शांति और सुरक्षा

वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए 'मज़बूत और एकजुट' यूरोप ज़रूरी

दूसरे विश्व युद्ध के बाद दुनिया में बहुपक्षवाद को बढ़ावा देने के इरादे से जिन अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं को स्थापित किया गया था उन पर संकट मंडरा रहा है. जर्मनी के प्राचीन शहर आखेन में ‘शार्लेमान पुरस्कार’ ग्रहण करते समय संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सचेत किया है कि एक मज़बूत और एकजुट यूरोप का यूएन के साथ खड़ा होना पहले से कहीं ज़्यादा महत्वपूर्ण हो गया है.

शांति और सुरक्षा कायम रखने में अहम भूमिका निभाते शांतिरक्षक

हिंसा से आम नागरिकों को बचाने के लिए यूएन शांतिरक्षक हर दिन अपनी जान को जोखिम में डालते हैं. 29 मई को अंतरराष्ट्रीय संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक दिवस पर दुनिया में शांति और सुरक्षा बनाए रखने में शांतिरक्षकों की अहम भूमिका को याद किया जा रहा है.

सीरिया में तबाही और तकलीफ़ों पर खून क्यों नहीं खौलता?

सीरिया में आठ वर्षों के गृहयुद्ध के दौरान जानलेवा हवाई हमलों और आतंकवादी हमलों ने लाखों लोगों को मौत के घाट उतार दिया और लाखों अन्य को ज़ख़्मी छोड़ दिया. ऐसे हालात में संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत कार्यों की डिपुटी कॉर्डिनेटर उर्सुला मुएलर ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद के सामने एक चुभने वाला सवाल रखा – क्या से परिषद ऐसे हालात में कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर सकती जब स्कूलों और अस्पतालों पर हमलों को युद्ध की एक रणनीति के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, फिर भी इस पर लोगों का ख़ून क्यों नहीं खौलता?

'उसने अपनी जान गंवाई ताकि मेरी ज़िंदगी बच सके'

संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक प्राइवेट चांसी चिटेटे ने अगर निस्वार्थ भाव से साहस का प्रदर्शन करते हुए कॉरपोरल अली खमीस ओमारी को सुरक्षित स्थान पर न खींचा होता तो उनकी जान बचना मुश्किल था. लेकिन हथियारबंद लड़ाकों का सामना करते हुए और अपने साथी सैनिक को बचाते समय मलावी के शांतिरक्षक प्राइवेट चिटेटे ने ख़ुद अपनी जान गंवा दी.  

सर्वस्व बलिदान करने वाले यूएन शांतिरक्षकों को श्रृद्धांजलि

1948 में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा अभियानों की शुरुआत के बाद से अब तक 3,800 शांतिरक्षकों ने शांति मिशनों में अपने जीवन का बलिदान दिया है. यूएन अभियानों के ज़रिए शांति और सुरक्षा प्रदान करने वाले साहसिक महिला और पुरुषों की स्मृति के सम्मान में न्यूयॉर्क में आयोजित एक समारोह में महासचिव अंतोनियो गुटेरेश ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की है.

आम आबादी की सुरक्षा की हालत से गंभीर चिन्ता वाजिब - महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि आम आबादी की सुरक्षा के लिए उठाए गए क़दम तो पर्याप्त हैं मगर उन पर अमल करने करने की मंशा और अनुशासन में गिरावट आई है जो गंभीर चिन्ता का विषय है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बीस वर्ष पहले आम आबादी की सुरक्षा का मुद्दा अपने एजेंडा में शामिल किया था.

गृहयुद्ध और 'स्थाई विभाजन' के कगार पर खड़ा है लीबिया

लीबिया में राजनीतिक अस्थिरता से अब तक जो क्षति हुई है उससे उबरने में अभी वर्षों का समय लग सकता है लेकिन अगर त्रिपोली और आसपास के इलाक़ों में हिंसा को नहीं रोका गया तो गृहयुद्ध छिड़ने की आशंका है जिससे देश का स्थाई रूप से विभाजन भी हो सकता है. ये कहना है कि लीबिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि घसन सलामे का जिन्होंने सुरक्षा परिषद को स्पष्ट शब्दों में स्थिति की गंभीरता से अवगत कराया है.

यूएन प्रमुख ने माली में शांतिरक्षकों पर हमले की निंदा की

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) पर हुए हिंसक हमले में नाइजीरिया के एक शांतिसैनिक की मौत हो गई है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार को किए गए इस हमले की कड़ी निंदा की है.  
 

सीरिया के इदलिब प्रांत में टकराव बढ़ने के 'विनाशकारी नतीजे' होंगे

संयुक्त राष्ट्र में राजनीतिक और मानवीय मामलों के प्रमुखों ने सुरक्षा परिषद से सीरिया के इदलिब प्रांत के आसपास जारी हिंसा को तत्काल रोके जाने की अपील की है. उन्होंने आगाह किया कि टकराव बढ़ने के विनाशकारी परिणाम होंगे इसलिए सीरियाई जनता के लिए राजनीतिक समाधान तलाशे जाने के प्रयास होने चाहिए.

साहेल क्षेत्र की स्थिरता और सुरक्षा सबका 'साझा दायित्व'

अफ़्रीका के साहेल क्षेत्र में स्थिरता लाने के उद्देश्य से गठित सुरक्षा बल के प्रभावी संचालन के लिए आवश्यक है कि उसे और सहायता प्रदान की जाए. संयुक्त राष्ट्र में शांतिरक्षा अभियानों से जुड़ी वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि साहेल क्षेत्र जिन चुनौतियों से जूझ रहा है उनके निपटारे के लिए राजनीतिक और आर्थिक समाधानों को तलाशना अहम है.