मानवाधिकार

नस्लभेद व नफ़रत के ख़िलाफ़ एक सुर में बोलना होगा, एंतोनियो गुटेरेश

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को कहा है कि दुनिया भर के तमाम समाजों में आज भी नस्लभेद ने, संस्थानों, सामाजिक ढाँचों और हर एक इनसान की दैनिक ज़िन्दगी में ज़हर घोल रखा है. उन्होंने नफ़रत को सामान्य बनाने, गरिमा का हनन किये जाने और हिंसा को भड़कावा देने के चलन के ख़िलाफ़ आयोजित एक विशेष सम्मेलन में ये बात कही.

ब्रिटेन के राष्ट्रीयता व सीमाएँ विधेयक के 'चिन्ताजनक' प्रस्तावों में बदलाव का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने, ब्रिटेन से उसकी सीमा नीति में प्रस्तावित बदलावों पर फिर से विचार करने का आग्रह किया है. उन्होंने साथ ही आगाह करते हुए ये भी कहा है कि प्रस्तावित बदलावों से, कमज़ोर हालात वाले लोगों की, देश में अनियमित तरीक़े से आमद को अपराध क़रार दे दिया जाएगा.

लीबिया में ‘समानान्तर सरकारों’ की आशंका के बीच बढ़ता तनाव

संयुक्त राष्ट्र में शान्तिनिर्माण व राजनैतिक मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने कहा है कि लीबिया में जारी राजनैतिक गतिरोध के बीच, देश के फिर से दो समानान्तर सरकारों में बँट जाने का ख़तरा है. इसके मद्देनज़र, उन्होंने सचेत किया है कि 28 लाख पंजीकृत मतदाताओं की चुनावी आकांक्षाएँ साकार किये जाने और कड़ी मेहनत से दर्ज की गई प्रगति को बरक़रार रखने को प्राथमिकता बनाना होगा.

म्याँमार: मानवाधिकार हनन के अति-गम्भीर मामले, पुख़्ता व समन्वित कार्रवाई की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने मंगलवार को बताया है कि म्याँमार में फ़रवरी 2021 में सैन्य तख़्तापलट के बाद से अब तक, सुरक्षा बलों के हाथों एक हज़ार 600 से अधिक लोग मारे गए हैं, जबकि साढ़े 12 हज़ार से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है.

यूएन मुख्यालय में डॉक्टर हंसा मेहता स्मृति सम्वाद

भारत की प्रसिद्ध महिलाधिकार पैरोकार, शिक्षाविद, समाज सुधारक और लेखिका डॉक्टर हंसा मेहता की स्मृति में, संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में मंगलवार, 15 मार्च को, भारतीय मिशन के सहयोग से, एक स्मृति सम्वाद आयोजित किया गया.

सऊदी अरब: एक दिन में 81 लोगों को फाँसी दिये जाने की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने सऊदी अरब में, आतंकवाद से सम्बन्धित अपराधों के आरोप में, एक ही दिन में 81 लोगों का सिर क़लम किये जाने की निन्दा की है.

'यूक्रेन में सिविल ठिकानों पर रूसी हमले, युद्धापराध के दायरे में गिने जा सकते हैं'

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार कार्यालय, (OHCHR) ने यूक्रेन पर 24 फ़रवरी को रूसी संघ का आक्रमण शुरू होने के बाद वहाँ हताहत होने वाले आम लोगों बढ़ती संख्या पर शुक्रवार को गहरी चिन्ता दोहराई. साथ ही रूस को ये याद भी दिलाया है कि लड़ाई में भाग नहीं लेने वाले लोगों को निशाना बनाया जाना एक युद्धापराध हो सकता है.

येरूशेलम में तनाव वृद्धि, 'हिंसा या आतंक के लिये कोई जगह नहीं' विशेष दूत

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष समन्वयक टॉर वेनेसलैण्ड ने इसराइल के क़ब्ज़े वाले फ़लस्तीनी क्षेत्र - पूर्वी येरुशेलम और पश्चिमी तट इलाक़ों में इस सप्ताह "बिगड़ती सुरक्षा स्थिति" पर मंगलवार को गहरी चिन्ता व्यक्त की है, जहाँ दैनिक हिंसा ने एक बच्चे सहित छह फ़लस्तीनियों की ज़िन्दगी छीन ली है.

यूक्रेन में हालात बेहद नाज़ुक, युद्ध प्रभावितों के लिये सुरक्षित रास्तों की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) ने यूक्रेन में रूसी आक्रमण के 13वें दिन और हताहत होने वाले आम नागरिकों की बढ़ती संख्या के बीच, युद्धविराम की अपनी अपील दोहराई है. यूएन व साझीदार संगठनों के राहतकर्मियों ने आगाह किया है कि हिंसा प्रभावित इलाक़ों से लोगों को बाहर निकालने के लिये जल्द से जल्द सुरक्षित मार्गों की व्यवस्था की जानी होगी.

ILO: कामकाजी माता-पिता को सहारा देने के लिये, देखभाल सेवाओं में निवेश की पुकार

अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन - ILO ने प्रतिवर्ष 8 मार्च को मनाए जाने वाले अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, सोमवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा है कि देखभाल सेवाओं में अधिक निवेश करने से, वर्ष 2035 तक लगभग 30 करोड़ कामकाज व रोज़गार उत्पन्न हो सकते हैं.