मानवाधिकार

म्याँमार: मानवता के विरुद्ध अपराध, व्यवस्थागत ढंग से जारी, यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र की मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में कहा गया है कि म्याँमार में व्यवस्थागत तरीक़े से मानवता के विरुद्ध अपराधों को अंजाम देना जारी है और मौजूदा संघर्षों में, महिलाएँ और बच्चे सबसे ज़्यादा प्रभावित हो रहे हैं.

बांग्लादेश: शरणार्थियों की शिक्षा बाधाओं से निपटने के लिये, रोहिंज्या और बांग्लादेशी शिक्षक एकजुट

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी - UNHCR के बांग्लादेश में एक कार्यक्रम के तहत, रोहिंज्या शरणार्थी बच्चों की औपचारिक शिक्षा तक पहुँच बनाने के लिये, रोहिंज़्या शिक्षकों को मेज़बान समुदाय के शिक्षकों के साथ जोड़ा जा रहा है. इससे दोनों समुदायों के बीच बेहतर सामंजस्य बनाने में मदद मिल रही है और बच्चों के लिये औपचारिक शिक्षा प्राप्त करने के रास्ते खुल रहे हैं.

बेरूत विस्फोट की अन्तरराष्ट्रीय जाँच कराने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने जिनीवा स्थित मानवाधिकार परिषद से, दो वर्ष पहले लेबनान की राजधानी बेरूत में हुए भीषण विस्फोट की अन्तरारष्ट्रीय जाँच कराने की मांग की है ताकि उस विस्फोट में हताहत हुए लोगों के लिये न्याय सुनिश्चित किया जा सके.

इराक़: तनाव कम करने और मतभेदों से ऊपर उठने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश इराक़ में जारी प्रदर्शनों पर “चिन्तित नज़र” रखे हुए हैं जिनमें अनेक लोग घायल हुए हैं. उनके उप प्रवक्ता फ़रहान हक़ ने शनिवार को ये जानकारी दी.

मानव तस्करी: अधिकारों, सुरक्षा और गरिमा पर चौतरफ़ा हमला, यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को, मानव तस्करी निरोधक दिवस पर कहा है कि इनसानों की तस्करी एक भयावह अपराध है और लोगों के अधिकारों, सुरक्षा व गरिमा पर, एक चौतरफ़ा हमला है.

सिंगापुर: मृत्यु दण्ड पर तुरन्त रोक का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने शुक्रवार को कहा है कि सिंगापुर को, ड्रग अपराधों के दोषियों को मृत्युदण्ड दिये जाने पर स्वैच्छिक रोक लगानी होगी. उनका ये वक्तव्य ड्रग तस्करी में एक 64 वर्षीय व्यक्ति को हाल ही में, मृत्यु दण्ड दिये जाने के सन्दर्भ में आया है और नज़ेरी, इस वर्ष मृत्यु दण्ड दिये जाने वाले पाँचवे व्यक्ति हैं.

म्याँमार: लोकतंत्र समर्थक चार कार्यकर्ताओं को मृत्यु दण्ड की तीखी निन्दा

म्याँमार के लिये, संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ थॉमस एण्ड्रयूज़ ने म्याँमार में सैन्य शासकों द्वारा लोकतंत्र समर्थक चार कार्यकर्ताओं को मृत्यु दण्ड दिये जाने के बाद, सोमवार को शक्तिशाली अन्तरराष्ट्रीय कार्रवाई की पुकार लगाई है. यूएन मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने भी एक वक्तव्य जारी करके कहा है कि वो ये देखकर बहुत निराश और हतोत्साहित हैं कि दुनिया भर की अपीलों के बावजूद, सैन्य नेतृत्व ने, अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार क़ानून के लिये कोई सम्मान नहीं दिखाया है.

‘श्रीलंका के आर्थिक संकट पर, वैश्विक ध्यान की दरकार’

संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार विशेषज्ञों के एक समूह ने बुधवार को अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से एक अपील में कहा है कि श्रीलंका को इस समय और ज़्यादा सहायता व समर्थन दिये जाने की आवश्यकता है क्योंकि देश आर्थिक संकटों और राजनैतिक उथल-पुथल के दौर से गुज़र रहा है.

संघर्ष में फँसे बच्चों के संरक्षण के लिये सर्वश्रेष्ठ रास्ता – शान्ति की हिमायत व प्रोत्साहन

बच्चे व सशस्त्र संघर्ष पर संयुक्त राष्ट्र की विशेष प्रतिनिधि वर्जीनिया गाम्बा ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि सशस्त्र संघर्ष की स्थितियों में बच्चों का संरक्षण सुनिश्चित करने व उनके मानवाधिकार हनन को रोकने का सर्वश्रेष्ठ रास्ता, शान्ति को प्रोत्साहन और उसकी हिमायत करना है.

फ़िलिपीन्स: नोबेल विजेता पत्रकार की सज़ा को पलटे जाने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने फ़िलिपीन्स की नवनिर्वाचित सरकार से नोबेल पुरस्कार विजेता पत्रकार मारिया रेस्सा को छह वर्ष से अधिक कारावास की सज़ा दिये जाने के फ़ैसले को पलटने का आग्रह किया है. देश की एक अदालत ने कथित मानहानि के एक मामले में उन्हें दोषी पाये जाने के निर्णय को बरक़रार रखा है, जिसकी यूएन विशेषज्ञ ने निन्दा करते हुए समीक्षा किये जाने की मांग की है.