मानवाधिकार

इण्टरनेट पर रोक व व्यवधान – मानवाधिकारों, अर्थव्यवस्था व दैनिक जीवन पर असर

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) अपनी एक नई रिपोर्ट में चेतावनी जारी की है कि इण्टरनेट सेवा पर रोक लगने, उसमें व्यवधान आने से आमजन के जीवन, उनके मानवाधिकारों और अर्थव्यवस्था पर होने वाले असर को अक्सर कम करके आंका जाता है.

आदिवासी महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा, नस्लवाद में निहित 'उपनिवेशवाद की विरासत'

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त एक स्वतंत्र अधिकार विशेषज्ञ ने मानवाधिकार परिषद को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा है कि आदिवासी महिलाओं व लड़कियों को गम्भीर, व्यवस्थित और निरन्तर हिंसा का सामना करना पड़ता है, जो उनके जीवन के हर पहलू पर हावी है.

हिंसा, भड़काऊ बयानबाज़ियों और नफ़रत भरी भाषा से, अत्याचारों व अपराधों को बढ़ावा

जनसंहार की रोकथाम के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष सलाहकार ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में यौन हिंसा व तस्करी का जोखिम बढ़ने के प्रति आगाह किया है, जिससे महिलाओं व बच्चों के सर्वाधिक प्रभावित होने की आशंका है.

शान्तिपूर्ण प्रदर्शनों पर सैन्य तरीक़े अपनाने से, केवल हिंसा वृद्धि

संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार विशेषज्ञ ने सोमवार को कहा है कि दुनिया भर में नागरिक स्थान (Civic space) सिकुड़ रहा है और शान्तिपूर्ण प्रदर्शनों के दौरान मानवाधिकार हनन भी बढ़ रहा है क्योंकि देशों की सरकारें, प्रदर्शनों की पुलिस व्यवस्था के दौरान सैन्य तरीक़े ज़्यादा अपना रही हैं.

युद्धों में यौन हिंसा से, आबादियाँ आतंकित, ज़िन्दगियाँ तबाह और समुदायों में बिखराव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को कहा है कि यौन हिंसा, युद्धक गतिविधियों की एक क्रूर रणनीति बन गई है और आबादियों को आतंकित करने वाले दमन से, लोगों की ज़िन्दगियाँ तबाह होती हैं व समुदाय तितर-बितर हो जाते हैं.

भारत: यौनकर्मियों के संवैधानिक अधिकारों का सम्मान, सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत

एचआईवी/एड्स के विरुद्ध लड़ाई का नेतृत्व करने वाली संयुक्त राष्ट्र एजेंसी – यूएनएड्स (UNAIDS) ने भारत में सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश की सराहना की है, जिसमें यौनकर्मियों के बुनियादी अधिकारों की रक्षा और उनके कल्याण के लिये निर्देश जारी किये गए हैं. इनमें जीवन जीने का अधिकार और व्यक्ति की गरिमा के प्रति सम्मान समेत अन्य अधिकार हैं.

नफ़रत भरे सन्देश व भाषा, 'विविधता व साझा मूल्यों' के लिये बड़ा ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार, 18 जून को नफ़रत भरी बोली, सन्देश व सम्बोधन (hate speech) का मुक़ाबला करने के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जारी अपने सन्देश में आगाह किया है कि ‘हेट स्पीच’ से हिंसा को उकसावा मिलता है, विविधता व सामाजिक जुड़ाव दरकता है और सर्वजन को आपस में बांधने वाले साझा मूल्यों के लिये जोखिम पनपता है.

केवल 6% कर्मचारियों को हासिल हैं, सामाजिक सुरक्षा लाभ

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि विश्व भर में केवल छह प्रतिशत घरेलू कर्मचारियों को ही, व्यापक तौर पर, चिकित्सा देखभाल, बेरोज़गारी भत्ता, मातृत्व अवकाश समेत अन्य सामाजिक संरक्षा लाभों तक पहुँच है.

अफ़ग़ानिस्तान: एक पीढ़ी में 'सबसे कठिन पल' से गुज़रता देश

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने मानवाधिकार परिषद को अफ़ग़ानिस्तान में मौजूदा हालात से अवगत कराते हुए बताया है कि स्थानीय आबादी, एक पीढ़ी में "सबसे बुरे क्षणों" से गुज़र रही हैं.

यूक्रेन: युद्धग्रस्त क्षेत्रों से ‘अनाथ बच्चों को गोद लेने के लिये’ रूस ले जाए जाने पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने यूक्रेन के युद्धग्रस्त पूर्वी क्षेत्रों से बच्चों को देश-निकाला देकर, जबरन रूस ले जाए जाने और वहाँ उन्हें गोद लिये जाने की प्रक्रिया शुरू किये जाने की ख़बरों पर चिन्ता जताई है.