स्वास्थ्य

सौर ऊर्जा से स्वास्थ्य सेवाओं को मिली मज़बूती

दुनिया के कई इलाक़े ऐसे हैं जहां बिजली सेवा या तो अभी नहीं पहुंची है या फिर उसकी निर्बाध आपूर्ति अब भी एक सपना है. लेकिन अफ़्रीका में कई देशों में स्थानीय चिकित्सा केंद्र अब एक ऐसी योजना का लाभ उठा रहे हैं जिसमें उन्हें सोलर पैनल के ज़रिए बिजली मिल रही है. 

साल के पहले दिन पैदा होंगे तीन लाख से ज़्यादा बच्चे: यूनिसेफ़

​संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनिसेफ़) के एक अनुमान के अनुसार साल 2019 के पहले दिन दुनिया में 395,072 बच्चों को जन्म होगा. इनमें से एक करीब एक-चौथाई बच्चे दक्षिण एशिया में पैदा होंगे. पैदा होने के तुरंत बाद  होने वाली मौतें चिंता का कारण बनी हुई हैं जिसके प्रति यूनिसेफ़ ने आगाह किया है. 

ख़त्म हो रहा है एंटीबॉयोटिक्स दवाओं का असर

अगर इंसानों की आदतों और तथ्यों पर ग़ौर करें तो ये कोई चौंकाने वाली बात नहीं होगी. 21वीं सदी के आधा पूरा होने तक एशिया में ऐसे हालात पैदा हो सकते हैं कि हर साल क़रीब पचास लाख लोगों की मौत एंटीबॉयोटिक्स दवाओं के बेअसर होने की वजह से होने लगेगी.

मानसिक स्वास्थ्य क्यों बन रहा है चुनौती

दुनिया भर में किशोर उम्र के लड़के-लड़कियों में हर पाँच में से एक को मानसिक स्वास्थ्य सम्बन्धी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है लेकिन फिक्र की बात ये है कि ज़्यादातर मामलों का चिकित्सा के दायरे में पता ही नहीं चलता और बहुत से मामलों का कोई इलाज नहीं हो पाता है.

अरबों लोग अब भी टॉयलेट से वंचित

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतॉनियो गुटेरेश ने कहा है कि दुनिया भर में अब भी क़रीब दो अरब 30 करोड़ लोगों को बुनियादी स्‍वच्‍छता सुविधाएं सुलभ नहीं हैं और स्वच्छता को एजेंडा 2030 के तहत प्राथमिकता बनाया जाना ज़रूरी है.