शांति और सुरक्षा

हिंसा की रोकथाम के लिए 'हरसंभव प्रयास' करेंगे

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के लिए संयुक्त राष्ट्र की विशेष  प्रतिनिधि लैला ज़ेरूगी ने कहा है कि पिछले साल दिसंबर में राष्ट्रपति चुनावों के शांतिपूर्ण ढंग से निपट जाने के बावजूद देश के पूर्वी हिस्से में हालात अब भी चिंताजनक बने हुए हैं. इन इलाक़ों में हथियारबंद गुटों की गतिविधियां बरक़रार हैं. 

सीरिया में शांति स्थापना अंतरराष्ट्रीय समुदाय का 'नैतिक दायित्व'

दुनिया भर में सरकारों का नैतिक दायित्व बनता है कि वे सीरियाई नागरिकों को उनके साझा भविष्य के लिए एक साथ लाने में सहायता प्रदान करें. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सीरिया में आठ साल से चले आ रहे संघर्ष के अंत के लिए इसे ज़रूरी बताया है. 

न्यूज़ीलैंड: क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में गोलीबारी की कड़ी निंदा

न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर की दो मस्ज़िदों में गोलीबारी की संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कड़े शब्दों में निंदा की है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से  मुस्लिम-विरोधी नफ़रत की भावना के ख़िलाफ एकजुट होने का आग्रह किया है. इस हमले में 49 लोगों की मौत हुई है और कई अन्य घायल हुए हैं. 

सीरिया के लिए 7 अरब डॉलर की मदद का संकल्प

सीरिया में संकट का सामना कर रहे लोगों के लिए धनराशि जुटाने के उद्देश्य से ब्रसेल्स में हुए सम्मेलन में रिकॉर्ड सात अरब डॉलर की सहायता राशि की घोषणा की गई है. 50 से ज़्यादा देशों के विदेश मंत्री इस सम्मेलन में शामिल हुए और इस राशि से सीरिया में और बाहर रह रहे ज़रूरतमंदों को मदद पहुंचाने के काम में मदद मिल सकेगी. 

गिनी-बिसाऊ में लोकतंत्र के नए ‘अध्याय का उदय’

पश्चिम अफ़्रीकी देश गिनी-बिसाऊ के लिए नियुक्त संयुक्त राष्ट्र के विशेष उपप्रतिनिधि ने नेशनल असेंबली चुनाव के लिए मतदान शांतिपूर्वक ढंग से निपट जाने के लिए नेताओं, मतदाताओं और अधिकारियों को बधाई दी है. 
 

सीरिया: रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल संबंधी रिपोर्ट पर चर्चा

दुनिया भर में रासायनिक हथियारों पर नज़र रखने वाले संगठन की एक नई रिपोर्ट पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बंद दरवाज़े के भीतर एक बैठक में चर्चा हुई है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा मानने का पर्याप्त आधार है कि पिछले साल सीरिया के पूर्वी घोटा पर नियंत्रण के लिए हुई लड़ाई में रासायनिक हथियारों से हमला किया गया.

बारूदी सुरंग प्रतिबंध संधि के 20 साल पूरे, लेकिन ख़तरा बरक़रार

बारूदी सुरंगों पर प्रतिबंध लगाने वाली संधि के दो दशक पूरे होने के बावजूद पुराने रणक्षेत्रों में बिछी सुरंगें अब भी लोगों को अपना निवाला बना लेती हैं. अपने संदेश में यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि इस ख़तरे को धरती से मिटा देने के लिए त्वरित प्रयासों की ज़रूरत है.