मानवाधिकार

श्रीलंका: मानवाधिकार हनन के मामलों से निपटने के लिये सुधारों की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने श्रीलंका में "लोकतांत्रिक संस्थानों को कमज़ोर करने वाले, अल्पसंख्यकों की परेशानियाँ बढ़ाने वाले, और सुलह में बाधा डालने वाले, सैन्यीकरण एवं जातीय-धार्मिक राष्ट्रवाद की ओर निरन्तर जारी रुझान" को रेखांकित किया है.

यूक्रेन: मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों पर चिन्ता, 'अनगिनत ज़िन्दगियों पर जोखिम'

सोमवार को जिनीवा में मानवाधिकार परिषद के सत्र के दौरान भी यूक्रेन में संकट का मुद्दा छाया रहा और रूस के तथाकथित विशेष सैन्य अभियान के मुद्दे पर तत्काल चर्चा का अनुरोध किया गया. इसके बाद सदस्य देशों से इस अनुरोध पर मतदान के लिये कहा गया जिसके कारण परिषद में पूर्व-निर्धारित कामकाज को कुछ देर के लिये रोक देना पड़ा.

हमें ‘इतिहास से सबक़ सीखना होगा’, मानवाधिकार परिषद अध्यक्ष

यूक्रेन संकट गहराने और कोविड-19 महामारी का क़हर जारी रहने के बीच, संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद अपना महीने भर चलने वाला, वार्षिक सत्र सोमवार को शुरू करने की तैयारी कर रही है.

विकास वित्त में 'निवारण के अधिकार' को शामिल करना ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने बुधवार को, वाशिंगटन डीसी में, “विकास वित्त में निवारण” नामक रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि उपचार के मानवाधिकार सिद्धान्त और वास्तविक स्थिति के बीच, विकास वित्त के सन्दर्भ में, अक्सर व्यापक अन्तराल देखा गया है.

यूक्रेन: बढ़ते जोखिम पर, वरिष्ठ यूएन हस्तियों ने भी जताई चिन्ता

यूएन मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट और कुछ अन्य वरिष्ठ हस्तियों ने भी, यूक्रेन के दो पूर्वी क्षेत्रों – दोनेत्स्क और लूहान्स्क के कुछ इलाक़ों को, स्वतंत्र प्रान्तों के रूप में मान्यता देने के रूस के फ़ैसले के बाद, इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र की चिन्ता में अपनी आवाज़ शामिल की है.

म्याँमार: 'आम लोगों पर हमलों में इस्तेमाल' किये गए हथियारों पर पाबन्दी की मांग  

म्याँमार में मानवाधिकारों की स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र के विशेष रैपोर्टेयर टॉम एण्ड्रयूज़ ने मानवाधिकार परिषद के लिये अपनी एक नई रिपोर्ट में कहा है कि देश के सैन्य नेतृत्व को ऐसे हथियार मुहैया कराए जाने पर तुरन्त रोक लगानी होगी, जिनका इस्तेमाल कथित रूप से - आम लोगों के विरुद्ध हमले करने में किया गया है. रिपोर्ट के अनुसार म्याँमार को हथियार आपूर्ति करने वाले देशों में, सुरक्षा परिषद के दो स्थाई सदस्य देश भी हैं.

भारतीय महिला पत्रकार राना अय्यूब के ख़िलाफ़ तमाम हमले बन्द हों, यूएन मानवाधिकार विशेषज्ञ

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने सोमवार को एक वक्तव्य जारी करके, भारत सरकार से, एक महिला खोजी पत्रकार राना अय्यूब के ख़िलाफ़ स्त्रीद्वेष और साम्प्रदायिकता से भरे ऑनलाइन हमले तुरन्त बन्द कराने के लिये उपाय करने का आहवान किया है.

योरोपीय सीमाओं पर हिंसा विराम व शरणार्थी सुरक्षा की अपील

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) के उच्चायुक्त फिलिपो ग्रैण्डी ने योरोप में शरणार्थियों और पनाह मांगने वालों को और ज़्यादा सुरक्षा मुहैया कराने का आग्रह किया है.

यूक्रेन: संघर्ष के कारण बच्चों की एक पूरी पीढ़ी प्रभावित, यूनीसेफ़

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ ने शुक्रवार को कहा है कि यूक्रेन के पूर्वी इलाक़े में पिछले आठ वर्षों के दौरान शिशु केन्द्रों और स्कूलों पर हमले होना एक दुखद वास्तविकता है. मौजूदा संघर्ष शुरू होने के बाद से, अभी तक 750 से ज़्यादा स्कूल क्षतिग्रस्त हुए हैं.

दक्षिण सूडान में, 2020 के दौरान हिंसा के मामलों में 42 प्रतिशत की कमी

दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन - उनमिस (UNMISS) की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि देश वर्ष 2020 की तुलना में, साल 2021 में आम लोगों के ख़िलाफ हुई हिंसक घटनाओं में 42 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है.