मानवाधिकार

'यूक्रेन में सिविल ठिकानों पर रूसी हमले, युद्धापराध के दायरे में गिने जा सकते हैं'

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार कार्यालय, (OHCHR) ने यूक्रेन पर 24 फ़रवरी को रूसी संघ का आक्रमण शुरू होने के बाद वहाँ हताहत होने वाले आम लोगों बढ़ती संख्या पर शुक्रवार को गहरी चिन्ता दोहराई. साथ ही रूस को ये याद भी दिलाया है कि लड़ाई में भाग नहीं लेने वाले लोगों को निशाना बनाया जाना एक युद्धापराध हो सकता है.

येरूशेलम में तनाव वृद्धि, 'हिंसा या आतंक के लिये कोई जगह नहीं' विशेष दूत

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष समन्वयक टॉर वेनेसलैण्ड ने इसराइल के क़ब्ज़े वाले फ़लस्तीनी क्षेत्र - पूर्वी येरुशेलम और पश्चिमी तट इलाक़ों में इस सप्ताह "बिगड़ती सुरक्षा स्थिति" पर मंगलवार को गहरी चिन्ता व्यक्त की है, जहाँ दैनिक हिंसा ने एक बच्चे सहित छह फ़लस्तीनियों की ज़िन्दगी छीन ली है.

यूक्रेन में हालात बेहद नाज़ुक, युद्ध प्रभावितों के लिये सुरक्षित रास्तों की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने यूक्रेन में रूसी आक्रमण के 13वें दिन और हताहत होने वाले आम नागरिकों की बढ़ती संख्या के बीच, युद्धविराम की अपनी अपील दोहराई है. यूएन व साझीदार संगठनों के राहतकर्मियों ने आगाह किया है कि हिंसा प्रभावित इलाक़ों से लोगों को बाहर निकालने के लिये जल्द से जल्द सुरक्षित मार्गों की व्यवस्था की जानी होगी.

ILO: कामकाजी माता-पिता को सहारा देने के लिये, देखभाल सेवाओं में निवेश की पुकार

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन - ILO ने प्रतिवर्ष 8 मार्च को मनाए जाने वाले अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, सोमवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा है कि देखभाल सेवाओं में अधिक निवेश करने से, वर्ष 2035 तक लगभग 30 करोड़ कामकाज व रोज़गार उत्पन्न हो सकते हैं.

मानवाधिकार परिषद में यूक्रेन संकट पर चर्चा, युद्धविराम का आहवान

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) की प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि यूक्रेन पर रूस के सैन्य हमले से विश्व इतिहास में एक नया और ख़तरनाक अध्याय शुरू हुआ है. यूएन एजेंसी की शीर्ष अधिकारी ने जिनीवा में मानवाधिकार परिषद की एक बैठक के दौरान, यूक्रेन में हालात पर चिन्ता जताते हुए वहाँ युद्धविराम की पुकार लगाई है.

पर्यावरण रक्षकों के अधिकारों की रक्षा सुनिश्चित किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने पृथ्वी की रक्षा में जुटे पर्यावरण कार्यकर्ताओं की रक्षा किये जाने की पुकार लगाई है. यूएन मानवाधिकार प्रमुख ने सचेत किया है कि इन कार्यकर्ताओं को अक्सर आवाज़ बुलन्द करने की क़ीमत अपने प्राणों से चुकानी पड़ती है.

भेदभाव को बढ़ावा देने वाले 'हानिकारक क़ानूनों' को हटाने का आग्रह

एचआईवी/एड्स मामलों पर संयुक्त राष्ट्र की अग्रणी एजेंसी – यूएनएड्स (UNAIDS) ने मंगलवार को ‘शून्य भेदभाव दिवस’ पर ऐसे सभी क़ानूनों को ख़त्म किये जाने का आग्रह किया है, जिनसे नाज़ुक हालात में रह रहे लोगों के साथ भेदभाव को बढ़ावा मिलता है. यूएन एजेंसी ने कहा है कि हर किसी को एक स्वस्थ, पूर्ण व गरिमामय जीवन जीने का अधिकार प्राप्त है.

मानवाधिकार हैं वैश्विक चुनौतियों के समाधान की बुनियाद - यूएन महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने मानवाधिकार परिषद के 49वें सत्र के लिये अपने वीडियो सन्देश में कहा है कि मानवाधिकारों पर हर कहीं प्रहार हो रहा है, निरंकुशताएँ बढ़ रही हैं, और लोकप्रियतावाद, नस्लवाद व चरमपंथ से समाज कमज़ोर हो रहे हैं. उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि इन सभी विशाल चुनौतियों के समाधानों की बुनियाद, मानवाधिकारों में है.   

यूक्रेन: मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों पर चिन्ता, 'अनगिनत ज़िन्दगियों पर जोखिम'

सोमवार को जिनीवा में मानवाधिकार परिषद के सत्र के दौरान भी यूक्रेन में संकट का मुद्दा छाया रहा और रूस के तथाकथित विशेष सैन्य अभियान के मुद्दे पर तत्काल चर्चा का अनुरोध किया गया. इसके बाद सदस्य देशों से इस अनुरोध पर मतदान के लिये कहा गया जिसके कारण परिषद में पूर्व-निर्धारित कामकाज को कुछ देर के लिये रोक देना पड़ा.

हमें ‘इतिहास से सबक़ सीखना होगा’, मानवाधिकार परिषद अध्यक्ष

यूक्रेन संकट गहराने और कोविड-19 महामारी का क़हर जारी रहने के बीच, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद अपना महीने भर चलने वाला, वार्षिक सत्र सोमवार को शुरू करने की तैयारी कर रही है.