मानवाधिकार

मध्य पूर्व के लिए अमरीकी योजना ‘असंतुलित व एकतरफ़ा’

संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने कहा है कि अमरीका द्वारा दशकों से चले आ रहे इसराइल-फ़लस्तीन संघर्ष के समाधान के लिए इस सप्ताह पेश की गई योजना असंतुलित व एकतरफ़ा है और ये योजना फ़लस्तीनी क्षेत्रों पर इसराइली क़ब्ज़े को और ज़्यादा मज़बूती देगी.

इराक़: तुरंत समाधान की सख़्त ज़रूरत

इराक़ में संयुक्त राष्ट्र की विशेष प्रतिनिधि जैनीन हेनिस प्लासशर्ट ने देश में सरकार विरोध प्रदर्शनों, हताहतों की बढ़ती संख्या और ज़्यादा बड़े पैमाने पर प्रदर्शन होने की संभावनाओं के बीच राजनेताओं से आग्रह किया है कि वो इस गतिरोध को तोड़ें और टिकाऊ सुधार सुनिश्चित करें.

इराक़: दाएश लड़ाकों के मुक़दमों की निष्पक्षता पर सवाल

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि दाएश संगठन के पूर्व आतंकवादी लड़ाकों को न्याय के कटघरे में लाने के लिए इराक़ी प्रशासन ने काफ़ी प्रयास किए हैं लेकिन अदालती प्रक्रिया की निष्पक्षता पर गंभीर चिंताएँ बरक़रार हैं. इराक़ में यूएन मिशन (UNAMI) और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय (OHCHR) द्वारा साझा रूप से तैयार इस रिपोर्ट के मुताबिक़ निष्पक्ष ढंग से मुक़दमे की कार्यवाही के लिए निर्धारित बुनियादी मानकों का पालन नहीं किया गया.

हॉलोकॉस्ट जैसी घटना फिर ना हो, 'इतिहास से सबक़ ज़रूरी'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि बढ़ती नफ़रत और यहूदी-विरोधी हमलों में तेज़ी के इस दौर में दुनिया को इतिहास से सबक़ लेना होगा ताकि यहूदी जनसंहार – हॉलोकॉस्ट – जैसी भयवाह घटना फिर ना दोहराई जा सके. यूएन प्रमुख ने पोलैंड में आउशवित्ज़-बर्केनाउ यातना शिविर को मुक्त कराए जाने के 75 साल पूरे होने और 60 लाख से ज़्यादा यहूदियों और अन्य लोगों के जनसंहार की याद में न्यूयॉर्क में आयोजित एक स्मरण समारोह को संबोधित करते हुए यह बात कही.

लीबिया: हिरासत केंद्र पर हवाई बमबारी की जांच की मांग

संयुक्त राष्ट्र ने लीबिया में जारी हिंसा में शामिल सभी पक्षों और उन्हें समर्थन दे रही विदेशी सरकारों से जुलाई 2019 में हवाई बमबारी की घटना की जांच कराने का आग्रह किया है. जुलाई 2020 में देश के पश्चिमोत्तर क्षेत्र में स्थित एक हिरासत केंद्र पर हवाई बमबारी में 53 शरणार्थियों व प्रवासियों की मौत हो गई थी. लीबिया में यूएन मिशन के प्रमुख ने इस घटना को हवाई ताक़त के इस्तेमाल का एक त्रासदीपूर्ण उदाहरण क़रार दिया.

यहूदीवाद-विरोध और नफ़रत से लड़ाई में ‘आपसी एकजुटता अहम’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने विश्व भर में यहूदी समुदाय, संस्थाओं और प्रतिष्ठानों पर बढ़ते हमलों की पृष्ठभूमि में आगाह किया है कि यहूदियों के प्रति नफ़रत एक वैश्विक संकट का आकार ले रही है. इस चुनौती से निपटने के लिए उन्होंने यहूदी जनसंहार (हॉलोकॉस्ट) से सबक लेने और आपसी एकजुटता की अहमियत पर बल दिया है. 
 

रोहिंज्या मामले पर आईसीजे का म्याँमार को 'अस्थाई आदेश'

संयुक्त राष्ट्र अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) ने  म्याँमार से देश में अल्पसंख्यक रोहिंज्या समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव क़दम उठाने को कहा है.  कोर्ट ने गुरूवार को एक 'अस्थाई आदेश' जारी करके जनसंहार के अपराधों से संबंधित तथ्यों को नष्ट होने से बचाने की व्यवस्था करने का भी आग्रह किया. उन उपायों के बारे में पहली रिपोर्ट चार महीने के भीतर और फिर इस मामले में कोर्ट का अंतिम फ़ैसला आने तक हर छह महीने में रिपोर्ट जारी करके इन उपायों का ब्यौरा कोर्ट को देने का भी आदेश दिया गया है...

म्याँमार: रोहिंज्या व लोकतांत्रिक बदलावों के लिए उम्मीद बची है

संयुक्त राष्ट्र की एक स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञ यैंगही ली ने कहा है कि म्याँमार को अलबत्ता संभवतः जनसंहार के अपराधों सहित अंतरराष्ट्रीय अपराधों के “गंभीर आरोपों” का समाधान निकालना है, फिर भी उन्होंने देश में लोकतांत्रिक परिवर्तन के लिए अभी उम्मीद नहीं छोड़ी है. इन आरोपों में संभावित जनसंहार के आरोप भी शामिल हैं.  

रोहिंज्या: म्याँमार को समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आदेश

संयुक्त राष्ट्र की क़ानूनी संस्था अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (ICJ) ने  म्याँमार से देश में अल्पसंख्यक रोहिंज्या समुदाय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव क़दम उठाने को कहा है.  कोर्ट ने गुरूवार को एक 'अस्थाई आदेश' जारी करके जनसंहार के अपराधों से संबंधित तथ्यों को नष्ट होने से बचाने की व्यवस्था करने का भी आग्रह किया है.

ऐमेज़ॉन सीईओ के फ़ोन हैकिंग मामले की जांच की मांग

संयुक्त राष्ट्र के दो स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने ‘द वॉशिंगटन पोस्ट’ अख़बार के मालिक जैफ़ बेज़ोस के आईफ़ोन को हैक किए जाने के आरोपों पर गहरी चिंता जताई है. रिपोर्टों के मुताबिक़ हैकिंग के लिए सऊदी युवराज मोहम्मद बिन सलमान के व्हॉट्सएप अकाउंट का इस्तेमाल किया गया. यूएन विशेषज्ञों ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए अमेरिका में स्थानीय प्रशासन द्वारा जांच कराए जाने की अपील की है.