यूएन मामले

75वाँ सत्र: बहुपक्षवाद के लिये नई सामूहिक प्रतिबद्धता की ज़रूरत - महासभा अध्यक्ष

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष वोल्कान बोज़किर ने मंगलवार को जनरल डिबेट की शुरुआत करते हुए कहा है कि कोविड-19 महामारी ने विश्व नेताओं को भले ही न्यूयॉर्क स्थित महासभा को निजी रूप में सम्बोधित करने से रोक दिया हो, मगर आपसी बातचीत व चर्चा की “पहले कहीं से कहीं ज़्यादा ज़रूरत है”. 

महासभा 75वाँ सत्र: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा, शक्ति के ज़रिये शान्ति का प्रसार

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र को सम्बोधित करते हुए अमेरिका की सैन्य शक्ति की सराहना करते हुए कहा है कि उनका देश शान्ति क़ायम करने की अपनी नियति को पूर्ण कर रहा है लेकिन इस शान्ति का स्रोत शक्ति है. 

महासभा सत्र: कोविड-19 भावी चुनौतियों की आहट-वैश्विक एकजुटता का आहवान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार को यूएन महासभा के ऐतिहासिक और अभूतपूर्व 75वें सत्र को सम्बोधित करते हुए विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 पर क़ाबू पाने के लिये वैश्विक एकजुटता की अपील की है, और महामारी के दौरान वैश्विक युद्धविराम की अपील दोहराई है.  साथ ही उन्होंने बदलती दुनिया के अनुरूप वैश्विक संस्थाओं में परिवर्तन करने और बहुपक्षवाद को बढ़ावा देने की पुकार लगाई है. 

यूएन75: उपलब्धियाँ व प्रासंगिकता

वर्ष 1945 में स्थापित संयुक्त राष्ट्र ने 2020 में 75वीं वर्षगाँठ मनाई. इस तीन चौथाई शताब्दी के दौरान इस विश्व संगठन ने अनेक चुनौतियों का सामना किया, अनेक उपलब्धियाँ हासिल कीं और सभी के लिये उपयुक्त भविष्य बनाने के मिशन पर काम किया है. संयुक्त राष्ट्र की महत्ता और प्रासंगिकता पर नज़र डालती एक फ़िल्म...

नेशन्स यूनाइटेड: 'आपदा दौर के लिये आपदा समाधान'

वर्ष 2020 में संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगाँठ मनाई गई. इस अवसर पर वैश्विक संवाद शुरू करने के साथ-साथ, अतीत की उपलब्धियों से सबक़ सीखने और भविष्य की चुनौतियों के लिये कमर कसने पर भी ज़ोर दिया गया. यूएन की ज़िम्मेदारियों पर नज़र डालती एक फ़िल्म - "नेशन्स यूनाइटेड - असाधारण समय के लिये असाधारण समाधान..."

यूएन महासभा का 75वाँ सत्र शुरू

संयुक्त राष्ट्र महासभा का 75वाँ वार्षिक सत्र ऐतिहासिक कोविड संकट के बीच शुरू हो गया है. नए अध्यक्ष के रूप में वोल्कान बोज़किर ने निवर्तमान अध्यक्ष तिजानी मोहम्मद-बाँडे से बागडोर संभाली. इस बार महासभा का स्वरूप थोड़ा अलग यानि वर्चुअल होगा और सभी जगह कोविड-19 महामारी के कारण मास्क, सामाजिक दूरी जैसे सुरक्षा उपाय दिखेंगे. साथ ही पहली बार, देशों के नेता वीडियो द्वारा उच्च-स्तरीय बहस को सम्बोधित करेंगे. 

एकजुटता से ही गम्भीर चुनौतियों का समाधान सम्भव-यूएन प्रमुख

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र की पूर्व संध्या पर, दुनिया के सामने मौजूद चुनौतियों और बहुपक्षवाद के माध्यम से उनके समाधानों के बारे में चर्चा की है. महासचिव, कोविड-19 महामारी, जलवायु परिवर्तन जैसे ख़तरों के अभूतपूर्व वैश्विक संकट के इस समय को अलगाववाद दूर करने और समानता जैसे लक्ष्य हासिल करने के अवसर के रूप में देखते हैं. उनके मुताबिक, वैश्विक एकजुटता के ज़रिये, सभी के लिये एक बेहतर, समृद्ध और अधिक टिकाऊ भविष्य का निर्माण किया जा सकता है.

साक्षात्कार: समान और न्यायपूर्ण दुनिया ही वक़्त की ज़रूरत - यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में कोविड-19 के प्रसार पर चिन्ता जताई है और महामारी के बाद बेहतर पुनर्निर्माण, सतत पुनर्बहाली, समानता व बहुपक्षवाद बढ़ाने पर ज़ोर दिया है. संयुक्त राष्ट्र की 75वीं वर्षगाँठ और महासभा के 75वें सत्र के मौक़े पर दिये इस साक्षात्कार में महासचिव ने एक समान व न्यायपूर्ण व टिकाऊ दुनिया के निर्माण का आहवान किया है.

यूएन महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष चुने गए तुर्की के राजनयिक वोल्कान बोज़किर ऐसे अभूतपूर्व समय में यह ज़िम्मेदारी उठा रहे हैं, जब संगठन अप्रत्याशित महामारी से जूझ रहा है और उसके भविष्य की दिशा को लेकर अनेक भी सवाल मुँह-बाएँ खड़े हैं. वोल्कान बोज़किर के साथ एक ख़ास बातचीत...

यूएन महासभा का 75वाँ ऐतिहासिक सत्र

संयुक्त राष्ट्र की स्थापना को 75 वर्ष पूरे हो चुके हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा का वार्षिक सितम्बर होता है और वर्ष 2020 का ये सत्र कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में पहली बार वर्चुअल होगा. इस ऐतिहासिक सत्र में वैश्विक महामारी, जलवायु संकट और बढ़ती असमानता के परिपेक्ष्य में, दुनिया भर के नेता, वर्तमान चुनौतियों से निपटने के लिए वर्चुअल चर्चा में भाग लेंगे.