मानवीय सहायता

तूफ़ान प्रभावित इलाक़ों में राहत अभियानों में जुटी यूएन एजेंसियां

चक्रवाती तूफ़ान 'इडाई' से तीन अफ़्रीकी देशों में हुई तबाही के बाद, संयुक्त राष्ट्र राहत एजेंसियां और साझेदार संगठनों ने व्यापक पैमाने पर राहत कार्यों को शुरू किया है. मोज़ाम्बिक, मलावी और ज़िम्बाब्वे के प्रभावित इलाक़ों में फंसे लाखों लोगों की भोजन, शरण और स्वास्थ्य संबंधी ज़रूरतों को पूरा किया जा रहा है. 

'हर घंटे बढ़ रहा है' तूफ़ान से तबाही का दायरा

चक्रवाती तूफ़ान 'इडाई' के गुज़रने के बाद तीन अफ़्रीकी देशों में उससे हुई तबाही का दायरा स्पष्ट होता जा रहा है. सिर्फ़ मोज़ाम्बिक में ही एक हज़ार लोगों की इस आपदा में मौत होने की आशंका ज़ाहिर की गई है. संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों का कहना है कि आपदा की व्यापकता हर घंटे बढ़ती जा रही है.

 

तूफ़ान प्रभावित अफ़्रीकी देशों में राहत कार्य तेज़

मोज़ाम्बिक, मलावी और ज़िम्बाब्वे में क़हर बरपाने वाले चक्रवाती तूफ़ान 'इडाई' के बाद संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने प्रभावितों तक राहत पहुंचाने का कार्य तेज़ कर दिया है. तीन अफ़्रीकी देशों में जान-माल की भारी हानि हुई है और मलावी में ही अब तक 150 लोगों की मौत हो चुकी है. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने तूफ़ान से हुई तबाही पर शोक जताया है.

'समाप्त नहीं हुआ है अभी सीरिया में संकट'

सीरिया के भविष्य के लिए समर्थन जुटाने के उद्देश्य से होने वाले 'ब्रसेल्स सम्मेलन' से पहले, संयुक्त राष्ट्र की तीन एजेंसियों ने आगाह किया है कि संकट अब भी बना हुआ है. सीरिया में विकट परिस्थितियों में रह रहे लोगों की सतत और व्यापक सहायता के लिए 3.3 अरब डॉलर की अपील की गई है.

यूएन महासचिव ने इथियोपिया विमान हादसे पर शोक जताया

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इथियोपिया की राजधानी आदिस अबाबा के नज़दीक हुए एक विमान हादसे में सभी यात्रियों के मारे जाने पर गहरा शोक जताया है. विमान में चालक दल के 8 सदस्यों के अलावा 149 यात्री सवार थे जिनमें संयुक्त राष्ट्र कर्मचारी भी शामिल हैं.

यमन में मानवीय मदद के लिए 2.6 अरब डॉलर का संकल्प

यमन में जारी संकट से निपटने के लिए हो रहे प्रयासों के तहत दानदाता देशों ने मानवीय राहत अभियानों के लिए 2.6 अरब डॉलर की सहायता राशि प्रदान करने का संकल्प लिया है. यह धनराशि पिछले साल के मुक़ाबले 30 फ़ीसदी अधिक है जिससे यमन में विकट परिस्थितियों में रह रहे लाखों लोगों तक मानवीय राहत पहुंचाने के काम में मदद मिल सकेगी. 

लीबिया: मानवीय संकट का शिकार लोगों के लिए करोड़ों डॉलर की आवश्यकता

संयुक्त राष्ट्र और साझेदार संगठनों ने लीबिया में अंतरिम सरकार के साथ मिलकर मंगलवार को मानवीय राहत के लिए योजना को प्रस्तुत किया जिसमें 20 करोड़ डॉलर की अपील जारी की गई है. इस सहायता राशि के ज़रिए मानवीय संकट से जूझ रहे साढ़े पांच लाख से अधिक महिलाओं, बच्चों और पुरुषों के लिए जीवन-रक्षक सेवाओं को सुनिश्चित करने में मदद मिल सकेगी. 

"घर छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं"

नाईजीरिया में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन बोको हराम के हमलों से घबराए 35 हज़ार लोगों ने सुरक्षित स्थान की तलाश में कैमरुन के गऊरा में शरण ली है. कैमरुन में यूएन अधिकारी  अलेग्रा बायओची ने कहा है कि अगर लोगों को जिंदा रहना है तो उन्हें वहीं रहना चाहिए.

 

सीरिया में स्थिति विकट, दो दिन में 11 शिशुओं की मौत

हिंसा, विस्थापन और बेहद कठिन परिस्थितियों के चलते उत्तरी और पूर्वी सीरिया में दिसंबर से अब तक 32 बच्चों की जान जा चुकी है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष  (UNICEF) के अनुसार विस्थापित परिवारों को मुश्किल हालात से जूझना पड़ रहा है और 11 नवजात शिशुओं की मौत पिछले दो दिनों में ही हुई है.

बाल सुरक्षा के लिए यूनिसेफ़ की 3.9 अरब डॉलर की अपील

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने कहा है कि दर्जनों देशों में हिंसक संघर्षों, आपदाओं और अन्य आपात परिस्थितियों में रह रहे लाखों बच्चों को तत्काल सुरक्षा दिए जाने की आवश्यकता है. यूनिसेफ़ ने दुनिया भर में मानवीय राहत कार्य में मदद के लिए 3.9 अरब डॉलर की अपील भी जारी की है.