मानवाधिकार

मानवाधिकार दिवस: युवाओं की सक्रियता व ऊर्जा पर ध्यान

संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2019 के मानवाधिकार दिवस के मौक़े पर ख़ासतौर से युवाओं की सक्रियता व ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करते हुए सभी लोगों के लिए एक बेहतर भविष्य के निर्माण की दिशा में युवाओं की भूमिका को रेखांकित किया है.  मानवाधिकार दिवस हर वर्ष 10 दिसंबर को मनाया जाता है.

मानवाधिकार दिवस: युवाओं पर है ध्यान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 2019 के मानवाधिकार दिवस पर जीवन में मानवाधिकार सुनिश्चित करने में युवाओं की भूमिका को रेखांकित किया है.  उन्होंने कहा है...

विकलांगों के समावेशन के लिए तेज़ कार्रवाई की दरकार

संयुक्त राष्ट्र उपमहासचिव आमिना जे मोहम्मद ने कहा है कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने विकलांग लोगों के अधिकार सुनिश्चित करने के इरादे से अभूतपूर्व फ़्रेमवर्क पर सहमति बनाई है. लेकिन महत्वाकांक्षा और यथार्थ में अब भी एक बड़ा फ़ासला है और लाखों विकलांगों को अब भी रोज़मर्रा के जीवन में कड़वी सच्चाई का सामना करना पड़ता है.  यूएन उपप्रमुख ने शनिवार को क़तर की राजधानी दोहा में विकलांगता और विकास के विषय पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए यह बात कही.

ईरान: प्रदर्शनकारियों पर अत्यधिक बल प्रयोग पर गहरी चिंता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने ईरान में हाल ही में विरोध-प्रदर्शनों में बड़ी संख्या में मौतें होने, हज़ारों लोगों को मनमाने ढंग से हिरासत में लिए जाने और मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों पर गहरी चिंता ज़ाहिर की है. उन्होंने ईरान सरकार से अपील की है कि जनता की अभिव्यक्ति की आज़ादी और उनके शांतिपूर्ण ढंग से एकत्र होने के अधिकार का सम्मान होना चाहिए.

इराक़: प्रदर्शनकारियों की लगातार मौतों पर गहरी चिंता

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इराक़ में प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ गोली-बारूद इस्तेमाल किए जाने पर गंभीर चिंता जताई है. उन्होंने कहा कि इन कारणों से दक्षिणी शहर नसीरिया में हताहतों की संख्या बढ़ी है.

भोपाल त्रासदी: रसायन उद्योग जगत को ‘मानवाधिकारों का सम्मान करना होगा’

संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने भारत में भोपाल गैस त्रासदी के 35 साल पूरे होने पर रसायन निर्माताओं से अपनी ज़िम्मेदारी समझने और मानवाधिकारों का सम्मान करने की अपील की है. यूएन के विशेष रैपोर्टेयर बास्कुट तुनचक ने कहा है स्वैच्छिक मानवाधिकार मानकों को अपनाने की प्रक्रिया में कमज़ोरियां नीहित हैं और इसलिए मज़बूत क़ानूनी विकल्पों की तत्काल आवश्यकता है.

गन्दगी साफ़ करने का अदम्य साहस

अनेक देशों में अब भी मानव मल व कचरा साफ़ करने के लिए स्वच्छता कर्मचारियों की ही सेवाएँ ली जाती हैं. ये कम लोग ही जानते हैं कि ये काम कितना जोखिम भरा है. कई बार तो स्वच्छता कर्मचारियों की मौत भी हो जाती है. और समाज में उनकी इस महत्वपूर्ण सेवा और बुनियादी कार्य को हिकारत की नज़र से देखा जाता है, ये तो किसी से छुपा नहीं है. ऐसे ही कुछ स्वच्छता कर्मचारियों की कहानी...

यौन हिंसा: कला के ज़रिए तकलीफ़ों की दास्तान

दुनिया भर में करोड़ों महिलाएँ और लड़कियाँ यौन हिंसा का शिकार होती हैं और भयावह तकलीफ़ में जीवन जीती हैं. यौन हिंसा अब भी युद्ध के एक हथियार के तौर पर इस्तेमाल की जाती है. यौन हिंसा के दंश की तकलीफ़ को बयाँ करती एक प्रदर्शनी. प्रस्तुति शिवानी काला...

युवाओं पर आतंकवाद निरोधक कार्रवाई की भारी गाज़, लाखों हैं हिरासत में

मानवाधिकार विशेषज्ञों का कहना है दुनिया भर में क़रीब 72 लाख से अधिक बच्चे हिरासत में रखे गए हैं. इनमें ऐसे युवाओं की भी बड़ी संख्या जिन्हें सशस्त्र गुटों से संबंध रखने के आरोप और उनकी सोशल मीडिया पोस्ट के आधार पर राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए ख़तरा होने की दलील देते हुए आक्रामक आतंकवाद निरोधक उपायों के तहत हिरासत में लिया गया है.

इसराइली बस्तियाँ अंतरराष्ट्रीय क़ानून का 'घोर उल्लंघन' हैं - यूएन दूत

किसी देश का अपनी राष्ट्रीय नीति के तहत कुछ भी कहना हो, इसराइल द्वारा क़ब्ज़ा किए हुए फ़लस्तीनी क्षेत्रों में इसराइली बस्तियाँ बसाया जाना 'अंतरराष्ट्रीय क़ानून के तहत घोर उल्लंघन' है. मध्य पूर्व शांति प्रक्रिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष संयोजक निकोलय म्लदेनॉफ़ ने बुधवार को सुरक्षा परिषद में ये बात कही.