एसडीजी

पृथ्वी के साथ सुलह करने का समय

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि 21वीं सदी के लिये - जलवायु संकट के ख़िलाफ़ लड़ाई सर्वोच्च प्राथमिकता है. न्यूयॉर्क स्थित कोलम्बिया यूनिवर्सिटी में दिये एक भावुक भाषण में उन्होंने स्पष्ट कहा, "इसे सीधे शब्दों में कहें तो ग्रह टूटने के कगार पर पहुँच गया है और पृथ्वी के साथ सुलह करने का वक़्त है." वीडियो सन्देश...

2020 तीसरा सर्वाधिक गर्म वर्ष होने की राह पर...

विश्व मौसम संगठन ने कहा है कि वर्ष 2020, तीसरा सबसे ज़्यादा रिकॉर्ड गर्म वर्ष होने के रास्ते पर है. ऐसा होने पर लगातार छह साल का सिलसिला पूरा होगा जो, रिकॉर्ड शुरू होने के बाद से सबसे गर्म दर्ज किये गए थे.

जलवायु आपदा: 'प्रकृति के साथ सुलह करने की घड़ी'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु आपदा के ख़िलाफ़ लड़ाई को 21वीं सदी की सर्वोच्च प्राथमिकता क़रार दिया है. उन्होंने न्यूयॉर्क के कोलम्बिया विश्वविद्यालय में दिये गए अपने एक उत्साहपूर्ण और स्पष्ट भाषण में ये बात कही.

एड्स दिवस: महामामारियों के ख़िलाफ़ वैश्विक एकजुटता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र ने मंगलवार, 1 दिसम्बर को, विश्व एड्स दिवस पर, ना केवल कोविड-19 महामारी पर क़ाबू पाने बल्कि एक अन्य वैश्विक महामारी एड्स पर भी क़ाबू पाने के लिये वैश्विक एकजुटता व साझा ज़िम्मेदारी से प्रयास करने का आहवान किया है. एड्स के बारे में कहा गया है कि ये बीमारी पहली बार उभरने के 40 वर्ष बाद भी अभी ख़त्म नहीं हुई है.

समाजों में विकलाँग व्यक्तियों के और ज़्यादा समावेश की पुकार

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि एक ऐसी दुनिया हासिल करना, जहाँ सभी लोगों को समान अवसर हासिल हों, एक ऐसा लक्ष्य है जिसके लिये जद्दोजहद करना सार्थक है. उन्होंने सोमवार को एक सन्देश में, समाज में विकलाँग व्यक्तियों के और ज़्यादा समावेश का आहवान किया, जिनमें कोविड-19 से निपटने और पुनर्बहली उपाय भी शामिल हैं.

कोविड-19 ने दुनिया भर में मलेरिया पर क़ाबू पाने के प्रयास किये धीमे

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि जीवन-रक्षक स्वास्थ्य सेवाओं में ख़ामियों के कारण मलेरिया पर क़ाबू पाने के प्रयासों में नकारात्मक असर पड़ रहा है और कोरोनावायरस महामारी, मलेरिया बीमारी पर क़ाबू पाने के प्रयासों को और ज़्यादा धक्का पहुँचा सकती है.

कोविड-19: वैक्सीन आने पर भी, टैस्ट अति महत्वपूर्ण उपाय रहेंगे

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने के मुखिया ने कहा है कि कोविड-19 का मुक़ाबला करने के उपायों में, अगर वैक्सीन का इस्तेमाल शुरू भी कर दिया जाए, तब भी टैस्ट यानि परीक्षण, एक अति महत्वपूर्ण विकल्प रहेगा.

एचआईवी से वैश्विक नुक़सान, कोविड-19 के कारण, बहुत ज़्यादा होगा

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि देशों को एचआईवी/एड्स का मुक़ाबला करने के लिये नए महत्वाकाँक्षी लक्ष्य निर्धारित करने चाहिये ताकि लाखों अतिरिक्त लोगों को कोविड-19 महामारी से सम्बन्धित संक्रमण और मौतों से बचाया जा सके. 

'लिंग आधारित हिंसा को ख़त्म कर दें, हमेशा-हमेशा के लिये'

संयुक्त राष्ट्र ने तमाम देशों की सरकारों ने लिंग आधारित हिंसा को हमेशा के लिये ख़त्म करने के लिये प्रयास दो गुने करने का आहवान किया है. बुधवार को महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा का उन्मूलन करने के अन्तरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े पर ये आहवान किया गया है.

कोविड-19: आपसी सम्बन्धों पर प्रभाव

स्वास्थ्य संकट की स्थिति में, स्कूल, सामाजिक संस्थाओं और प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं तक पहुँच खो देने के कारण, ख़ासतौर पर लड़कियों को बाल-विवाह और कम उम्र में गर्भवती होने के जोखिम का सामना करना पड़ता है.

बांग्लादेश की 15 साल की त्रिशा कहती हैं, "मैं एक ऐसी सामाजिक व्यवस्था चाहती हूँ, जहाँ महिलाएँ और बच्चे पूरी तरह से सुरक्षित हों. बाल विवाह हमारे समाज के लिये एक अभिशाप है. जब कोई लड़की बाल विवाह का शिकार होती है, तो वह शारीरिक और भावनात्मक रूप से प्रभावित होती है.”

यह वीडियो, लड़कियों ने ख़ुद बनाकर, अपने विचार, अपने शब्दों में, व्यक्त किये हैं. (वीडियो देखें)...