मानवीय सहायता

राष्ट्रविहीनों का सहारा बनने वाला

राष्ट्रविहीनता के शिकार लोगों के अधिकारों की लड़ाई लड़ रहे किर्गिस्तान के एक वकील अज़ीज़बेक अशुरोफ़ को संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के ‘2019 नेन्सेन रैफ़्यूजी अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया है. अशुरोफ़ ने पूर्व सोवियत संघ के विघटन के बाद 10 हज़ार राष्ट्रविहीन लोगों को किर्गिस्तान की नागरिकता दिलाने में मदद की है.

कठिन परिस्थितियों में राहत प्रयासों में जुटी महिला सहायताकर्मियों को सम्मान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ‘विश्व मानवीय दिवस 2019’ पर उन सभी महिला मानवीय सहायताकर्मियों को श्रृद्धांजलि दी है जो लाखों-करोड़ों ज़रूरतमंद महिलाओं, पुरुषों और बच्चों के जीवन में बड़ा बदलाव ला रही हैं. इस दिवस पर जारी अपने संदेश में उन्होंने अपील की है कि मानवीय काम में जुटे लोगों की अंतरराष्ट्रीय क़ानूनों के तहत रक्षा सुनिश्चित होनी चाहिए.