकन ज़रूरी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने मनुष्य के जीवन काल में मस्तिष्क स्वास्थ्य के अनुकूलन पर अपना पहला स्थिति पत्र जारी करते हुए कहा है कि जीवन में कभी न कभी, तीन में से एक व्यक्ति, किसी न किसी प्रकार के स्नायु-तंत्रिका विकार का शिकार होते हैं, जोकि विकलांगता का प्रमुख कारण और मृत्यु का दूसरा बड़ा कारण है.

परमाणु मुक्त मंगोलिया, ‘एक समस्याग्रस्त दुनिया में शान्ति का प्रतीक’, यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को मंगोलिया की यात्रा के दौरान, देश के लिये इस विश्व संगठन की ठोस एकजुटता रेखांकित की है और देश को, “समस्याओं का सामना कर रही एक दुनिया में शान्ति का प्रतीक”क़रार दिया है.

म्याँमार: मानवता के विरुद्ध अपराध, व्यवस्थागत ढंग से जारी, यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र की मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि म्याँमार में व्यवस्थागत तरीक़े से मानवता के विरुद्ध अपराधों को अंजाम देना जारी है और मौजूदा संघर्षों में, महिलाएँ और बच्चे सबसे ज़्यादा प्रभावित हो रहे हैं.

श्रीलंका में गम्भीर खाद्य असुरक्षा से निपटने के लिये, 6.3 करोड़ डॉलर की अपील

श्रीलंका आर्थिक संकट की चपेट में है, जिससे लाखों लोग पर्याप्त भोजन, ईंधन, दवाओं और अन्य आवश्यक चीजें ख़रीदने में असमर्थ हैं. 63 लाख लोग खाद्य-असुरक्षा के शिकार हैं, 67 लाख लोग पोषक आहार नहीं ले पा रहे हैं और इस संकट के और गहराने की सम्भावना है. श्रीलंका में विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) 34 लाख लोगों को आपातकालीन खाद्य सामग्री, पोषण और स्कूली भोजन प्रदान करने के प्रयासों में लगा है. यूएन न्यूज़ ने श्रीलंका में विश्व खाद्य कार्यक्रम के देश निदेशक, अब्दुर रहीम सिद्दीक़ी के साथ विस्तार से बातचीत करके, स्थिति की गम्भीरता का जायज़ा लिया.

पारम्परिक ज्ञान को संरक्षित रखने में आदिवासी महिलाओं के योगदान का जश्न

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने आदिवासी महिलाओं की आवाज़ बुलन्द करने का आहवान किया है, जो सर्वजन की ख़ातिर एक निष्पक्ष व न्यायपूर्ण भविष्य प्राप्ति के लिये महत्वपूर्ण है.

गर्मी, सूखा और जंगली आगों के साथ, जुलाई अभी तक की सबसे गर्म जुलाई, WMO

संयुक्त राष्ट्र के विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO) ने मंगलवार को कहा है कि हाल ही में बीता जुलाई महीना, अत्यधिक चरम गर्मी, सूखा और जंगली आगों के साथ, दुनिया के अनेक हिस्सों में, रिकॉर्ड में दर्ज सर्वाधिक गर्म जुलाई महीनों में से एक रहा है.