प्रवासी और शरणार्थी

वेनेज़ुएला सरकार से बंदियों को रिहा करने की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बेशेलेट ने वेनेज़ुएला का दौरा करने के बाद सरकार का आहवान किया है कि उन सभी लोगों को रिहा कर दिया जाए जिन्हें शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने के लिए गिरफ़्तार किया गया था. संयुक्त राष्ट्र के किसी मानवाधिकार विशेषज्ञ की ये पहली वेनेज़ुएला यात्रा थी. साथ ही उन्होंने कहा है कि देश में मानवाधिकारों की स्थिति पर निगरानी रखने के लिए उनके कार्यालय की एक टीम कराकस में मौजूद रहेगी.

शरणार्थियों को सहारा देने वाले देशों की सराहना

गुरुवार को विश्व शरणार्थी दिवस के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने उन देशों की सराहना की है जो आर्थिक चुनौतियों और सुरक्षा चिंताओं से जूझने के बावजूद अपने यहां शरणार्थियों को शरण देते हैं. युद्ध, संघर्ष और उत्पीड़न से बचने के लिए घर छोड़कर अन्य देशों में शरण लेने वाले लोगों की संख्या पिछले 20 साल में दोगुनी हो गई है.

विस्थापितों की रिकॉर्ड संख्या चिंता का सबब

युद्ध, यातना और संघर्ष से जान बचाने के लिए साल 2018 में सात करोड़ से ज़्यादा लोगों को घर छोड़कर भागना पड़ा. संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने अपनी रिपोर्ट में नए आंकड़े जारी करते हुए अपील की है कि विश्व में शांति स्थापना को संभव बनाने के लिए अंतरराष्ट्रीय एकजुटता की ज़रूरत है.

प्रवासियों द्वारा भेजी रक़म से ग़रीबों को बड़ा सहारा

अपने घर, गाँव, शहर और देश छोड़कर रोज़ी रोटी कमाने के लिए निकलने वाले लोग दुनिया में जहाँ भी रहते हैं वहाँ से अपने मूल स्थानों में रहने वाले परिवारों व समुदायों को हर साल भारी रक़म भेजते हैं. प्रवासियों के इस योगदान को महत्व देने के लिये हर वर्ष 16 जून को अंतरराष्ट्रीय दिवस (International Day of Family Remittances) मनाया जाता है.