शांति और सुरक्षा

मुश्किल समय में आशा की उजली किरण:यूएन महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने नववर्ष की पूर्व संध्या पर अपने संदेश में कहा है कि दुनिया कई खतरों से जूझते हुए एक मुश्किल दौर से गुजर रही है .  पिछले साल 2018 के आगमन पर दिए अपने संदेश में जारी एक रेड अलर्ट की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि उस समय की कई चुनौतियां आज भी बनी हुई हैं लेकिन आशा का दामन थामे रखने के भी कई कारण हैं. 

स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए मिलजुलकर काम करने की अपील

कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य में चुनाव से ठीक पहले संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सभी राजनीतिक पक्षों से मिलजुलकर काम करने की अपील की है जिससे स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संपन्न हो सकें. कांगो में रविवार को चुनाव होने हैं. 

संयुक्त राष्ट्र ने बांग्लादेश में शांतिपूर्ण और विश्वसनीय चुनाव की अपील की

बांग्लादेश में रविवार को होने वाले चुनाव से पहले संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने हिंसा, भय और दबाव से दूर एक ऐसा माहौल बनाने का आह्वान किया है जिससे देश में शांतिपूर्ण, विश्वसनीय और समावेशी चुनाव कराए जाने में मदद मिले. 

यमन: मुख्य बंदरगाह शहर हुदायदाह के लिए संघर्ष विराम

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंंतोनियो गुटेरेश ने यमन के मुख्य बंदरगाह शहर हुदायदाह में विरोधी पक्षों द्वारा संघर्ष विराम की घोषणा का स्वागत किया है और कहा है कि इससे लाखों लोगों के जीवन स्तर में सुधार होगा.

‘शांति बहाली की उम्मीद क़ायम रखना साझा ज़िम्मेदारी’

इसराइल द्वारा क़ब्ज़ा किए हुए फ़लस्तीनी इलाक़ों पूर्वी येरुशलम और पश्चिमी तट में हिंसा बढ़ रही है और इसराइली अधिकारी अन्तरराष्ट्रीय क़ानून का उल्लंघन करते हुए लगातार फ़लस्तीनी घरों और संपत्ति को ध्वस्त करने के साथ-साथ ज़ब्त भी कर रहे हैं, और ऐसा इसराइली अधिकारी अन्तरराष्ट्रीय क़ानूनों का उल्लंघन करते हुए कर रहे हैं. मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत निकोलय म्लादेनॉफ़ ने बृहस्पतिवार को सुरक्षा परिषद को ये जानकारी दी.

क्यों पड़ रहे हैं जीने के लाले!

मंगलवार 16 अक्तूबर को विश्व खाद्य दिवस मनाते हुए इन हालात पर गहरी चिन्ता जताई गई कि अब भी लड़ाई-झगड़ों, संघर्षों या फिर राजनातिक अस्थिरता वाले अब भी बहुत से ऐसे देश हैं जहाँ जीवित रहने के लिए खाने-पीने का सामान कम पड़ता जा रहा है.

नादिया मुराद और डॉक्टर डेनिस को नोबेल शांति पुरस्कार

वर्ष 2018 का नोबेल शान्ति पुरस्कार इराक़ी मूल की एक यज़ीदी मानवाधिकार कार्यकर्ता व संयुक्त राष्ट्र की एक सदभावना दूत नादिया मुराद और कोंगो गणराज्य (डीआरसी) के एक चिकित्सक डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को देने की घोषणा की गई है.

‘गांधी के रास्ते से निकलेंगे हल'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतॉनियो गुटेरेश ने अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर उम्मीद जताई है कि राजनेताओं और राजनीतिज्ञ लोगों की भलाई करने के लक्ष्य हासिल करने के लिए महात्मा गांधी के रास्ते पर चलने और उनके सिद्धान्तों और मूल्यों को अपनाने की कोशिश करेंगे.

टूट रहा है भरोसा, कैसे बचाएं…

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है आज के दौर में दुनिया भर में भरोसा टूटा हुआ नज़र आता है. तमाम देशों के राष्ट्रीय संस्थानों में लोगों का भरोसा, देशों के बीच आपसी भरोसा और नियम और क़ानून पर आधारित एक वैश्विक व्यवस्था में भरोसा, सभी चकनाचूर हुआ नज़र आता है.