मानवाधिकार

'नफ़रत फैलाव का मुक़ाबला करने में, शिक्षा है एक शक्तिशाली औज़ार'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरूवार को कहा है कि बढ़ते ध्रुवीकरण व असहिष्णुता से, दुनिया भर में नफ़रत को ईंधन मिल रहा है. उन्होंने इस “वैश्विक अग्नि तूफ़ान” का सामना, शिक्षा की ताक़त से करने के लिये आयोजित एक ऑनलाइन मंच का उदघाटन करते हुए ये बात कही.

डरबन सम्मेलन की 20वीं वर्षगाँठ - संगीत के ज़रिये प्रेरणा का संचार

नस्लवाद के ख़िलाफ़ ऐतिहासिक डरबन घोषणा और कार्रवाई कार्यक्रम (डीडीपीए) की 20वीं वर्षगाँठ के अवसर पर, "किंग क्लेव" नामक नई संगीत रचना, एक सुरमयी प्रेरणा प्रदान कर रही है. यह प्रस्तुति इस विश्वास पर आधारित है कि "मानवता आपस में गहराई से जुड़ी है" और "हम एक हैं."

'कोविड-19 ने दहला देने वाली विषमताओं की गहरी व चौड़ी खाई बना दी है'

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने मंगलवार को कहा है कि मौजूदा कोविड-19 महामारी ने ऐसी दिल दहला देने वाली विषमताएँ पैदा करके उन्हें जारी रखा हुआ है जिनसे, दुनिया भर में सबसे कमज़ोर हालात वाले लोग सर्वाधिक प्रभावित हैं.

यमन: युद्ध के कारण जारी, बच्चों की बेतहाशा तकलीफ़ों को रोका जाना होगा

बच्चे व सशस्त्र संघर्षों की स्थित पर, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश की विशेष प्रतिनिधि वर्जीनिया गाम्बा  की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि यमन में जारी संघर्ष में, वर्ष 2019 और 2020 के दौरान, लड़ाई तेज़ होने के कारण, लगभग 2600 बच्चे हताहत हुए हैं.

डरबन+20 का झरोखा

संयुक्त राष्ट्र महासभा, ऐतिहासिक डरबन सम्मेलन की 20वीं वर्षगाँठ के अवसर पर, बुधवार, 22 सितम्बर को एक उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन कर रही है. इस बैठक की थीम “मुआवज़ा, नस्लीय न्याय और अफ़्रीकी मूल के लोगों के लिये समानता” रखी गई है. एक नज़र ‘डरबन घोषणापत्र और कार्रवाई कार्यक्रम’ की पृष्ठभूमि पर... (वीडियो फ़ीचर)

एशियाई विरोधी नफ़रत का मुक़ाबला, रचनात्मक रूप में...

कोविड – 19 महामारी शुरू होने के बाद से, अमेरिका में, एशियाई व प्रशान्त द्वीप मूल के लोगों के ख़िलाफ़ नफ़रत के अपराधों में बढ़ोत्तरी देखी गई. इस माहौल ने चित्रकार ऐमैण्डा फ़िंगबोधिपक्किया को, ऐसी जीवन्त कलाकृतियाँ प्रस्तुत करने के लिये प्रेरित किया जिनमें एशियाई मूल के लोग मुख्य विषय हैं. न्यूयॉर्क सिटी में जगह-जगह नज़र आती कलाकृतियों और सन्देशों ने, दुनिया भर में सुर्ख़ियाँ बटोरी हैं. एक वीडियो रिपोर्ट...

म्याँमार: मानवाधिकारों की त्रासदीपूर्ण स्थिति, तत्काल कार्रवाई की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने गुरूवार को आगाह करते हुए कहा है कि म्याँमार में मौजूदा गम्भीर हालात को, पूर्ण संघर्ष में बदलने से रोकने के लिये, तत्काल ठोस कार्रवाई किये जाने के ज़रूरत है.

नस्लभेद: डरबन घोषणा पत्र के 20 वर्ष बाद भी, गूंज रही है नफ़रत

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को एक उच्चस्तरीय सम्मेलन में कहा है कि नस्लवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिये 20 वर्ष पहले एक एक ऐतिहासिक घोषणा पत्र  पारित किया गया था, लेकिन भेदभाव आज भी, हर समाज के दैनिक जीवन, संस्थानों और सामाजिक ढाँचे में जड़ें जमाए हुए  है.

'डरबन घोषणापत्र व कार्रवाई कार्यक्रम' - ऐतिहासिक सम्मेलन की 20वीं वर्षगाँठ

संयुक्त राष्ट्र महासभा, ऐतिहासिक डरबन सम्मेलन की 20वीं वर्षगाँठ के अवसर पर, बुधवार, 22 सितम्बर को एक उच्चस्तरीय बैठक का आयोजन कर रही है. इस बैठक की थीम “मुआवज़ा, नस्लीय न्याय और अफ़्रीकी मूल के लोगों के लिये समानता” रखी गई है. एक नज़र ‘डरबन घोषणापत्र और कार्रवाई कार्यक्रम’ की पृष्ठभूमि पर... 

यहूदी-विरोधी भावना के ख़िलाफ़ संघर्ष

अमेरिका का एक यहूदी परिवार, जो एक यहूदी-विरोधी नरसंहार से उबरने की कोशिश कर रहा है. वीडियो फ़ीचर...