मानवाधिकार

भारत से जम्मू कश्मीर में चिन्ताजनक मानवाधिकार स्थिति का तत्काल हल निकालने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने भारत सरकार और अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से जम्मू कश्मीर में आम आबादी के मानवाधिकारों का उल्लंघन जारी रहने की स्थिति पर ध्यान देने के लिये तुरन्त कार्रवाई करने का आग्रह किया है. इन मानवाधिकार विशेषज्ञों ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा ख़त्म किये जाने का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर ये पुकार लगाई है.

मानवाधिकार सन्धि संस्थाओं के कामकाज पर मँडराता ‘जोखिम’

अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार सन्धियों के क्रियान्वयन की निगरानी करने वाली संयुक्त राष्ट्र समितियों के प्रमुखों ने सदस्य देशों से उनके कामकाज को समर्थन देने की अपील की है. साथ ही उन्होंने एक चेतावनी जारी की है कि इस वर्ष वित्तीय संसाधन उपलब्ध ना कराए जाने के कारण सितम्बर के बाद आगामी समीक्षा बैठकों पर असर पड़ने की आशंका है.