शांति और सुरक्षा

शान्तिरक्षा और हिंसक संघर्षों की रोकथाम में यूएन पुलिस की अहम भूमिका

संयुक्त राष्ट्र पुलिस अनेक देशों में शान्तिरक्षा अभियानों, हिंसक संघर्षों की रोकथाम और शान्ति-निर्माण के प्रयासों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है. मध्य अफ़्रीकी गणराज्य, हेती, माली और दक्षिण सूडान में सेवारत संयुक्त राष्ट्र पुलिस आयुक्तों ने बुधवार को सुरक्षा परिषद के सदस्यों को इन प्रयासों के फलस्वरूप आ रहे बदलावों और ज़मीनी चुनौतियों से अवगत कराया है.

लीबियाई युद्धविराम समझौते को आगे बढ़ाने के क़दमों पर सहमति

लीबिया में युद्धरत पक्षों के सैन्य अधिकारियों ने अक्टूबर में जिनीवा में हुए ऐतिहासिक युद्धविराम समझौते को लागू करने के लिये ज़मीनी क़दम उठाने पर सहमति व्यक्त की है. लीबिया में संयुक्त राष्ट्र मिशन ने ये जानकारी दी है. 

सुरक्षा परिषद: 'साझा दुश्मन' से लड़ाई के लिये वैश्विक युद्धविराम पर ज़ोर

संयुक्त राष्ट्र की उपमहासचिव आमिना मोहम्मद ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद से आग्रह किया है कि दुनिया भर में हिंसा में शामिल लड़ाकों को हथियार डालने और कोरोनावायरस रूपी साझा दुश्मन से लड़ाई पर ध्यान केन्द्रित करने के लिये प्रोत्साहित करना होगा जिसके लिये और ज़्यादा प्रयास किये जाने की ज़रूरत है.    

संघर्षों में फँसे बच्चों और लोगों की सुरक्षा की सख़्त ज़रूरत

बच्चों और सशस्त्र संघर्ष मामलों के लिये संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत वर्जीनिया गाम्बा ने कहा है कि हथियारबन्द संघर्षों में शैक्षणिक और स्वास्थ्य ठिकानों पर लगातार हो रहे हमलों के कारण बच्चों और मानवीय सहायता कर्मियों पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है.

ऑस्ट्रिया: वियेना में हुए घातक हमले की तीखी भर्त्सना

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ऑस्ट्रिया की राजधानी वियेना में हुए एक हिंसक हमले की तीखी भर्त्सना की है. इस हमले में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई और अनेक अन्य घायल हुए हैं.

अफ़ग़ानिस्तान: काबुल यूनिवर्सिटी में हमला, ‘शिक्षा के मानवाधिकार पर हमला’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अफ़ग़ानिस्तान में काबुल विश्वविद्यालय में हुए भयावह हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की है. मीडिया ख़बरों के अनुसार सोमवार को हुए इस हमले में 20 से ज़्यादा लोगों की मौत हो गई है और अनेक अन्य घायल हुए हैं. 10 दिनों के भीतर यह दूसरा ऐसा हमला है जिसमें किसी शिक्षा केन्द्र को निशाना बनाया गया है. 

इसराइल द्वारा 'ग़ैरक़ानूनी बस्तियाँ' बसाने का मुद्दा - जवाबदेही तय किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने शुक्रवार को कहा है कि अन्तरराष्ट्रीय क़ानून की अवहेलना के गम्भीर मामले की महज़ आलोचना करने के बजाय अन्तरराष्ट्रीय समुदाय को आगे बढ़कर जवाब देना होगा. यूएन विशेषज्ञ का यह बयान इसराइल सरकार की उस घोषणा के बाद आया है जिसमें क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में लगभग पाँच हज़ार नए घर बसाने की योजना को मंज़ूरी दी गई है. 

कोलम्बिया में, महिलाएँ ले जा रही हैं - शान्ति प्रक्रिया को आगे

संयुक्त राष्ट्र की उपमहासचिव आमिना जे मोहम्मद ने कोलम्बिया में वर्ष 2016 में हुए ऐतिहासिक शान्ति समझौते को पूर्ण व व्यापक रूप से लागू किये जाने की अहमियत को रेखांकित किया है. यूएन उपप्रमुख ने कहा कि कोरोनावायरस संकट के मद्देनज़र टिकाऊ और सहनशील समुदायों को सामर्थ्य प्रदान करने के लिये ऐसा किया जाना आवश्यक है.

 

 

फ्राँस: चर्च में हमले की कड़ी निन्दा, सहिष्णुता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने फ्राँस के दक्षिणी शहर नीस के एक चर्च में चाकू से किये गए हमले की कड़े शब्दों में निन्दा की है. ख़बरों के अनुसार गुरुवार को हुए इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई है. यूएन अलायन्स ऑफ़ सिविलाइज़ेशन्स के उच्च प्रतिनिधि मिगेल मोराटिनोस ने इस बर्बर हमले की निन्दा करते हुए सभी धर्मों व आस्थाओं में पारस्परिक सम्मान और भाईचारे व शान्ति की संस्कृति को बढ़ावा दिये जाने की पुकार लगाई है. 

सर्वजन के लिये शान्ति और प्रगति में महिला नेतृत्व की महत्वपूर्ण भूमिका

महिला सशक्तिकरण के लिये संयुक्त राष्ट्र संस्था - UN Women की प्रमुख पुमज़िले म्लाम्बो-न्गुका ने आगाह किया है कि कोविड-19 के ख़िलाफ़ लड़ाई में महत्वपूर्ण निर्णय-निर्धारण प्रक्रियाओं में महिलाओं को अब भी समुचित प्रतिनिधित्व हासिल नहीं है. उन्होंने गुरूवार को सुरक्षा परिषद को मौजूदा हालात से अवगत कराते हुए कहा कि हिंसाग्रस्त इलाक़ों में महिलाओं के लिये परिस्थितियाँ कहीं ज़्यादा ख़राब है.