यूएन मामले

कोविड-19: 'इम्यूनिटी पासपोर्ट' की धारणा अभी सबूत आधारित नहीं

विश्व स्वास्थ्य संगठन चेतावनी देते हुए कहा है कि इन धारणाओं के सही साबित होने के कोई सबूत नहीं हैं कि जो लोग कोविड-19 के संक्रमण से उबर गए हैं और जिनके शरीर में इस वायरस की प्रतिरोधी क्षमता यानी एंटीबॉडीज़ मौजूद हैं, वो इस वायरस के फिर से संक्रमण होने से महफ़ूज़ हैं.

MedMon बनाने वाली स्वाति

फ़ोर्ब्स प्रकाशन रचनात्मक व साहसिक मस्तिष्कों के धनी ऐसे युवाओं को सम्मानित करता है जो ख़ुद की महारत वाले क्षेत्रों में नई इबारत लिखते हैं. WHO में एक तकनीकी अधिकारी स्वाति आयंगर ने भी MedMon उपकरण बनाकर एक ऐसा करिश्मा कर दिखाया है. ख़ास बातचीत यूएन न्यूज़ हिन्दी ने उनसे जानना चाहा कि ये उपकरण बनाने का विचार कैसे आया...

कोविड-19 संकट से अंतरराष्ट्रीय सहयोग के लिए समर्थन बढ़ा

180 से ज़्यादा देशों से मिले ऑंकड़े दर्शाते हैं कि आम जनता में अंतरराष्ट्रीय सहयोग के लिए भारी समर्थन है – विश्व भर में कोविड-19 महामारी फैलने के बाद से इस समर्थन में और ज़्यादा बढ़ोत्तरी हुई है. लोगों की राय उनके साथ संवाद व ऑनलाइन सर्वेक्षण के ज़रिए एकत्र की गई है जो संयुक्त राष्ट्र की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ पर शुरू की गई मुहिम (यूएन-75) का हिस्सा है.

कोविड-19: बच्चों को जोखिमों से बचाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि कोरोनावायरस महामारी के कारण करोड़ों बच्चे कई तरह के ख़तरों में फँस गए हैं. उनकी औपचारिक शिक्षा बाधित हुई है तो घरों तक सीमित रहने के कारण घरेलू हिंसा के शिकार और असहाय दर्शक बनने को मजबूर हैं. साथ ही इंटरनेट ने भी उनकी सुरक्षा को अलग तरह से ख़तरे में डाल दिया है. वीडियो संदेश...

'Misinfo-demic': ख़तरे की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि ऐसे समय जब दुनिया घातक विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 से जूझ रही है, और लोगों की ज़िंदगियाँ बचाने के लिए स्पष्ट तथ्यों की तलाश जारी है, उस समय मिस-इन्फ़ोडेमिक (Misinfo-demic) भी फैल रही है. भरोसे की वैक्सीन है इसका सटीक इलाज. वीडियो संदेश...

यूएन महासभा: कोविड-19 संकट के दौरान भी दुनिया के 'टाउनहॉल' में कामकाज जारी

कोविड-19 से बचाव के लिए जारी स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के कारण भले ही ऐसा प्रतीत होता हो कि पूरी दुनिया में तालाबंदी लागू हो गई है, लेकिन न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में दुनिया के ‘टाउनहॉल’ यानी यूएन महासभा में कामकाज कुछ बदलावों के साथ निर्बाध रूप से जारी है. यह कहना है संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष की ‘शैफ़ द कैबिने’ यानी कैबिनेट चीफ़ मारी स्काए का, जिन्होंने यूएन न्यूज़ को बताया कि कोविड-19 के कारण यूएन महासभा के कामकाज और प्रक्रियाओं में किस तरह से बदलाव आए हैं. 

कोविड-19: यूएन ने न्यूयॉर्क सिटी को दिए ढाई लाख फ़ेस मास्क

संयुक्त राष्ट्र ने न्यूयॉर्क सिटी में काम कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों को कोविड-19 के संकट का मुक़ाबला करने के प्रयासों के तहत सुरक्षा के लिए ढाई लाख फ़ेस मास्क दान किए हैं.  न्यूयॉर्क सिटी में ही संयुक्त राष्ट्र का मुख्यालय स्थित है. महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार को ये घोषणा की और ये फ़ेस मास्क शनिवार को ही न्यूयॉर्क के मेयर को सौंप दिए गए हैं. 

कोविड-19 संकट के बावजूद संयुक्त राष्ट्र का मुख्य कामकाज जारी

संयुक्त राष्ट्र के चार प्रमुख अंगों के अध्यक्षों ने सदस्य देशों को भरोसा दिलाते हुए कह है कि कि कोविड-19 महामारी ने संयुक्त राष्ट्र को भी काम करने के नए तरीक़े अपनाने पर मजबूर कर दिया है, इसके बावजूद दुनिया भर में संगठन के महत्वपूर्ण कार्य बिना रुके जारी हैं. इन अध्यक्षों ने शुक्रवार को ऑनलाइन के ज़रिए सदस्य देशों के प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान ये बात कही.

वैश्विक युद्धविराम की अपील

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कोविड-19 के विश्व व्यापी ख़तरे को देखते हुए दुनिया भर में किसी भी तरह के लड़ाई-झगड़ों और युद्धक गतिविधियों को तुरंत रोककर वैश्विक युद्धविराम लागू करने की अपील की है. एक वीडियो संदेश में उन्होंने इस महामारी को पूरी मानव जाति की असल चुनौती बताया...

कोविड-19: दुनिया भर में लड़ाई ख़त्म करके महामारी के ख़िलाफ़ मोर्चा खोलने की अपील

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने दुनिया भर में किसी भी स्थान पर जारी संघर्ष या युद्ध में शामिल पक्षों से अपील की है कि वो अपने हथियार डाल दें ताकि विश्व के सामने दरपेश एक ज़्यादा बड़ी चुनौती कोविड-19 का मुक़ाबला करने में उनका सहयोग काम आ सके. सोमवार को जारी इस अपील में उन्होंने कहा कि कोविड-19 एक ऐसा दुश्मन है जिसने पूरी मानवता के लिए ख़तरा पैदा कर दिया है.