स्वास्थ्य

ईबोला प्रभावित इलाक़े में खसरा टीकाकरण अभियान

कॉंगो लोकतांत्रिक गणराज्य के पूर्वोत्तर हिस्से में स्वास्थ्यकर्मियों ने बड़े पैमाने पर खसरा टीकाकरण अभियान शुरू किया है. यह वही क्षेत्र है जिसे घातक ईबोला वायरस ने अपनी जकड़ में ले रखा है और दूसरी बार इतने बड़े पैमाने पर यह बीमारी फैलने से अब तक डेढ़ हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. 2019 में बड़ी संख्या में खसरा के मामले भी सामने आए हैं. 

कैंसर से लड़ने वाली अभूतपूर्व दवाएं आवश्यक दवाओं की सूची में शामिल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आवश्यक दवाओं की सूची में अनेक नई दवाओं को शामिल करने की घोषणा की है – जिसके बाद ये दवाएं हर देश में उपलब्ध होनी चाहिए. इस सूची में नए कैंसर उपचार भी शामिल हैं जिन्हें इंजेक्शन के ज़रिए लेने की बजाय आसानी से गोली के रूप में निगला जा सकता है.

स्वाइन फ़ीवर के पैर पसारने से छोटे किसानों की मुश्किलें बढ़ी

संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (UNFAO) के अनुसार पूर्वी और दक्षिणपूर्वी एशिया के देशों में अफ़्रीकन स्वाइन बुखार तेज़ी से फैल रहा है जिससे लाखों घरों के लिए खाद्य सुरक्षा और आजीविका का संकट खड़ा हो गया है. इस क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोग भोजन और आय के लिए सुअर पालन पर निर्भर हैं.

मेडागास्कर के ग्रामीणों ने ‘खुले में शौच’ के ख़तरों को समझा

ग्रामीणों के साथ चर्चा तड़के से ही शुरू हो जाती है.  स्वयंसेवकों को चॉक से ज़मीन पर अपने गांव का नक्शा तैयार करने को कहा जाता है. एक महिला के स्कैच से पता चला कि उस गाँव में 17 परिवारों के 65 लोग कुल 11 लाल मिट्टी के घरों में रहते हैं. वह बताती हैं कि वे सभी लोग केवल तीन शौचालयों से काम चलाते हैं, जो वहां काफी समय से हैं.

आंखों की संक्रामक बीमारी ट्रेकोमा पर क़ाबू पाने में बड़ी सफलता

विश्व स्तर पर दृष्टिहीनता का प्रमुख कारण ट्रेकोमा संक्रमण का जोखिम झेल रहे लोगों की संख्या में 17 वर्षों में 91 फ़ीसदी की गिरावट हुई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार 2002 में 1.5 अरब लोग ट्रेकोमा संक्रमण के ख़तरे का सामना कर रहे थे लेकिन 2019 में यह संख्या घटकर 14 करोड़ पर आ गई है. 

जलवायु परिवर्तन के समाधान में योग से मिल सकती है मदद

संयुक्त राष्ट्र उपमहासचिव अमीना मोहम्मद ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन से उपजते ख़तरों से निपटने में योग और उससे प्रेरित टिकाऊ जीवनशैली की अहम भूमिका है. अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर गुरुवार को न्यूयॉर्क में यूएन महासभा में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि योग के ज़रिए जीवन, समाज और प्रकृति के साथ समरसता स्थापित करने में मदद मिलती है. 

ग़रीब देशों में मिर्गी पीड़ितों के लिए समुचित इलाज का अभाव

विकासशील देशों में एपिलेप्सी यानी मिर्गी से पीड़ित हर 10 में से सात व्यक्तियों को ज़रूरी स्वास्थ्य सेवाएं और देखरेख उपलब्ध नहीं हो पा रही है जबकि इसका इलाज महंगा नहीं है. इस वजह से ऐसे देशों में पीड़ितों की मौत होने की आशंका विकसित देशों की तुलना में बढ़ जाती है. मिर्गी की समस्या पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की ओर से जारी की गई यह पहली वैश्विक रिपोर्ट है.

यमन में माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ढहने के कगार पर

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) का कहना है कि यमन में चार साल से जारी हिंसा के चलते माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त होने के कगार पर हैं. एक रिपोर्ट में यूनीसेफ़ ने युद्धग्रस्त क्षेत्रों में प्रसव के दौरान और बच्चों के लालन-पोषण में आने वाली मुश्किलों को रेखांकित किया है.

रंगहीनता वाले लोगों को चाहिए सामान्य बर्ताव

एल्बीनिज़म यानी रंगहीनता की स्थिति वाले लोगों को अपने जीवन में बहुत से अवरोधों और चुनौतियों का सामना करना पड़ता है जिससे उनके मानवाधिकार कमज़ोर होते हैं. अंतरराष्ट्रीय एल्बीनिज़्म यानी रंगहीनता जागरूकता दिवस इस स्थिति वाले लोगों को पहचानने, उनके साथ एकजुटता दिखाने और उनके लिए समर्थन जुटाने का एक अवसर है.

यूगांडा में ईबोला वायरस से दूसरी मौत के बाद यूएन एजेंसियां सतर्क

यूगांडा में ईबोला वायरस से दो लोगों की मौत होने के बाद संयुक्त राष्ट्र की मानवीय राहत एजेंसियां स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए सरकार के साथ मिलकर काम कर रही हैं.  पड़ोसी देश काँगो लोकतांत्रिक गणराज्य में पहले से ही बड़े पैमाने पर ईबोला फैला हुआ है और अब यूगांडा में भी इसके मामले सामने आए हैं.